Doctor Verified

हाइड्रोसील के कारण अंडकोष में सूजन का क्या इलाज है? डॉक्टर से जानें

Hydrocele Swelling Treatment: हाइड्रोसील में पुरुषों के अंडकोष में सूजन से जुड़ी बहुत आम और गंभीर समस्या है, डॉक्टर से जानें इसका इलाज।

 

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Nov 18, 2022 08:30 IST
हाइड्रोसील के कारण अंडकोष में सूजन का क्या इलाज है? डॉक्टर से जानें

Hydrocele Swelling Treatment: पुरुषों में अंडकोष के भीतर सूजन की समस्या बहुत आम है। अंडकोष में इस सूजन की समस्या को मेडिकल भाषा में हाइड्रोसील कहते हैं। इस स्थिति में अंडकोष के आसपास तरल पदार्थ इकट्ठा हो जाता है, जिसे आम भाषा में अंडकोष में पानी भरना कहा जाता है। इसकी वजह से अंडकोष का आकार बड़ा हो जाता है। साथ ही इसके कारण अंडकोष में मध्यम से तेज दर्द होता है। कुछ मामलों में यह दर्द लगातार काफी-काफी समय तक होता रहता है। अंडकोष में पीना भरने के कई कारण हो सकते हैं। आमतौर पर यह समस्या नवजात शिशुओं में देखने को मिलती है, जो कि 1 साल की उम्र तक ठीक हो जाती है। वहीं कुछ मामलों में यह अंडकोष में चोट लगने के कारण हाइड्रोसील की समस्या देखने को मिलती है। अगर यह समस्या, कुछ दिनों में ठीक हो जाती है लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है, तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, क्योंकि इसकी अनदेखी करने बहुत नुकसानदायक हो सकता है।

बहुत से लोग अक्सर पूछते हैं कि हाइड्रोसील की स्थिति कितनी गंभीर है इसका पता कैसे लगा सकते हैं? साथ ही इसका इलाज क्या है? इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए हमने DY पाटिल हॉस्पिटल, पुणे के प्रोफे. डॉ. अनु गायकवाड़ (MBBS, MD MED Physician, diabetologist) से बात की। इस लेख में हम आपको इसके विषय पर विस्तार से बता रहे हैं।

hydrocele swelling treatment

हाइड्रोसील के लक्षण- Hydrocele Symptoms

हाइड्रोसील का सबसे महत्वपूर्ण संकेत अंडकोष में सूजन के कारण उनका आकार बढ़ना और उनमें दर्द होता है। जिसके कारण आपको या तो एक या फिर दोनों अंडकोष में सूजन देखने को मिल सकते हैं, साथ ही कभी-कभी इनमें दर्द भी महसूस नहीं होता है। अंडकोष में पानी होने पर पुरुषों को भारीपन महसूस हो सकता है, साथ ही सूजन के धीरे-धीरे बढ़ती रहती है और अंडकोष आकार भी दिन-ब-दिन बढ़ता है।

अगर कोई पुरुष इस तरह की समस्या का सामना करता है तो उन्हें तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, जिससे कि वह इसके मूल कारण का पता लगा सके और आपको सही उपचार प्रदान कर सके।

हाइड्रोसील का निदान कैसे होता है

डॉक्टर आपकी अंडकोष की स्थिति के अनुसार हाइड्रोसील का पता लगाने के लिए आपको कुछ टेस्ट, जिनमें स्क्रीनिंग और ब्लड टेस्ट आदि शामिल है का सुझाव दे सकता है। इसके अलावा डॉक्टर कुछ अन्य टेस्ट भी कर सकता है जैसे:

  • अंडकोष के बढ़े हुए आकार में वह कोमलता की जांच कर सकता है
  • डॉक्टर हर्निया की जांच भी कर सकता है, जिसमें वह आपके अंडकोष पर दबाव डालकर देख सकता है।
  • उसके बाद डॉक्टर आपको ब्लड और यूरिन टेस्ट का सुझाव दे सकता है। यह सुझाव बच्चों को अधिक दिया जाता है। 
  • अल्ट्रासाउंड की मदद से भी स्थिति को पता लगाया जाता है।

हाइड्रोसील में सूजन का उपचार- hydrocele swelling treatment

डॉ. अनु की मानें तो आमतौर हल्के से मध्यम होने पर यह समस्या 6 महीनों से 1 साल के बीज खुद ही ठीक हो जाती है। लेकिन अगर इसके बाद भी समस्या ठीक नहीं होती है, तो डॉक्टर सर्जरी की मदद से अंडकोष से पानी बाहर निकालने का प्रयास करते हैं। जिसमें अंडकोष या पेट के निचले हिस्से में चीरा लगाकर, तरल पदार्थ को निकाला जाता है। हालांकि हाइड्रोसीलोक्टोमी के बाद कुछ दिनों तक डॉक्टर तरल-पदार्थ को बाहर निकलने और ड्रेसिंग के लिए ट्यूब की मदद भी ले सकते हैं।

इसे भी पढें: डिप्रेशन क्यों होता है? डॉक्टर से समझें डिप्रेशन कैसे धकेलता है आत्महत्या की तरफ

कुछ मामलों में हाइड्रोसील दोबारा भी हो सकता है, इसलिए डॉक्टर कुछ समय बाद फिर से टेस्ट कराने की सलाह देते हैं। लेकिन डॉक्टर की सलाह के बिना किसी दवा या घरेलू नुस्खे को आजमाने की सलाह नहीं दी जाती है।

All Image Source: Freepik

(With Inputs: Prof Dr Anu Gaikwad, MBBBS, MD MED- Physician, diabetologist, DY Patil Medical College, Hospital And Research Center, Pune)

Disclaimer