रूमेटॉयड अर्थराइटिस (गठिया) के मरीज यात्रा के दौरान अपनाएं ये टिप्स, कम होगी परेशानी

अगर आपको रूमेटॉयड अर्थराइटिस है तो ट्रैवलिंग करना आपके लिए थोड़ा कठिन आपको दर्द में ट्रैवल करना लगेगा आसान।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Aug 30, 2021 13:00 IST
रूमेटॉयड अर्थराइटिस (गठिया) के मरीज यात्रा के दौरान अपनाएं ये टिप्स, कम होगी परेशानी

रूमेटॉयड अर्थराइटिस (Rheumatoid Arthritis) यानी गठिया। फोर्टिस अस्पताल ऑर्थोपेडिक सर्जरी विभाग के हेड व निदेशक डॉ अतुल मिश्रा के अनुसार रूमेटॉयड अर्थराइटिस (Rheumatoid Arthritis) में मरीज की पीठ, कलाई कमर, गर्दन या शरीर के किसी भी जोड़ में दर्द की शिकायत रहने लगती है। पहले के मुकाबले यह शिकायत अब युवा वर्ग में भी घर करती जा रही है। जिसका मुख्य कारण खराब लाइफ स्टाइल (Lifestyle) है। यह बीमारी बिना इलाज कराए परेशानी का सबब बन सकती है। जिसकी वजह से मरीज को फेफड़ों, स्किन या आंखों में भी परेशानी हो सकती है। दरअसल ये ऑटोइम्यून (Autoimmune) बीमारी है। जिसमें आपका इम्यून सिस्टम आपकी बॉडी के टिशूज (Tissue) पर हमला शुरू कर देता है। तब जोड़ों में सूजन आदि समस्या शुरू हो जाती है। अगर आपको रूमेटॉयड अर्थराइटिस (Rheumatoid Arthritis) है तो आप ट्रैवलिंग करते समय एक बार जरूर सोचेंगे कि क्या यह सही निर्णय है? लेकिन अगर आपको इस प्रकार का गठिया है तो इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप कहीं घूम फिर नहीं सकते या फिर आप मजे नहीं ले सकते। आपको केवल थोड़ी सी एक्स्ट्रा सावधानी बरतनी होगी। घूमने जाते समय कुछ टिप्स का पालन करना होगा।

inside2kneepain

इसे रिलैक्सिंग बनाएं (Make It Relaxing)

अगर आपको रूमेटॉयड अर्थराइटिस है तो आपको रेस्ट की आवश्यकता है। यदि आप आराम नहीं करेंगे तो इसके लक्षण और अधिक बढ़ सकते हैं। इसलिए कहीं जाना चाहते हैं तो कोशिश करें कुछ दिनों पहले पूरा आराम करें और अधिक काम न करें। नहीं तो आपको ट्रैवलिंग करते समय और अधिक हानियां उठानी पड़ सकती हैं। पहाड़ों में ट्रेकिंग आदि जैसी गतिविधि ओवर न करें।

अपना खुद का एक रूटीन बनाएं (Create Your Own Routine)

अगर आप अपनी फैमिली या दोस्तों के साथ कहीं ट्रिप पर जा रहे हैं तो आपको अपना खुद का एक शेड्यूल बना लेना चाहिए। पहले से ही यह निर्णय ले लेना चाहिए कि आप पूरा दिन क्या करने वाले हैं। अपने दोस्तों या बाकी लोगों के अनुसार खुद को अधिक प्रेशर में न डालें। अपने आराम के अनुसार आपको ट्रैवलिंग करनी है।

इसे भी पढ़ें : एलर्जी टेस्ट क्या है और कब करवाना चाहिए? जानें इस टेस्ट की प्रक्रिया और जरूरी बातें

अपने स्वास्थ्य के लिए प्लान करें (Plan for your health)

आप जहां जा रहे हैं वहां पर यह जरूर सुनिश्चित कर लें कि डॉक्टर या मेडिकल की सुविधा उपलब्ध है या नहीं। अगर आस पास ऐसी सुविधा उपलब्ध नहीं है तो ऐसी जगह होटल बुक न करें। बल्कि अपने स्वास्थ्य के बारे में पहले सोचें कि अगर आपको अधिक दर्द हो जाता है तो आपको सुविधा उपलब्ध होगी भी या नहीं।

आपके डॉक्टर से पूछें सवाल (Ask To Your Doctor)

  • अपने डॉक्टर को एक बार अपनी ट्रिप का आइडिया जरूर दे दें कि आप कहां जाने वाले हैं और क्या करने वाले हैं। अगर वह अप्रूव कर दें तो ही केवल वहां जाएं।
  • अपने डॉक्टर से पहले ही इस विषय में पूछ लें कि क्या आपको ट्रिप पर किसी प्रकार की दवाई या वैक्सीन की जरूरत पड़ेगी या नहीं।
  • अपने डॉक्टर से अपनी दवाइयों से संबंधित सारे सवाल पूछ लें और यह भी जान लें कि कहीं आपको किसी खास तरह की दवाई ले जाने की आवश्यकता तो नहीं है।

प्रिस्क्रिप्शन की एक एक्स्ट्रा कॉपी ले लें (Take an Extra Copy of Thehe Prescription)

हो सकता है ट्रैवलिंग करते समय आपको कुछ दवाइयां कहीं गुम हो जाएं। इसलिए आपको पहले से ही एक एक्स्ट्रा कॉपी रखनी चाहिए। ताकि आप वैसी दवाई ले सकें।

inside1RheumatoidArthritistips

कमरा बुक करते समय रखें ध्यान (Keep this in Mind While Booking a Room)

आपको रूम ऐसी जगह बुक करना चाहिए जहां से आप गाड़ी से उतरते ही अंदर घुस सकें। जिसमें लिफ्ट या एलिवेटर हो।ताकि आपको अधिक न चलना पड़ सके। रूम में शावर और टब का भी ध्यान रखे।

इसे भी पढ़ें : अचानक तेज नींद आने (स्लीप अटैक) की समस्या क्यों होती है? जानें इसके लक्षण , खतरे, कारण और इलाज

अपने लिए सही लगेज चुनें (Choose the Right Luggage For You)

आपको ऐसा बैग चाहिए होगा जिसमें पहिया हो। जो आपके सामान को भी अच्छे प्रकार से पैक कर पाए। ताकि आपको उसे उठाना न पड़े। बैग पैक करते समय अपनी दवाइयां इसमें रखनी न भूलें। अपने कंफर्ट के हिसाब से ही बैग को पैक करें।

इन सभी टिप्स के माध्यम से आपकी ट्रैवलिंग काफी ज्यादा आसान हो जाएगी।

All images freepik

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer