बारिश के मौसम में कच्ची सब्जियां और सलाद आपको बना सकती हैं बीमार, डायटीशियन से जानें इसके नुकसान और कारण

बारिश के मौसम में सलाद और कच्ची सब्जियों का सेवन करने वाले लोग सतर्क हो जाएं। उनका ऐसा करना कई बीमारियों को निमंत्रण दे सकता है।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jul 23, 2021
बारिश के मौसम में कच्ची सब्जियां और सलाद आपको बना सकती हैं बीमार, डायटीशियन से जानें इसके नुकसान और कारण

मानसून आते ही आसपास हरियाली, नम मौसम, घर में गर्म गर्म पकोड़े नजर आने शुरू हो जाते हैं। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपनी सेहत को ध्यान में रखते हुए कच्ची सब्जियों का सेवन या सलाद का सेवन इस मौसम में भी करते हैं। सेहत के लिए सलाद और कच्ची सब्जियां बेहद उपयोगी हैं। इनके सेवन से सेहत को कई जरूरी पौष्टिक तत्व मिल जाते हैं। लेकिन क्या मानसून में इनका सेवन उपयोगी है? आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि बारिश के मौसम में कच्ची सब्जियां या सलाद का सेवन सेहत के लिए कितना उपयोगी है और कितना नुकसानदेह। इससे अलग ये भी जानेंगे कि बारिश में कच्ची सब्जियों का सेवन कैसे किया जाए। इसके लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( Nutritionist and wellness expert varun katyal) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

 

बता दें कि इस मौसम में इम्यूनिटी बहुत डाउन हो जाती है। यही कारण होता है कि शरीर में इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ने लगती है। ऐसे में मानसून की डाइट और आम दिनों की डाइट से थोड़ी सी अलग होती है। इस मौसम में फूड प्वाइजनिंग, डायरिया, सर्दी, जुकाम, इंफेक्शन, वायरल आदि का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। ऐसे में खान-पान का ध्यान बेहद जरूरी है। बैक्टीरिया सब्जी के माध्यम से शरीर में आ जाते हैं और इम्यूनिटी कमजोर होने के कारण शरीर में इंफेक्शन फैला सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- बारिश में कमजोर हो जाती है बच्चों की इम्यूनिटी, जानें इस मौसम में बच्चों को क्या खिलाएं और क्या नहीं

क्या बारिश के मौसम में कच्ची सब्जियां और सलाद खाने चाहिए?

नहीं, इन सब्जियों को खाने से पहले थोड़ी सी सावधानी जरूरी है। डाइटिशियन की मानें तो उनका कहना है कि कच्ची सब्जियां शरीर को भरपूर पोषक तत्व देती हैं। साथ ही कई बीमारियों से भी बचाती हैं। लेकिन अगर बारिश के मौसम में इनका सेवन किया जाए तो ये कई बीमारियों से रूबरू भी करा सकती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि कच्ची सब्जियों या बिना उबली सब्जियां बैक्टीरिया और फंगस के संपर्क में जल्दी आ जाती हैं और यह हमारे पाचन तंत्र को संतुलित कर देती हैं या पाचन क्रिया को क्षति पहुंचा सकती हैं। इसके कुछ और भी कारण हैं-

अन्य कारण

1 - कच्ची सब्जियों में कई बैक्टीरिया, वायरस और जर्म्स मौजूद होते हैं। ऐसा इसीलिए क्योंकि सब्जियां जमीन के नीचे या मिट्टी के संपर्क में रहती हैं। इस दौरान सब्जियों में बीमारी फैलाने वाले सूक्ष्म जीव चिपक जाते हैं जो व्यक्तियों को नजर नहीं आते।

2 - कुछ किसान ऐसे होते हैं जो कीटाणु को मारने के लिए पेस्टिसाइड या कीटनाशक दवाइयों का उपयोग करते हैं। ऐसे में इन दवाइयों का प्रभाव सब्जी पर भी पड़ जाता है और जब हम सब्जियों को कच्ची खाते हैं तो वे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

इसे भी पढ़ें- मौसम के अनुकूल हो आपका आहार, जनवरी से दिसंबर तक क्या खाएं और क्या नहीं

रेनी सीजन में कैसे करें कच्ची सब्जियों का सेवन?

  • मानसून में सब्जियों को उबाल के खाना ज्यादा अच्छा होता है।
  • अगर आप सब्जियों को उबालना नहीं चाहते हैं तो आप सब्जियों को थोड़ी देर पहले गुनगुने पानी में भिगोएं। उसके बाद साधारण पानी से साफ करें। उसकी सलाद बनाकर सेवन करें। ऐसा करने से हानिकारक किटाणु दूर हो जाते हैं।
  • इससे अलग बंद गोभी, मूली आदि पत्तेदार सब्जियों का सेवन मानसून में ना करें।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदु से पता चलता है कि बारिश के मौसम में कच्ची सब्जियों का सेवन सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है। लेकिन थोड़ी सी सतर्कता सेहत को कई बीमारियों से बचा सकती है। ऐसे में डॉक्टर की राय के बाद ही सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करें। खासकर कच्ची सब्जियों को अपनी डाइट में जोड़ने से पहले उन्हें अच्छे से धोने के बाद ही उनका सेवन करें।

इस लेख में इस्तेमाल की जानें वाली फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Read More Articles on healthy diet in hindi

Disclaimer