मानसून में कैसा हो आपका डाइट प्‍लान? जानें एक्‍सपर्ट टिप्‍स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 12, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • इस मौसम में लोग सबसे ज्यादा बीमार पड़ते हैं।
  • बरसात के मौसम में खानपान में लापरवाही।
  • इस अनहाइजीन मौसम में फूड प्लान या डाइट चार्ट बनाना बेहद जरूरी है।

 

मानसून अच्छा हो सकता है, लेकिन वे बहुत सारे संक्रमण लाते हैं। उदाहरण के लिए, इस सीजन में हरी पत्तेदार सब्जियां नहीं खाना चाहिए, क्‍यों कि इस मौसम में पत्‍तों पर अतिरिक्त बैक्टीरिया का संक्रमण हो जाता है। जिससे  आप विभिन्न स्वास्थ्य खतरों से ग्रस्त हो सकते हैं। इस मौसम में लोग सबसे ज्यादा बीमार पड़ते हैं। बरसात के मौसम में खानपान में थोड़ी सी भी लापरवाही सेहत का बैंड बज सकती है। ऐसे में यदि थोड़ी सावधानी बरती जाए तो आप खुद को स्वस्थ भी रख सकते हैं और मानसून का पूरा मजा उठा सकते है। इस अनहाइजीन मौसम में फूड प्लान या डाइट चार्ट बनाना बेहद जरूरी है।

बरसात में कैसा हो आहार

  • इस मौसम में दाल, सब्जि़यां व कम वसा युक्त आहार खाएं।
  • बारिश में शरीर में वात यानी वायु की वृद्धि होती है, इसलिए हल्के व शीघ्र पचने वाले वाले व्यंजनों को ही खाएं।
  • अगर आप खाने के शौकीन हैं तो घर पर ही साफ-सुथरे तरीके से बनी चीजों को खाएं।
  • बरसात के मौसम में वातावरण में काफी नमी रहती है। जिसके कारण प्यास कम लगती है। लेकिन फिर भी पानी जरूर पीयें।
  • बरसात में नींबू की शिकंजी पीयें।
  • फलों को साबुत खाने के बजाय सलाद के रूप में लें। क्योंकि इस मौसम में फलों में कीड़ा होने की संभावना काफी अधिक रहती है और अगर आप उन्हें सलाद के रूप में काटकर खाएंगे तो आप यह देख सकेंगे कि कहीं फल भीतर से खराब तो नहीं है।

ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर

  • ब्रेकफास्ट में ब्लैक टी के साथ पोहा, उपमा, इडली, सूखे टोस्ट या परांठे ले सकते है।
  • लंच में तले-भुने खाने की बजाय दाल व सब्जी के साथ सलाद और रोटी लें।
  • डिनर में वेजीटेबल, चपाती और सब्जी लें।
  • इस मौसम में गर्मागरम सूप काफी फायदेमंद रहता है।  
  • दूध में रोजाना रात को हल्दी मिलाकर पीने से पेट और त्वचा दोनों स्वस्थ्य रहेंगे।
  • तरबूज, मौसमी, खरबूज आदि मौसमी फलों से आपको जरूरी पोषक तत्वर मिल सकते हैं।

इन चीजों से करें परहेज

चाय और पकौड़ा

मानसून के दौरान चाय के साथ पकोरा एक अनूठा नाश्ता है। हालांकि वे गहरे तले हुए हैं जो घर पर पकाए जाने पर भी अस्वास्थ्यकर हैं। बरसात के मौसम में आर्द्रता के स्तर आमतौर पर अधिक होते हैं क्योंकि शरीर की पाचन क्षमता कम हो जाती है। इसलिए, भारी और तेल खाने से बचें क्योंकि यह परेशान पेट का कारण बन सकता है। बाहर बेचा गया पकोरा बेहद अस्पष्ट और खपत के लिए हानिकारक है क्योंकि कोई भी इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री पर नियंत्रण नहीं रख सकता है। आप घर में स्‍वस्‍थ्‍य तरीके से पकौड़ा बनाकर खा सकते हैं लेकिन अत्‍यधिक सेवन करने से बचें।

चाट, समोसे  

चाट या समोसा एक स्‍ट्रीट फूड है जो हर भारतीय पसंद करता है। चाट जिसमें गोल गप्पा, भेल पुरी, दही पुरी शामिल हैं, दूषित पानी से बने हो सकते हैं। इन स्नैक्स बनाने के दौरान प्रदूषित पानी के उपयोग की संभावनाएं संक्रमण की ओर अग्रसर हैं। यदि पानी का इस्तेमाल संक्रमित होता है तो इस चटनी में उपयोग की जाने वाली चटनी को स्वच्छता की आवश्यकता नहीं होती है। ये संक्रमण दस्त या पीलिया जैसी बीमारियों का कारण बन सकते हैं। चाट में सबकुछ स्वस्थ नहीं है, कोई सड़क पर भोजन से संक्रमण से बचने और घर बनाने के लिए घर पर चाट बनाने के लिए स्वस्थ विकल्प चुन सकता है, जिससे स्वस्थ अवयवों को भी चुनने का विकल्प मिलता है।

चाइनीज फूड

स्ट्रीट साइड चाइनीज फूड से बचना चाहिए, चाहे वह कोई मौसम हो। मॉनसून के दौरान चाइनीज फूड दूषित पानी के उपयोग के कारण और अधिक हानिकारक हो सकते हैं और भोजन में आने वाली सड़क पर मक्खियों द्वारा की जाने वाली गंदगी से ये ज्‍यादा दूषित हो जाते हैं। आज भारत में, हर सड़क में चाइनीज फूड बेचने वाले होते हैं। यह कम पैसे वालों द्वारा खाया जाता है। जबकि यह भोजन स्वास्थ्य समस्याओं जैसे सांस की कमी, मतली, सिरदर्द, माइग्रेन, जलन या मुंह के आसपास झुकाव, पेट दर्द, आदि हो सकता है। मोनोसोडियम ग्लूटामेट इन सभी स्वास्थ्य का कारण बन सकता है। स्वस्थ अवयवों का उपयोग करके घर पर तैयार होने पर चीनी भोजन इन स्वास्थ्य जोखिमों से बच सकता है।

पत्‍तेदार सब्जियां

यह एक ज्ञात तथ्य है कि पत्तेदार सब्जियां स्वास्थ्य के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। हालांकि, मानसून के दौरान पत्तेदार veggies की खपत से बचने के लिए सिफारिश की जाती है। पत्तियों में मौजूद नमी, गंदगी और मिट्टी इन नसों को कई रोगाणुओं के लिए अतिसंवेदनशील बनाती है, जिससे विभिन्न पेट संक्रमण होते हैं। यदि यह किसी के लिए जरूरी है, तो उन्हें खाना बनाने से पहले उन्हें ठीक तरह से धोकर ही पकाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: बॉडी बिल्डिंग के लिए सुपरफूड है पीनट्स बटर, जानें क्या हैं फायदे

सड़क के किनारे बिकने वाले जूस

सड़क पर बिकने वाले जूस सेहत के लिए हानिकारक हो सकते हैं। खुले में बिकने वाले फलों के रस मानसून के दौरान संक्रमित होने का एक अच्छा मौका होता है। इसी प्रकार सड़क पर बेचे गए फल सलाद से बचने के लिए भी जरूरी है क्योंकि वे पहले से कट जाते हैं और संक्रमित हो सकते हैं। ताजे फल का उपयोग करके घर पर अपने रस तैयार करें और तत्काल उपभोग करें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप
Read More Articles On Healthy Eating In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES493 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर