Expert

35 की उम्र के बाद डाइट में जरूरी हैं ये विटामिन्स और मिनरल्स, एक्सपर्ट से जानें किन चीजों को खाना है फायदेमंद

35 की उम्र के बाद अक्सर व्यक्ति कई समस्याओं को शिकार हो सकता है। ऐसे में जरूरी मिनरल्स और विटामिंस को जोड़कर समस्याओं से बचा जा सकता है।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jan 17, 2022Updated at: Jan 17, 2022
35 की उम्र के बाद डाइट में जरूरी हैं ये विटामिन्स और मिनरल्स, एक्सपर्ट से जानें किन चीजों को खाना है फायदेमंद

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है वैसे वसे शरीर में जरूरी विटामिंस और मिनरल्स की कमी होना शुरू हो जाती है। ऐसे में व्यक्ति को ज्यादा देखभाल करने की जरूरत होती है। अगर जरूरी पोषक तत्वों की बात की जाए तो इनमें विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन, जिंक, विटामिन डी, विटामिन b12 आदि होते हैं जो सेहत को कई तरीकों से फायदा पहुंचा सकते हैं। जब व्यक्ति की उम्र 35 के पार चली जाती है तो ऐसे में व्यक्ति को उन चीजों को अपनी डाइट में जोड़ने की सलाह दी जाती है, जिनके अंदर जरूरी मिनरल्स और पोषक तत्व मौजूद हैं। लेकिन ऐसे जरूरी मिनरल्स पोषक तत्व कौन से हैं, जिनको अपनी डाइट में जोड़ सकते हैं, आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि 35 के बाद व्यक्ति को अपनी डाइट में कौन सी जरूरी मिनरल्स और विटामिंस को जोड़ना चाहिए। इसके लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( Nutritionist and wellness expert varun katyal) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

1 - विटामिन सी को जोड़ें

35 के बाद व्यक्ति को अपनी डाइट में विटामिन सी जरूर जोड़ना चाहिए। जैसे जैसे उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे व्यक्ति का इम्यून सिस्टम भी कमजोर होना शुरू हो जाता है। ऐसे में विटामिन सी न केवल रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में उपयोगी है बल्कि हृदय रोग के जोखिम को कम करने में भी मददगार साबित हो सकता है। ऐसे में 35 की उम्र के बाद व्यक्ति को अपनी डाइट में विटामिन सी को जोड़ना जरूरी है। विटामिन सी को जोड़ने के लिए आप अपनी डाइट में अंगूर, टमाटर, संतरा, नींबू, नारंगी, आंवला, केला, सेब, चौलाई, दूध, चुकंदर, मुनक्का, मूली के पत्ते, पुदीना, शलगम, हरा धनिया, पालक आदि को जोड़ सकते हैं।

2 - जिंक को जोड़ें

हमारे शरीर के लिए जिंक भी महत्वपूर्ण तत्वों में से जरूरी है। बता दें कि जिंक के सेवन से न केवल शरीर को कई समस्याओं से दूर रखा जा सकता है बल्कि पेट के कैंसर के जोखिम को कम करने में भी उपयोगी साबित हो सकता है। ऐसे में व्यक्ति उम्र 35 के बाद अपनी डाइट में जिंक पोषक तत्व को जरूर जोड़ें। अगर जिंक के स्रोत की बात की जाए तो तिल, अंडे की जर्दी, मूंगफली, लहसुन, मशरूम, पनीर, काला चना, डार्क चॉकलेट, बाजरा, रामदाना आदि को अपनी डाइट में जोड़ सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- चुकंदर दिन में किस समय और कैसे खाना चाहिए? डायटीश‍ियन से जानें चुकंदर से जुड़े 5 सवालों के जवाब

3 - विटामिन डी को जोड़ें

जब उम्र 35 के पार चली जाती है तो ऐसे में व्यक्ति को विटामिन डी की बेहद जरूरत होती है। आमतौर पर विटामिन डी धूप से पाए जाने वाला जरूरी विटामिन है। जिसके उपयोग से न केवल इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है बल्कि यह शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा कर सकता है। वहीं अगर विटामिन डी के मुख्य स्रोतों की बात की जाए तो धूप के अलावा व्यक्ति मशरूम, बादाम, सोया मिल्क, संतरे का जूस, अनाज आदि को अपनी डाइट में जोड़ सकता है।

4 - कैल्शियम है जरूरी

35 के बाद व्यक्ति को कैल्शियम की भी जरूरत पड़ती है। ऐसे में बता दें कि अपनी डाइट में कैल्शियम को जरूर जोड़ें। इससे ना केवल ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या को दूर रखा जा सकता है बल्कि हाई ब्लड, कैंसर बीमार आदि भी दूर रह सकती है। यदि कैल्शियम के मुख्य स्रोतों की बात की जाए तो दाल, हरी पत्तेदार सब्जियां, मटर, फलियां, मूंगफली आदि इनमें शामिल हैं। वहीं कैल्शियम के लिए व्यक्ति अपनी डाइट में दूध, पनीर, दही आदि डेयरी प्रोडक्ट्स को भी जोड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें- सर्दियों में बच्चों को हेल्दी रखने के लिए दें ये 5 तरह के सूप, जानें बनाने का तरीका

5 - आयरन है जरूरी

उम्र 35 के बाद शरीर में खून की कमी हो जाना एक आम समस्या है। यह समस्या आम तौर पर आयरन की कमी के कारण हो सकती है, जिसके कारण व्यक्ति को एनीमिया जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है। बता दें कि ऐसे में व्यक्ति को अपनी डाइट में आयरन को जोड़ना जरूरी है। यदि आयरन के मुख्य स्रोतों की बात की जाए तो इनमें ब्रोकली, पालक, मटर, किश्मिश, खजूर, सेब, अंगूर, तरबूज, मसूर की दाल, राजमा, शकरकंद, सरसों का साग, मेथी आदि हो सकते हैं।

6 - प्रोटीन है जरूरी

35 के बाद व्यक्ति को प्रोटीन की भी जरूरत पड़ती है। ऐसे में बता दें कि अपनी डाइट में प्रोटीन को जरूर जोड़ें। इससे न केवल घावों को भरने में मदद मिल सकती है बल्कि इंफेक्‍शन से लड़ने, फ्रैक्चर की मरम्मत के लिए प्रोटीन जरूरी पोषक तत्वों में से एक हैं।  यदि प्रोटीन के मुख्य स्रोतों की बात की जाए तो इनमें सोयाबीन, राजमा, चना, मटर, उड़द, लोभिया, मूंग, मसूर, गेहूं, मक्का, मांस, मछली, अंडा, दूध आदि शामिल हैं। 

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि 35 की उम्र के बाद व्यक्ति को कुछ जरूरी मिनरल्स और विटामिंस को अपनी डाइट में जो होना चाहिए जिससे ना केवल सेहत को तंदुरुस्त बनाया जा सकता है बल्कि व्यक्ति कई समस्याओं से भी दूर रह सकता है। लेकिन यदि व्यक्ति को कोई गंभीर समस्या है या व्यक्ति कोई स्पेशल डाइट फॉलो कर रहा है तो फिर ऊपर बताएं चीजों को अपनी डाइट में जोड़ने से पहले एक बार एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

इस लेख में फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Disclaimer