रात में गर्म कपड़े पहनकर सोने से हो सकते हैं आपको ये 7 नुकसान, डॉक्टर से जानें सावधानियां और बचाव के उपाय

डॉक्टर के मुताबिक सर्दियों में रात में गर्म कपड़े पहनकर नहीं सोना चाहिए। इससे बॉडी में ड्राइनेस के साथ कई अन्य परेशानियां बढ़ती हैं।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiUpdated at: Feb 03, 2021 11:39 IST
रात में गर्म कपड़े पहनकर सोने से हो सकते हैं आपको ये 7 नुकसान, डॉक्टर से जानें सावधानियां और बचाव के उपाय

सर्दियों में ठंड लगती है इसलिए हम दिन में तो गर्म कपड़े पहनते ही हैं रात में भी गर्म कपड़े पहनकर सो जाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि रात में गर्म कपड़़े पहनकर (Wear warm clothes in the night) नहीं सोना चाहिए। आगरा के एएसएन मेडिकल कॉलेज में कंसल्टेंट डर्मटॉलॉजिस्ट डॉ इशिता राका पंडित का कहना है कि जो लोग रात में लगातार गर्म कपड़े पहनकर सोते हैं उन्हें स्कैबीज (scabies) नामक बीमारी हो जाती है। स्कैबीज एक कीड़ा होता है जिसके काटने से शरीर पर रात में खुजली और लाल दाने पड़ जाते हैं। परिवार में सभी सदस्यों द्वारा एक ही रजाई ओढ़ने से यह बीमारी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक तेजी से फैलती है। डॉक्टर ने बताया कि हमारे पास 200 के आसपास मरीज रोजाना इस बीमारी के आते हैं। रात में गर्म कपड़े पहनन से त्वचा में ड्राइनेस भी आ जाती है। डॉक्टर इशिता राका पंडित ने रात में गर्म कपड़े पहनकर सोने से होने वाले नुकसान और उससे बचने के उपाय बताए हैं।

inside1sleepinginasweater

सर्दियों में क्यों होती रूखी  त्वचा (Why is skin dry in winter)

डॉक्टर राका के मुताबिक, जब सर्दियां आती हैं तब हमारी त्वचा ड्राई हो जाती है। इसके पीछे कारण यह होता है कि हमारी स्किन पानी से बनती है। हमारे शरीर में जितना पानी है उतनी स्किन अच्छी होगी। अगर किसी की स्किन ग्लोइंग है तो उसका मतलब है उसके शरीर में पानी ठीक मात्रा में है। जहां स्किन में पानी कम हो जाता है वहां त्वचा ड्राई, रफ और स्किन पर पपड़ी होने लगती है। सर्दियों में त्वचा में मॉश्चर कम हो जाता है। क्योंकि आसपास का टेंपरेचर कम होता है। हमारे शरीर में स्किन में टेंपरेचर रेगुलेशन सिस्टम (Temperature Regulation System) होता है। हमारी स्किन अपना टेंपरेचर अपने आप रेगुलेट करती है। यही वजह है कि गर्मी में हमारी बॉडी पसीना रिलीज करती है ताकि हमारे शरीर के अंदर गर्मी न हो। और जब सर्दी होती है तब हमारी बॉडी पानी या पसीने को खींचती है जिससे हमें सर्दी न लगे। ऐसे हमारी स्किन का पानी बॉडी खींच लेती है जिससे स्किन ड्राई होती है।  

बॉडी को पानी दो तरह से मिलता है एक तो वो जो हम पीते हैं। दूसरा बॉडी एन्वारमेंट से खींचती है। लेकिन सर्दियों में बॉडी रुखी हो जाती है। क्योंकि हम गर्म कपड़े पहन लेते हैं, पानी कम पीते हैं, गर्म पानी से नहाते हैं और बॉडी एन्वायरमेंट से पानी खींचना भी कम कर देती है। ये सभी कारण बॉडी में ड्राइनेस बढ़ाते हैं। अगर रात में हम गर्म कपड़े पहनकर सो जाएंगे तो रात में जो हाइड्रेशन मिलना चाहिए था वो भी नहीं मिलता। कुछ लोग कमरे को बंद करके उसमें हीटर चला लेते हैं और सभी खिड़कियां, दरवाजे बंद कर लेते हैं। उस वजह से वो ड्राइनेस और बढ जाती है। और स्किन भी डैमेज होती है। ये सारे कारण हैं जो त्वचा को रूखा बनाते हैं।

इसे भी पढ़ें : चेहरे पर इंस्टैंट ग्लो के लिए करें इन 3 होममेड फेस क्लींजर्स का प्रयोग, स्किन पोर्स में छिपी गंदगी भी होगी साफ

रात में गर्म कपड़े पहनकर सोने के नुकसान (Disadvantages of sleep by wearing warm clothes at night)

1. एक्जिमा

डॉक्टर का कहना है कि जब त्वचा ज्यादा ड्राई होगी तो स्किन में एक्जिमा बढ़ेगा, जिसेस खुजली बढ़ेगी। इसलिए रात को गर्म कपड़े पहनकर नहीं सोना चाहिए।

2. त्वचा रोग बढ़ेंगे

जिनकी त्वचा पहले से ही संवेदनशील है उन्हें ज्यादा दिक्कतें होने लगती हैं। गर्म कपड़ों से बॉडी की नमी चली जाती है जिससे त्वचा रोग बढ़ते हैं। 

3. एलर्जी  और खुलजी बढ़ेगी

सर्दियों में गर्म कपड़े पहनने से एलर्जी बढ़ेगी और खुजली होगी। अगर आपकी स्किन रूखी है तो ऊन के रूएं भी उससे चिपककर अकड़ जाएंगे और खिंचाव होगा। जिससे त्वचा में रैशिज, चकत्ते या दाने हो जाते हैं।

inside3howtosleepinawinters

4. पैरों में छाले

अक्सर लोग रात को खुद को गर्म करने के लिए गर्म कपड़ों के साथ-साथ मोजे भी पहनकर सो जाते हैं, लेकिन डॉक्टर राका के मुताबिक ऐसा नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऊन में थर्मल इन्सुलेशन होता है जो पसीने को अच्छी तरह से सोख नहीं पाता। जिससे बैक्टीरिया पैदा होता है। साथ ही छाले भी पैदा करता है। इसलिए डॉक्टर्स रात को ऊनी मोजे के बजाए कॉटन के मोजे की सलाह देते हैं। 

5. बुजुर्गों को दिक्कत

जिनकी उम्र ज्यादा है उनकी स्किन पहले ही ड्राई होती है। इस मौसम में यह परेशानी ज्यादा हो जाएगी। अगर स्किन को मॉश्चराजेशन नहीं मिलेगा तो यह परेशानियां बढ़ेंगी।

6. बेचैनी और घबराहट की शिकायत

रात में जब गर्म कपड़े पहनकर सोते हैं तो शरीर में गर्माहट बढ़ती है जिससे बेचैनी और घबराहट की शिकायत होती है। साथ ही लो ब्लड प्रेशर भी होने लगता है। 

7. हार्ट के मरीजों के लिए खतरा

रात में गर्म स्वेटर पहनने और गर्म रजाई ओढ़ने से शरीर की गर्मी लॉक हो जाती है। हार्ट के मरीजों के लिए खतरे का सबब बनती है। इसलिए रात को गर्म कपड़े पहनकर नहीं सोना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : स्किन को हेल्दी रखने के लिए पिएं ये ड्रिंक, स्किन की परेशानी होगी दूर और चेहरे पर आएगी निखार

ड्राइनेस से बचने के उपाय

1. सोक एंड फील एप्रोच

सर्दियों में यह बात ध्यान रखनी चाहिए कि हमारी बॉडी को बाहर से मॉश्चराइज होना जरूरी है। इसके लिए आप सोक एंड फील एप्रोच अपना सकते हैं। इस एप्रोच के अनुसार नहाने के तुरंत बाद बॉडी पर नारियल का तेल लगाना जरूरी है। इसका मतलब ये होता है कि बॉडी पर पहले ही पानी था उस पर तेल लगाकर हमने बॉडी को और मॉश्चराइज कर लिया। इसको सोक एंड फील एप्रोच कहते हैं। यह काम नहाने के तीन मिनट में करना होता है इसलिए इसे थ्री मिनट रूल कहते हैं। तेल लगाने से स्किन की कई परेशानियां दूर हो जाती हैं। यह नुस्खा सभी उम्र के लोगों के लिए सहायक है। 

2. बहुत गर्म पानी से न नहाएं

डॉक्टर के मुताबिक बहुत ज्यादा गर्म पानी से न नहाएं। अगर सर्दियो में गर्म पानी से नहाने की आदत है तो उतना ही गर्म पानी रखिए जितना आपका शरीर सह पाए। जितना ज्यादा गर्म पानी आप इस्तेमाल करोगे उतना ही बॉडी को मॉश्चराइज करना पड़ेगा।

3. डिटर्जेंट सोप को कहें न

जिनकी स्किन पहले ही बहुत ड्राई है वे लोग सोप यानी साबुन का इस्तेमाल कम कर दें। जैसे डिटॉल, सैवलोन। जो साबुन ज्यादा झाग बनाते हैं वो आपकी स्किन और ड्राई करते हैं। इसलिए ऐसा साबुन इस्तेमाल करें जो आपकी स्किन के पीएच से मिलता हो। स्किन का पीएच एसिडिक होता है और डिटर्जेंट साबुन भी एसिडिक होता है। डव और पियर्स थोड़ा बहुत स्किन के पीएच से मैच करते हैं। दूसरा जिनको ज्यादा स्किन की दिक्कतें हैं वे त्वचा रोग विशेषज्ञ से बात करके भी साबुन ले सकते हैं।

4. सीधे तौर पर ऊनी कपड़ें न पहनें 

सर्दियों में सीधे ऊनी कपड़े न पहनें। उससे पहले सूती कपड़ा या बहुत ही सिथेंटिक वुलन के ऊपर ऊनी कपड़ें पहनें। ऊन में एक तरह का कैमिकल होता है जो एलर्जी पैदा कर सकता है।

inside2dryness

5. रात में हीटर न चलाएं

रात में हीटर चलाने से शरीर की नमी कम होती है। इसलिए रात में हीटर न चलाएं। अगर आप हीटर चलाते भी हैं तो कमरे में वेंटिलेशन की व्यवस्था होनी चाहिए। जिससे कमरे में कार्बनडाईऑक्साइड न बने।

6. रात में लगाएं मॉश्चराइजर

रात में अगर आप गर्म कपड़े निकालकर नहीं सो रहे हैं तो शरीर को मॉश्चराइज करके सोना चाहिए। इसके लिए आप कोई मॉश्चराइजर या गोले का तेल लगा सकते हैं। इससे शरीर को दिन में दो बार मॉश्चराइजर मिल जाएगा। एक सुबह नहाने के बाद दूसरा रात को सोने से पहले। इससे रैशिज और ड्राइनेस की दिक्कत बहुत कम हो जाती है।

7. पानी खूब पिएं

 सर्दियों में हम पानी पीना कम कर देते हैं। शरीर में ड्राइनेस का एक कारण यह भी बनता है। इसलिए दिन में चार लीटर पानी जरूर पिएं। जूस भी पी सकते हैं।

8. हाइड्रेटिंग फ्रूट्स खाएं

ऐसे फल खाएं जिनसे शरीर में पानी की कमी नहीं हो। जैसे संतरा और कीनू। इससे स्किन को विटामिन सी मिलता है और शरीर में पानी की कमी पूरी होती है। इन्हें वॉटर फ्रूट्स कहा जाता है।

9. सूप पिएं

अगर आपकी उम्र ज्यादा है और स्किन बहुत ड्राई रहती है तो ऐसे लोगों को सूप पीना चाहिए। इससे न्यूट्रेशन और हाइड्रेशन दोनों मिलता है।

सावधानियां (Precautions)

  • -जिन लोगों को एक्ने की दिक्कत है उन्हें ओयली फूड नहीं खाने चाहिए। ऐसे लोग अगर मॉश्चराइजर लगाएंगे तो एक्ने बढ़ेगा, नहीं लगाएंगे तो ड्राइनेस बढ़ेगी। तो ऐसे लोग खानपान में परहेज करें। दूध से बने उत्पाद कम कर देने चाहिए। मछली कम कर देनी चाहिए।
  • -सबकी ओढ़ने की रजाई और बिस्तर अलग होना चाहिए। एक ही रजाई ओढ़ने से एक स्किन की समस्या बाकियों को भी हो सकती है। 
  • -एक स्वेटर को रोज न पहनें। रात के सोने के कपड़े अलग और दिन के अलग रखें। इससे बीमारियां नहीं बढ़ेंगी।

 रात में गर्म कपड़े पहनकर सोने के बहुत नुकसान हैं। इससे बेहतर है रात में कॉटन के कपड़े पहनकर सोएं। जिससे त्वचा को परेशानी न हो।

Read more articles on Skincare in Hindi

Disclaimer