क्या प्रेगनेंसी में दालचीनी का सेवन सुरक्षित है? डॉक्टर से जानें इसके सेवन के फायदे, नुकसान और सावधानियां

दालचीनी फायदों से भरपूर होते है और कई समस्याओं को ठीक करने का आसान घरेलू नुस्खा है। लेकिन क्या प्रेगनेंसी में दालचीनी का सेवन करना चाहिए?

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Aug 30, 2021 00:00 IST
क्या प्रेगनेंसी में दालचीनी का सेवन सुरक्षित है? डॉक्टर से जानें इसके सेवन के फायदे, नुकसान और सावधानियां

दालचीनी (Cinnamon) एक ऐसा मसाला (Spice) है जिसमें एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidants), एंटी इंफ्लेमेटरी (Anti Inflammatory) और एंटीडायबिटिक ( Antidiabetic) गुण होते हैं। यह किसी भी रेसिपी का फ्लेवर और खुशबू बढ़ा देती है। लेकिन इतने सारे लाभ होने के बावजूद भी क्या आप प्रेग्नेंसी के दौरान इसे अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं? क्या इसका सेवन करना सुरक्षित होता है? जी हां, कोलंबिया एशिया अस्पताल की आहार विशेषज्ञ डॉक्टर शालिनी गार्विन ब्लिस के मुताबिक अगर आप सीमित मात्रा में दालचीनी (Cinnamon) का सेवन करती हैं तो यह प्रेग्नेंसी (Pregnancy) के दौरान भी आपके लिए सुरक्षित है। उदाहरण के तौर पर आप किसी ड्रिंक में इसका प्रयोग करके उसका फ्लेवर और सुगंध बढ़ा सकती हैं। लेकिन अगर आप इसका सेवन अधिक मात्रा में करेंगी तो इससे आप को बहुत सारे साइड इफेक्ट्स(Side Effects) भी देखने को मिल सकते हैं।

 

कितनी मात्रा में आपको दालचीनी का करें सेवन (How Much Cinnamon Is Safe)

एक दिन में आप के लिए 1 से 6 ग्राम तक दालचीनी खाना सुरक्षित होता है। लेकिन यह मात्रा साधारण व्यक्ति के लिए है। प्रेग्नेंसी में महिलाओं के लिए अलग से इसकी मात्रा तय नहीं की गई है। हालांकि आपको इससे कम मात्रा का सेवन करना ही सुझाया जाता है। इसलिए एक्सपर्ट के अनुसार आधा ग्राम से ज्यादा दालचीनी (Cinnamon) का सेवन न करें। साथ ही इसके सेवन से पहले डॉक्टर की राय जरूर लें।

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी में वजाइना से यलो डिस्चार्ज (पीला चिपचिपा पानी) आने के कारण और बचाव के उपाय

गर्भावस्था में दालचीनी के सेवन से मिलने वाले स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits of Cinnamon)

1 - गेस्टेशनल डायबिटीज से बचाती है

बहुत सी स्टडीज ने यह माना है कि अगर प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं दालचीनी (Cinnamon) का सेवन करती हैं तो वह इस प्रकार की डायबिटीज से खुद को बचा सकती हैं।

2 - ब्लड प्रेशर कंट्रोल होता है

प्रेग्नेंसी के दौरान आम तौर पर महिलाओं का बीपी हाई ही रहता है। अगर आप अपना बीपी नियमित करना चाहती हैं तो आप दालचीनी (Cinnamon) का सेवन कर सकती हैं।

3 - जी मिचलाना नियंत्रित होता है

जी मिचलाना और उल्टियां आना प्रेग्नेंसी के दौरान सबसे अधिक कॉमन लक्षण होता है। दालचीनी (Cinnamon) में कुछ ऐसे गुण होते हैं। जिनकी वजह से आप इन दोनों ही लक्षणों से बच सकती हैं। इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान दालचीनी का सेवन जरूर करें लेकिन कम मात्रा में।

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी के दौरान छाछ पीने के फायदे, नुकसान और जरूरी सावधानियां

दालचीनी का सेवन प्रेग्नेंसी में किस प्रकार कर सकती हैं (Ways To Use Cinnamon)

  1. आप दालचीनी (Cinnamon) को चाय में मिला कर पी सकती हैं।
  2. किसी भी डेजर्ट या बेक होने वाले पदार्थ में एक चुटकी भर दालचीनी का पाउडर मिला  कर ले सकती हैं।
  3. अगर आपको कोई डिश खाने का मन नहीं कर रहा है तो उसका फ्लेवर और खुशबू बढ़ाने के लिए इसका प्रयोग कर सकती हैं।

 

दालचीनी के सेवन के दौरान सावधानियां (Preventions While Using Cinnamon)

  1. दालचीनी के अधिक सेवन से जलन की परेशानी हो सकती है।
  2. गर्भस्थ शिशु तक टॉक्सिक पदार्थ पास हो सकते हैं।
  3. अगर मिसकैरेज का आप को खतरा है तो इसका सेवन बिल्कुल न करें।
  4. अगर आपको किसी प्रकार की एलर्जी है तो भी इसके प्रयोग से बचें।
  5. यदि आपको प्रेगनेंसी से संबंधित कुछ परेशानियां हैं उस केस में भी दालचीनी का सेवन न करें।
  6. किसी भी प्रकार की संभावित खतरे से बचने के लिए अच्छी क्वालिटी का दालचीनी खरीदें।
  7. चीनी के सेवन को लेकर किसी भी प्रकार का संशय है तो पहले डॉक्टर से बात करें।

गर्भावस्था में दालचीनी के सेवन के साइड इफेक्ट (Side Effects Of Cinnamon)

  • अगर आप अधिक मात्रा में इसका सेवन कर लेती हैं तो गर्भाशय के संकुचन की समस्या हो सकती हैं जिसकी वजह से आपको समय से पहले बच्चे को जन्म देना पड़ सकता है।
  • अधिक मात्रा में सेवन करने से आपको हृदय रोगों और डायबिटीज का खतरा भी हो सकता है।
  • दालचीनी के सप्लीमेंट लेने से भी बचें क्योंकि इसकी वजह से अत्यधिक पसीना पेट की परेशानी हृदय गति में बढ़ोतरी और ब्लड शुगर लेवल गिर सकता है।

नोट - गर्भावस्था में थोड़ा बहुत दालचीनी का सेवन ठीक है लेकिन जरा सी भी समस्या लगने पर इसका प्रयोग तुरंत बंद कर दें और हो सके तो डॉक्टर से सलाह लें।

Read More Articles on women health in hindi

Disclaimer