Doctor Verified

डेंगू में बुखार क्यों आता है और ये कितना खतरनाक हो सकता है? डॉक्टर से समझें पूरी बात

Dengue Fever Causes: डेंगू क्यों और कैसे होता है? आइए डॉक्टर से आसान भाषा में समझें क्यों होती है ये बीमारी और इसके कारण।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Nov 01, 2022 19:31 IST
डेंगू में बुखार क्यों आता है और ये कितना खतरनाक हो सकता है? डॉक्टर से समझें पूरी बात

Dengue Fever Causes Explained: सर्दियों के मौसम की जैसे-जैसे शुरुआत होती है, गंभीर वायरल समस्याओं का प्रकोप काफी बढ़ने लगता है। इनमें डेंगू और मलेरिया जैसे संक्रमण सबसे आम हैं। इन दिनों डेंगू और मलेरिया के मामले सबसे अधिक देखने को मिलते हैं। इसलिए इन दिनों काफी सावधानी बरतने की जरूरत होती है। डेंगू की बात करें, तो बहुत ही गंभीर रोग है जिसके लिए कोई निश्चित दवा नहीं है। इसमें व्यक्ति की प्लेटलेट गिरने लगती हैं, साथ मांसपेशियों में ऐंठन, भूख में कमी, सिरदर्द, मतली और उल्टी आदि समस्याएं देखने को मिलती हैं। लेकिन अगर इसका समय रहते उपचार नहीं किया जाता है, तो यह समस्या बहुत गंभीर रूप ले सकती है। हर साल हजारों लोगों को डेंगू के कारण अपनी जान गंवानी पड़ती है।

लेकिन क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है, कि डेंगू बुखार क्यों होता है (dengue fever kyu hota hai) या डेंगू क्यों होता है? या डेंगू किन कारणों (dengue fever ke karan) से होता है? इस विषय पर बेहतर जानकारी के लिए हमने डॉ. शहजाद मिर्झा (एसोसिएट प्रोफेसर, माइक्रोबायोलॉजी विभाग, के डॉ. डी.वाई.पाटिल मेडिकल कॉलेज, हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, पिंपरी, पुणे) से बात की। इस लेख में हम आपको डेंगू क्यों होता है, इसके बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

dengue kyo hota hai

डेंगू क्यों होता है?- dengue kyo hota hai

डॉ. शहजाद के अनसुार डेंगू बुखार तब होता है जब डेंगू वायरस संक्रमित मच्छर के काटने से, यह वायरल लोगों में फैलने लगता है। आमतौर पर डेंगू बुखार के लिए चार वायरस जिम्मेदार होते हैं, जिनमें डीईएनवी-1, 2,3 और डीईएनवी-4 शामिल हैं। इनमें से कोई भी वायरल डेंगू का कारण बन सकता है। जब कोई व्यक्ति इन में किसी भी वायरस से पीड़ित होता है और उस व्यक्ति को मच्छर काट लेता है, तो इससे वायरस मच्छरों में प्रवेश कर जाता है। जब यह संक्रमित मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है, तो यह वायरस ब्लड फ्लो या सर्कुलेशन के जरिए उके शरीर में फैलने लगता है। इस तरह धीरे-धीरे डेंगू की शुरुआत होती है।

इसे भी पढें: कैसे पहचानें कि आपका बुखार डेंगू है या चिकनगुनिया? जानें लक्षण

अगर किसी व्यक्ति को डेंगू के किसी एक वायरस से पीड़ित हो कर ठीक हो चुका है, तो वह उससे फिर से ग्रसित नहीं हो सकता है। लेकिन बाकी 3 वायरस से उसके फिर से संक्रमित होने का जोखिम बना रहता है। इसलिए कहा जाता है कि व्यक्ति को एक बार डेंगू होने के बाद, जीवन में 3 बार डेंगू होने की संभावना होती है।

इसे भी पढें: डेंगू होने पर बच्चे को क्या खिलाएं? जानें 4 फूड्स, जो जल्द रिकवरी में करेंगे मदद

डेंगू से बचाव के उपाय- How To Prevent from dengue

डेंगू के इलाज के लिए कोई विशिष्ट दवा या उपचार फिलहाल नहीं है, हालांकि शोधकर्ता डेंगू बुखार से छुटकारा पाने के लिए इलाज पर अधिक शोध कर रहे हैं। इसलिए इससे बचाव किया जाना जरूरी है। डेंगू से बचाव के लिए आप कुछ सरल कदम उठा सकते हैं जैसे:

  • तन को ढक कर रखें, हमेशा कपड़े पहनकर रखें, साथ ही कोशिश करें कि छोटी बाजू वाले कपड़े पहनने से बचें।
  • इन दिनों घर से बाहर ज्यादा समय न बिताएं
  • ध्यान रखें अपने घर के बार या आसपास पानी न जमा होने दें।
  • इम्यूनिटी मजबूत बनाएं, संतुलित और पोषक तत्वों से भरपूर फूड्स खाएं।
  • बच्‍चों के हाथ पांव पूरी ढक कर रखें, उन्हें कपड़ भी ऐसे ही पहनाएं।
  • मच्छर भगाने वाली कॉइल और रिपिलेंट्स का प्रयोग करें।

All Image Source: Freepik

(With Inputs: डॉ. शहजाद मिर्झा- एसोसिएट प्रोफेसर, माइक्रोबायोलॉजी विभाग, के डॉ. डी.वाई.पाटिल मेडिकल कॉलेज, हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, पिंपरी, पुणे)

Disclaimer