Doctor Verified

क्या आपको भी आते हैं सोते समय झटके? जानें इस समस्या का कारण, लक्षण और इलाज

कई लोगों को सोते समय झटके लगने की समस्या होती है, इसे हाइपनिक जर्क कहा जाता है जानें इसके कारण और बचाव।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Apr 28, 2022Updated at: May 30, 2022
क्या आपको भी आते हैं सोते समय झटके? जानें इस समस्या का कारण, लक्षण और इलाज

क्या आपने कभी सोते हुए ऐसा महसूस किया है कि आप अचानक से नीचे गिर रहे हैं। नींद के दौरान कई लोगों को झटके लगने और गिरने जैसा महसूस होता है। इसकी वजह से आपकी नींद भी ख़राब हो सकती है और कई बार आप बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं। इस समस्या के कारण आपको कई बार ऐसा लगता है कि आप सोते समय बेड से नीचे गिर गये हैं या अचानक झटके आ रहे हैं। अगस ऐसा है तो आप 'हाइपनिक जर्क' या स्लीप स्टार्टर की समस्या के शिकार हैं। हाइपनिक जर्क की समस्या (Hypnagogic Jerks in Hindi) के कारण आपको नींद से जुड़ी परेशानी के अलावा कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। इसकी वजह से आपकी नींद खराब हो सकती है और मानसिक तनाव भी झेलना पड़ सकता है। यह समस्या सिर्फ सोते समय ही होती है। आइये जानते हैं हाइपनिक जर्क या सोते समय झटका लगने की समस्या के कारण, लक्षण और इलाज के बारे में।

क्या है हाइपनिक जर्क की समस्या? (What is Hypnagogic Jerks in Hindi?)

नींद के दौरान झटका लगने की समस्या को ही मेडिकल की भाषा में हाइपनिक जर्क कहते हैं। यह समस्या आपको नींद में होने पर होती है। हल्की नींद में होने पर आपको ये झटके आते हैं। दरअसल ये झटके उस समय पर आते हैं जब आप न तो पूरी तरह से सो रहे होते हैं और न ही पूरी तरह से जग रहे होते हैं। आमतौर पर इस समस्या में आपकी हार्ट रेट कम होने लगती है और सांसे भी धीरे चलती हैं। अवध हॉस्पिटल के पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ एस के मेहरा कहते हैं कि कुछ लोग हाइपनिक जर्क को नर्वस सिस्टम से जुड़ी समस्या मानते हैं। लेकिन अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है, कि यह एक नर्वस सिस्टम से जुड़ी समस्या है। एक शोध के मुताबिक लगभग 60 प्रतिशत से ज्यादा लोग हाइपनिक जर्क की समस्या से जूझते हैं लेकिन इनमें से ज्यादातर लोगों को इस बारे में पता ही नहीं चलता है। जब तक इसकी वजह से नींद न खराब हो तब तक इसके बारे में पता चलना मुश्किल हो जाता है।

Hypnagogic-Jerks-in-Hindi

इसे भी पढ़ें : नींद ना आने की समस्या से रहते हैं परेशान? ये आयुर्वेदिक उपाय आएंगे काम

क्यों होती है हाइपनिक जर्क की समस्या? (Hypnagogic Jerks Causes in Hindi)

नींद में झटके महसूस होने की समस्या के बारे में अभी तक कोई रिसर्च नहीं हुई है। इसके बारे में कई अध्ययन सामने आये हैं जिसमें ये कहा गया है कि उलझन या सोते समय होने वाली परेशानियों की वजह से ही ये समस्या होती है। इसके पीछे आपकी लाइफस्टाइल से जुड़े कुछ कारण भी जिम्मेदार माने जाते हैं। हालांकि इसके बारे में कुछ सटीक कहना मुश्किल है लेकिन ये माना जाता है कि हाइपनिक जर्क की समस्या इन कारणों से हो सकती है।

  • स्ट्रेस, चिंता और थकान आदि के कारण नींद के दौरान झटके आना।
  • कैफीन के अधिक सेवन की वजह से हाइपनिक जर्क की समस्या।
  • नींद की कमी की वजह से नींद के दौरान झटके महसूस करना।
  • कैल्शियम, मैग्नीशियम या आयरन की कमी की वजह से।
  • सोते समय गलत पोश्चर या मसल्स में ऐंठन के कारण।
  • कुछ दवाओं के सेवन की वजह से।

Hypnagogic-Jerks-in-Hindi

हाइपनिक जर्क के लक्षण (Hypnagogic Jerks Symptoms in Hindi)

हाइपनिक जर्क की समस्या में आपको नींद के दौरान झटके लगते हैं। इसकी वजह से आप अचानक नींद के बीच चौंक कर उठ सकते हैं। कुछ एक्सपर्ट्स यह मानते हैं कि यह पूरी तरह से एक सामान्य समस्या है लेकिन अगर इसकी वजह से आपको बेचैनी या घबराहट महसूस हो रही है तो आपको डॉक्टर से संपर्क जरूर करना चाहिए। हाइपनिक जर्क की समस्या में आपको ये लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

  • नींद के दौरान चौंक कर उठना।
  • नींद के दौरान झटके महसूस करना।
  • नींद पूरी न होना।

सोते समय झटके आने का इलाज और बचाव (Hypnagogic Jerks Treatment And Prevention in Hindi)

सोते समय झटके आना या हाइपनिक जर्क की समस्या का अभी तक कोई सटीक कारण या इसके बारे में सटीक जानकारी नहीं है। इसी वजह से इस समस्या का कोई भी इलाज नहीं है। हाइपनिक जर्क की समस्या होने पर बचाव के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • रोजाना पर्याप्त नींद लें और एक ही समय पर सोयें और उठें।
  • सोने से पहले एक्सरसाइज करने से बचें।
  • पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम और मैग्नीशियम का सेवन करें।
  • आयरन की पर्याप्त मात्रा अपने डाइट में शामिल करें।
  • कैफीन का सेवन कम करें।
  • बहुत ज्यादा हैवी एक्सरसाइज न करें।
  • तनाव से बचें।
इसे भी पढ़ें :  रात में नींद न आने का कारण बनती हैं ये 10 गलतियां, अच्छी नींद चाहिए तो बदलें ये आदतें

ऊपर बताई गयी बातों का ध्यान रखने से आप नींद के दौरान झटके या हाइपनिक जर्क की समस्या से बच सकते हैं। इस समस्या को वैसे तो सामान्य माना जाता है लेकिन अगर आपको इसकी वजह से बेचैनी, घबराहट या चिंता का अनुभव होता है तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

(All Image Source - Freepik.com)

Disclaimer