Doctor Verified

डिप्रेशन क्यों होता है? डॉक्टर से समझें डिप्रेशन कैसे धकेलता है आत्महत्या की तरफ

Depression Causes In Hindi: अवसाद या डिप्रेशन की बीमारी क्यों होती है और इसके कारण क्या हैं? आइए डॉक्टर से समझें आसान भाषा में यह बीमारी।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Nov 08, 2022 13:01 IST
डिप्रेशन क्यों होता है? डॉक्टर से समझें डिप्रेशन कैसे धकेलता है आत्महत्या की तरफ

Depression Causes In Hindi: अवसाद या डिप्रेशन मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ा एक गंभीर रोग है। इन दिनों बच्चों से लेकर बड़ों तक, सभी में यह समस्या देखने को मिल रही है। अगर समय रहते इसका उपचार न लिया जाए, तो यह व्यक्ति की मानसिक स्थिति और निर्णय लेने की क्षमता को कम कर, व्यक्ति को आत्महत्या की ओर भी ले जा सकती है। वर्तमान समय में डिप्रेशन के कारण लोगों के आत्महत्या के मामले चौकाने वाले हैं। साथ ही इससे पीड़ितों की संख्या में काफी तेजी से वृद्धि देखने को मिल रही है, एक्सपर्ट्स की मानें तो भारत में 3 में से एक व्यक्ति डिप्रेशन से ग्रसित है। लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है कि डिप्रेशन क्यों होता है? या इसके क्या कारण हैं? अक्सर लोग अपने जीवन में छोटी मोटी कठिनाइयों का सामना करते हैं, जिनसे उन्हें निराशा होती और वे दुखी महसूस करते हैं। लेकिन इसका मतलब नहीं है हर कोई डिप्रेशन से ग्रसित है।

ओनलीमायहेल्थ (OnlymyHealth) की स्पेशल सीरीज 'बीमारी को समझें' में हम डॉक्टर से बातचीत करके आपको आसान भाषा में किसी बीमारी और उसके कारणों के बारे में समझाते हैं। डिप्रेशन क्यों होता है (depression kyon hota hai) और इसके कारणों के बारे में जानने के लिए हमने डॉ. सुप्रकाश चौधरी (Professor and HOD, Dept of Psychiatry, Dr D Y Patil Hospital) से बात की। आइए विस्तार से समझते हैं डिप्रेशन के कारण (depression ke karan)

Depression Causes In Hindi

डिप्रेशन क्यों होता है- depression kyon hota hai

डॉ. सुप्रकाश की मानें तो डिप्रेशन की समस्या कई कारणों से हो सकती है, जैसे किसी करीबी की मृत्यु, पढ़ाई और करियर का दबाव, शिक्षा और रोजगार के क्षेत्र में दवाब महसूस होना। इसके अलावा कुछ पारिवारिक समस्याएं, रिश्तों में अनबन, शादी से जुड़ी समस्याएं, अकेलापन आदि। ये सभी कारण, व्यक्ति की मानसिक स्थिति को प्रभावित करती हैं। अगर डिप्रेशन के मेडिकल कारणों के बारे में बात करें, तो थाइरोइड, हृदय रोग, डायबिटीज, मोटापा और हाई बीपी जैसी स्वास्थ्य समस्याएं भी डिप्रेशन का कारण बन सकती हैं।

डॉ. सुप्रकाश के अनुसार डिप्रेशन के कुछ वैज्ञानिक कारणों में दिमाग में रसायनों की कमी जैसे ‘सेरोटोनिन’ ‘डोपामिन’ और ‘नॉरएड्रेनालिन’ भी अहम भूमिका निभाती है। इसके अलावा व्यक्ति का पारिवारिक इतिहास या आनुवांशिकी भी डिप्रेशन के लिए जिम्मेदार एक बड़ा कारण है। कुछ मामलों में जो लोग ड्रग्स या शराब आदि की लत से ग्रसित हैं, उनमें डिप्रेशन होने की संभावना होती है। चुनौतीपूर्ण समय से गुजरने वाले लोगों में डिप्रेशन की स्थिति में जाने की आशंका अधिक रहती है।

इसे भी पढें: डेंगू में बुखार क्यों आता है और ये कितना खतरनाक हो सकता है? डॉक्टर से समझें पूरी बात

डिप्रेशन के लक्षण- Depression ke lakshan

डिप्रेशन होने पर व्यक्ति में कई संकेत और लक्षण देखने को मिल सकते हैं। इस दौरान व्यक्ति को गुस्सा, चिड़चिड़ापन, थकान, सिरदर्द, फोकस में कमी, घबराहट, बेचैनी, नींद में कमी, अनिद्रा जैसी समस्याएं देखने को मिलती है। साथ ही डिप्रेशन से पीड़ित रोगी में शीघ्रपतन या सेक्सुअल एक्टिविटीज में कमी देखने की समस्या भी हो सकती है I इसके अलावा व्यक्ति निराश, उदास महसूस करता है, साथ ही उसके मन में आत्महत्या के विचार भी आ सकते हैं।

डिप्रेशन का इलाज क्या है- Depression ka ilaj

डॉ. सुप्रकाश के अनुसार अगर कोई व्यक्ति उपरोक्त लक्षणों का अक्सर अनुभव करता है, तो उन्हें तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। वह आपको आपकी स्थिति के अनुसार सही उपचार प्रदान कर सकते हैं। आमतौर पर डिप्रेशन होने पर डॉक्टर आपको  कुछ दवाएं दे सकता है, जिन्हें एंटीडिप्रेसेंट कहा जाता हैI ये दवाएं दिमाग में रसायन की कमी को दूर करने और उनका संतुलन बनाने में मदद करती हैं। इनका असर कुछ हफ्तों में दिखाई देने लगता है। लेकिन बहुत से लोग सोचते हैं, कि उन्हें ये दवाइयां जीवन भर लेनी पड़ती हैं, जबकि ऐसा नहीं है।

इसे भी पढें: पीलिया किस विटामिन की कमी से होता है? जानें इनके स्रोत

डॉक्टर आपकी स्थिति के अनुसार 6-9 महीनों तक आपको ये दवाएं दी जा सकती हैं। साथ ही आपके लक्षणों के अनुसार दवाओं की मात्रा कम ज्यादा भी की जा सकती है। इसके अलावा आपको नियमित व्यायाम, योग और मेडिटेशन का अभ्यास करने की सलाह दी जाती है।

(With Inputs: Dr. Suprakash Chaudhury, Professor and HOD, Dept of Psychiatry, Dr D Y Patil Medical College, Hospital and Research Centre)

All Image Source: Freepik

Disclaimer