Doctor Verified

पीर‍ियड्स में इंटीमेट वॉश का इस्‍तेमाल क‍ितना सही है? जानें डॉक्‍टर से

Menstrual Hygiene: पीर‍ियड्स में वजाइना को साफ करने के ल‍िए कई मह‍िलाएं इंटीमेट वॉश का इस्‍तेमाल करती हैं। क्‍या वो सही है? डॉक्‍टर से जानें जवाब।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Oct 18, 2022 11:12 IST
पीर‍ियड्स में इंटीमेट वॉश का इस्‍तेमाल क‍ितना सही है? जानें डॉक्‍टर से

Vaginal Hygiene: वजाइनल एर‍िया को साफ करने के ल‍िए बाजार में म‍िलने वाले इंटीमेट वॉश का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। साबुन के मुकाबले ये ज्‍यादा सुरक्ष‍ित होते हैं क्‍योंक‍ि इनमें पाए जाने वाले केम‍िकल्‍स साबुन से कम नुकसानदायक होते हैं। आम द‍िनों में इंटीमेट वॉश का इस्‍तेमाल करने से शायद कोई समस्‍या न होती हो। लेक‍िन पीर‍ियड्स का समय नाजुक होता है। इस दौरान इंटीमेट वॉश का इस्‍तेमाल वजाइनल हेल्‍थ के ल‍िए सही है या नहीं? इसका जवाब हम आगे जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।       

vaginal health in hindi

पीर‍ियड्स में वजाइना को इंटीमेट वॉश से साफ करना सही है?   

पीर‍ियड्स में वजाइना को साफ करने के ल‍िए इंटीमेट वॉश का इस्‍तेमाल सही नहीं है। साबुन के इस्‍तेमाल से भी वजाइना में खुजली  हो सकती है। इंटीमेट वॉश या साबुन में केम‍िकल्‍स मौजूद होते हैं। इन केम‍िकल्‍स के कारण वजाइना का पीएच स्‍तर ब‍िगड़ सकता है। त्‍वचा का पीएच स्‍तर करीब 5.5 होता है। वजाइना का पीएच स्‍तर 3.5 और 4.5 के बीच होता है। पीएच स्‍तर ब‍िगड़ने से संक्रमण हो सकता है। लेक‍िन आपको बता दें क‍ि इंट‍िमेट वॉश या साबुन का इस्‍तेमाल न करना भी परेशानी का कारण बन सकता है। पीर‍ियड्स में रक्तस्‍त्राव के कारण- च‍िपच‍िपाहट, जलन और बदबू महसूस होती है। ऐसे में साफ और फ्रेश महसूस करने के ल‍िए आपको क्‍या करना चाह‍िए? इसका जवाब जानने के ल‍िए आगे पढ़ें। 

इसे भी पढ़ें- अनियमित पीरियड्स से छुटकारा चाहती हैं तो पिएं ये 2 हर्बल ड्रिंक्स, मिलेगा फायदा

पीर‍ियड्स में वजाइना को कैसे साफ करें?

वजाइनल एर‍िया को साफ करने के ल‍िए गुनगुने पानी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। पीर‍ियड्स में वजाइना को गलत तरीके से वॉश करने से बचना चा‍ह‍िए। वजाइना को हमेशा आगे से पीछे की तरफ साफ करना चाह‍िए। पीछे से आगे की तरफ वॉश करने से ब्‍लैडर या यूर‍िनरी ट्रैक्‍ट में बैक्‍टीर‍िया जाने से संक्रमण हो सकता है। वजाइना को पानी से साफ करने के बाद साफ ट‍िशू से भी क्‍लीन करें, ताक‍ि गीलापन न रहे। वजाइना को साफ करने के ल‍िए ब‍िना सेंट वाली बेबी वाइप्‍स का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। बेबी वाइप्‍स की मदद से वजाइना को बाहरी ह‍िस्‍से पर ही पोंछे। वाइप्‍स को इंटरनल एर‍िया में टच करवाने से बचें। बेबी वाइप्‍स का इस्‍तेमाल करने से वजाइना की बदबू से छुटकारा म‍िलता है।

पीर‍ियड्स के दौरान वजाइनल संक्रमण से कैसे बचें?   

पीर‍ियड्स के दौरान शरीर में हार्मोनल बदलाव होते हैं। इस दौरान आपको आसानी से संक्रमण हो सकता है। संक्रमण से बचने के ल‍िए कुछ बातों का खास ख्‍याल रखें- 

  • पीर‍ियड्स में पैड्स को बदलते रहें। ज्‍यादा देर गीले पैड का इस्‍तेमाल करने से संक्रमण हो जाता है।
  • पीर‍ियड्स में वजाइनल हेल्‍थ को ठीक रखने के ल‍िए ऑयली फूड्स, जंक फूड, मीठी चीजों का ज्‍यादा सेवन न करें। 
  • इस दौरान रोजाना नहाना न भूलें। वजाइनल एर‍िया को ड्राई और साफ रखने की कोश‍िश करें।
  • ज्‍यादा से ज्‍यादा पानी का सेवन करें और हेल्‍दी डाइट लें।          

पीर‍ियड्स में डॉक्‍टर इंटीमेट वॉश का इस्‍तेमाल करना सही नहीं है। पीर‍ियड्स में साफ-सफाई का ख्‍याल रखें। वजाइना को साफ करने के ल‍िए सादे या हल्‍के गुनगुने पानी का इस्‍तेमाल करें और वजाइना को ड्राई रखने की कोश‍िश करें।    

Disclaimer