जितिया व्रत शुरू करने से पहले खाई जाती है मछली और रागी की रोटी, डायटीशियन से जानें इसके फायदे

जितिया व्रत शुरू करने से पहले रागी की रोगी खाने की परंपरा है। चलिए जानते हैं इससे सेहत को होने वाले फायदे  

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Sep 27, 2021
जितिया व्रत शुरू करने से पहले खाई जाती है मछली और रागी की रोटी, डायटीशियन से जानें इसके फायदे

संतान के सुख के लिए कई महिलाएं जितिया व्रत  (jitiya 2021) करती हैं। इस व्रत की शुरुआत नहाय-खाय से होती है, जिसके नियम हर एक क्षेत्रों में अलग-अलग होता है। बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में जितिया व्रत को शुरू करने से 1 दिन पहले रागी की रोटी और मछली खाने की परंपरा है। इसके अगले दिन महिलाएं निर्जला व्रत करती हैं। इस व्रत को काफी कठिन माना जाता है। डायट मंत्रा क्लीनिक की  डायटीशियन कामिनी सिंहा का कहना है कि जितिया व्रत शुरू करने से पहले रागी की रोटी, मछली, गुड़ और दही खाने की परंपरा है। उनका कहना है कि रागी में आयरन (Iron Source) की अधिकता होती है, तो एनर्जी को बढ़ाने में आपकी मदद कर सकती है। इसके अलावा इसमें फाइबर मौजूद होता है, जिससे आपके शरीर को लंबे समय तक एनर्जी मिलती है। ऐसे में महिलाओं को लंबे समय तक भूखा रहने की शक्ति मिलती है। वहीं, मछली की बात की जाए, तो यह ओमेरा फैटी एसिड (Fatty Acid) से भरपूर होता है, जो व्रत में होने वाले तनाव से मुक्त रखता है। चलिए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में-

व्रत से पहले रागी की रोटी खाने के फायदे

व्रत का तनाव होता है कम

डायीटिशियन कामिनी सिंहा का कहना है कि निर्जला व्रत के दौरान कुछ महिलाओं को काफी ज्यादा तनाव होता है। उन्हें इस बात का डर बना होता है कि उनका व्रत सफल होगा कैसे होगा। कहीं, उन्हें कुछ समस्या न हो जाए। किसी कारण से व्रत न टूट जाए। ऐसे स्थिति में रागी की रोटी आपके लिए काफी लाभकारी हो सकती है। दरअसल, रागी में भरपूर रूप से एंटी-ऑक्सीडेंट मौजूद होता है, जो तनाव को कम करने में आपकी मदद करता है। इससे एंग्जायटी और डिप्रेशन को कम किया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें - शरीर में हैप्पी हार्मोंस बढ़ाने के लिए अपनाएं डायटीशियन स्वाति बाथवाल के बताए ये 5 तरीके

लंबे समय तक भरा रहता है पेट

रागी में डायटरी फाइबर होता है, जो तुरंत डायजेस्ट नहीं होता है। जिसकी वजह से कई घंटों तक आपका पेट भरा रहता है। ऐसे में व्रत शुरू करने से पहले इसका सेवन करने से आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगती है।

शरीर में बनी रहती है उर्जा 

कामिनी सिंहा बताती हैं कि रागी आयरन का अच्छा सोर्स होता है। इसके सेवन से आपका ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होता है। अगर आप व्रत से पहले रागी की रोटी का सेवन करते हैं, तो इससे आपका शरीर एनर्जी से भरपूर होता है। साथ ही शरीर में अन्य पोषक तत्वों की कमी महसूस नहीं होती है। 

व्रत से पहले मछली खाने के फायदे

डायटीशियन कामिनी बताती हैं कि कुछ क्षेत्रों में रागी की रोटी के साथ मछली खाने की परंपरा होती है। मछली प्रोटीन और सोडियम का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। व्रत से पहले मछली का सेवन करने से पहले शरीर में प्रोटीन की कमी नहीं होती है। साथ ही सोडियम आपको डिहाइड्रेशन से बचाने में आपकी मदद करता है। इसके अलावा मछली खाने के कुछ अन्य फायदे भी हो सकते हैं-

इम्यूनिटी को करे बूस्ट

व्रत शुरू करने से पहले रागी की रोटी के साथ मछली का सेवन किया जाता है। मछली में विटामिन ए भरपूर रूप से होता है, जो इम्यूनिटी बूस्ट करने में मददगार होता है। व्रत करने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण इम्यूनिटी कमजोर (Immunity Booster Food) होने की संभावना होती है। ऐसे में आप अगर व्रत शुरू करने से पहले मछली का सेवन करते हैं, तो आपकी इम्यूनिटी मजबूत हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें - चिकनगुनिया होने पर इन 6 आहारों के सेवन से जल्द मिलेगा आराम, जानें इनसे मिलने वाले फायदे

वॉटर को शरीर में करता है स्टोर

डायटीशियन बताती हैं कि रागी की रोटी में वॉटर को अब्शॉर्व करने की क्षमता होती है। जिससे शरीर में पानी होल्ड रहता है। ऐसे में जब आप निर्जला व्रत करते हैं, तो आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होती है।

व्रत में होने वाले डिप्रेशन को करे कम

व्रत में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जिससे आपका मस्तिष्क स्वस्थ रहता है। मछली के सेवन से डिप्रेशन, तनाव को कंट्रोल किया जा सकता है। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट भरपूर रूप से होता है, जो फ्री रेडिकल्स से लड़कर ऑस्किडेटिव स्ट्रेस को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। 

ब्लड प्रेशर को करे कंट्रोल

निर्जला व्रत के दौरान ब्लड प्रेशर में उतार-चढ़ाव की संभावना बनी रहती है। ऐसे में अगर आप व्रत शुरू करने से पहले मछली का सेवन करने हैं, तो ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रह सकता है।  मछली में मौजूद सोडियम आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ता है। दरअसल, व्रत में कुछ भी न खाने से बीपी लो हो सकता है। इस स्थिति में अगर आप व्रत को शुरू करने से पहले मछली का सेवन करते हैं, तो यह लो ब्लड प्रेशर को सुधारने में आपकी मदद कर सकता है।

डिहाइड्रेशन से करे बचाव

जितिया व्रत निर्जाला होता है। इस व्रत में कई महिलाएं 24 घंटे तक पानी नहीं पीती हैं। वहीं, कुछ क्षेत्रों में इससे अधिक वक्त तक पानी नहीं पिया जाता है। इस स्थिति में डिहाइड्रेशन की शिकायत हो सकती है। व्रत को शुरू करने से पहले मछली खाने से आपके शरीर को सोडियम मिलता है। सोडियम आपके शरीर में डिहाड्रेशन को रोकने में मददगार हो सकती है। इसलिए अगर आप नॉनवेज खाते हैं, तो व्रत को शुरू करने से पहले इसका सेवन जरूर करें। 

गुड़ और दही खाने कसे होने वाले फायदे 

डायटीशियन बताती हैं कि जितिया व्रत को शुरू करने से पहले गुड़ और दही खाने की भी परंपरा है। दरअसल, गुड़ में आयरन की अधिकता होती है। वहीं, दही कैल्शियम और प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। प्रोटीन का डायजेशन काफी ज्यादा स्लो होता है। ऐसी स्थिति में जब आप व्रत से पहले दही खाते हैं, तो यह शरीर में लेट डायजेस्ट होता है। जिससे आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगती है। साथ ही प्रोटीन और कैल्शियम से आपके शरीर की एनर्जी लंबे समय तक बनी रहती है। 

ध्यान रखें कि निर्जला व्रत करने से आपके शरीर में कई परेशानियां हो सकती हैं। इसलिए अगर आपको कोई गंभीर समस्या है, तो व्रत शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। वहीं, अगर आप गर्भवती हैं, तो निर्जला व्रत न करना ही आपके लिए बेहतर हो सकता है। क्योंकि इससे आपके साथ-साथ आपके बच्चे को भी परेशानी हो सकती है।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

Tags