Rosehip tea: गुलाब की पंखुड़ियां झड़ जाने के बाद न फेंके उसके पीछे का फल, बनाएं इससे इम्यूनिटी बूस्टर हर्बल टी

Rosehip tea इम्यूनिटी बूस्ट करने के अलावा और कई मायनों में भी शरीर के लिए फायदेमंद है। आइए जानते हैं इसकी रेसिपी और फायदे।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jul 21, 2020
Rosehip tea: गुलाब की पंखुड़ियां झड़ जाने के बाद न फेंके उसके पीछे का फल, बनाएं इससे इम्यूनिटी बूस्टर हर्बल टी

गुलाब की पंखुड़ियों को गुलकंद, गुलाब जल, गुलाबी चाय और तमाम तरह की औषधीय दवाओं को बनाने में हम इस्तेमाल करते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि गुलाब की पंखुड़ियां जिन छोटे-छोट फलों से लगी होती हैं, वो भी बहुत काम की हैं। दरअसल बाहर के देशों में गुलाब के सूख जाने और उनकी पंखुड़ियों के झड़ जाने के बाद इन फलों को पौधों से तोड़ लिया जाता है और उससे चाय (rosehip tea) बनाई जाती है। इसके उल्ट हमारे यहां गुलाब की पंखुड़ियां झड़ जाए, तो हम इसके पीछे लगे फलों को पेडों में ही छोड़ देते हैं। पर आपको जानकर हैरानी होगी कि ये फल कितने स्वास्थ्यवर्धक हैं। ये शरीर में एंटीऑक्सींट की एक प्रचुर मात्रा प्रदान करते हैं और इम्यूनिटी बढ़ाते हैं। तो आइए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में।

insiderosehip

क्या है Rosehip Tea?

नाम सुनकर आपको भले ही ये कुछ विचित्र सा लग रहा हो पर ये उतना विचित्र है नहीं। बल्कि ये हम सभी के घरों में है। दरअसल रोजहिप टी (Rosehip Tea) का मतलब है गुलाब के फूल के पीछे पाए जाने वाली चीज वाली चीज की चाय। हम अपने देशी भाषा में इसे गुलाब का फल भी कहते हैं। जब गुलाब में कलियां आती हैं, तो उससे पहले उसमें छोटा सा फल होता है, जिसे रोजहिप कहा जाता है। इससे आप तोड़कर चाय या काढ़ा बना सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : Rosehip oil Beauty Benefits: मुहासे हों या स्‍ट्रेच मार्क्‍स हर स्किन प्राब्‍लम का इलाज है रोजहिप ऑयल

Rosehip Tea की रेसिपी (recipe of rosehip tea)

गुलाब के इन छोटे-छोटे फलों से चाय बनाने के लिए आपको पहले उन्हें इक्ठा करना होगा। इसके लिए आप दो तरीका अपना सकते हैं। सूखे गुलाब के फलों को ले आएं या ताजा गुलाब तोड़कर उसकी पंखुड़ियों को अलग कर लें और उसके पिछले हिस्से यानी कि फल का इस्तेमाल कर लें। इसके बाद आपको

  • -इन गुलाब के फलों को धो कर इन्हें किसी चीज से अदरक की तरह कूट लें।
  • -अब जैसा कि आप हमेशा चाय बनाते हैं, वैसे हि चाय के लिए उबलते हुए गर्म पानी में इसे डाल लें।
  • -अब इसमें अपने अनुसार चीनी, चायपत्ती, इलायची और बाकी चीजें डाल लें।
  • -अब सबको उबलने दें।
  • -फिर इन छान लें और नींबू के रस गाड़कर इसे सर्व करें।
  • -आप चाहें, तो आखिरी में आप इसमें नींबू की जगह दूध भी मिला सकते हैं।
insiderosehiptearecipe

इसे भी पढ़ें : सिर्फ खूबसूरती ही नहीं बढ़ाता गुलाब जल, स्वास्थ्य से जुड़ी इन 5 परेशानियों को ठीक करने में भी है मददगार

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कैसे है ये फायदेमंद?

रोजहिप टी के सबसे प्रभावशाली लाभों में से एक उनकी विटामिन सी की उच्च मात्रा है। ये विटामिन सी आपके प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में आवश्यक भूमिका निभाता है।

  • - इसके साथ ही ये लिम्फोसाइट्स नामक सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को उत्तेजित करता है, जो आपके शरीर को संक्रमण से बचाता है।
  • - लिम्फोसाइटों के कार्य को बढ़ाना बाहरी रोगजनकों के खिलाफ आपकी त्वचा के सुरक्षात्मक अवरोध को बनाए रखने में मदद करता है।
  • - विटामिन सी के अलावा, गुलाब के इन फलों में उच्च स्तर के पॉलीफेनोल और विटामिन ए और ई होते हैं, ये सभी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत और संरक्षित करने में मदद करते हैं।

वहीं इसके अन्य फायदों की बात करें, तो गुलाब के फलों में एंटीऑक्सिडेंट की अच्छी मात्रा होती है, जो फाइन रेडिक्लस से होने वाली सेल्स डैमेज से बचाने में मदद कर सकते हैं।  सूखे गुलाब की तुलना में ताजे गुलाब के फलों में अधिक एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। वहीं ये टाइप-2 डायबिटीज और दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को भी कम करता है। गुलाब की ये चाय गैलेक्टोलिपिड्स सहित एंटी इंफ्लेमेटरी यौगिकों से भी समृद्ध है, जो गठिया के दर्द को भी कम कर सकते हैं। तो इतने सारे गुणों से भरपूर इस चाय को एक बार तो पक्का आजमा कर देखें।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer