मुंहासों से ज्‍यादा खतरनाक होते हैं ब्‍लाइंड पिंपल्‍स, इन 4 उपायों से पाएं छुटकारा

ब्‍लाइंड पिंपल्‍स त्‍वचा की सतह के नीचे विकसित होते हैं। इन्‍हें आप त्‍वचा में गांठ के तौर पर महसूस कर सकते हैं। यह अंदर-अंदर विकसित होते हैं। ऐसे पिंपल्‍स को अनदेखा नहीं किया जा सकता है।&

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Dec 10, 2018
मुंहासों से ज्‍यादा खतरनाक होते हैं ब्‍लाइंड पिंपल्‍स, इन 4 उपायों से पाएं छुटकारा

ब्‍लाइंड पिंपल मुंहासों को ही संदर्भित करता है लेकिन यह उससे थोड़ा अलग होता है। आम मुंहासे त्‍वचा के ऊपरी सतह पर विकसित होते हैं जिन्‍हें आप आसानी से देख सकते हैं। जबकि ब्‍लाइंड पिंपल्‍स त्‍वचा की सतह के नीचे विकसित होते हैं। इन्‍हें आप त्‍वचा में गांठ के तौर पर महसूस कर सकते हैं। यह अंदर-अंदर विकसित होते हैं। ऐसे पिंपल्‍स को अनदेखा नहीं किया जा सकता है। इस लेख में हम आपको ब्‍लाइंड पिंपल्‍स के बारे में विस्‍तार से बताएंगे। 

 

ब्‍लाइंड पिंपल के कारण

ब्‍लाइंड पिंपल त्‍वचा के अंदर बैक्‍टीरिया और सीबम के वजह से उत्‍पन्‍न होता है। इसके अलावा ऑयली स्किन होने और बड़े रोमछिद्र होने की वजह से चेहरे की नियमित क्‍लीजिंग होने की वजह से बैक्‍टीरिया चेहरे के अंदरुनी हिस्‍सों में चले जाते हैं और ब्‍लाइंड पिम्‍पल उत्‍पन्‍न करते हैं। अगर यह पिंपल सिर्फ त्‍वचा के नीचे है तो इन्‍हें ठीक होने में महीना लग सकता है। मगर ये त्‍वचा की ऊपरी हिस्‍सें मे दिखाई देने लगे तो ये आसानी से ठीक किया जा सकता है।  

ब्‍लाइंड पिंपल से बचाव 

ब्‍लाइंड पिंपल आम मुंहासों की तरह दिखाई नहीं देते हैं इसलिए इन्‍हें दबाने या नोचने की कोशिश बिल्‍कुल भी नहीं करना चाहिए। कई बार यह ब्‍लाइंड पिंपल की गांठ को दबाने से त्‍वचा खराब हो जाती है। कुछ उपाय अपनाकर आप ब्‍लाइंड पिंपल से छुटकारा पा सकते हैं। यहां हम आपको ऐसे ही कुछ असान उपाए बता रहे हैं:  

वॉर्म कम्प्रेस

वॉर्म कम्‍प्रेस यानी गर्म संपीड़न की मदद से ब्‍लाइंड पिंपल को दूर करने में मदद मिल सकती है। सबसे पहले, वे मुँहासे से दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं। गर्मी आपके छिद्रों को खोलने में मदद करती है, जो पिंपल को ऊपर की ओर ला सकती है। यह बैक्टीरिया को त्वचा से बाहर निकलने मदद कर सकता है।  

बेंजोईल पेरोक्‍साइड क्रीम

पिंपल्‍स के बैक्‍टीरिया को खत्‍म करने के लिए आप बेंजोईल पेरोक्‍साइड क्रीम भी इस्‍तेमाल कर सकते है लेकिन इसका इस्‍तेमाल दिखने वाले पिंपल पर ही करें। इसके अलावा एक्‍ने वाले एरिया को मौइश्‍चराइज्‍ड भी जरुर करें।  

सलिसीक्लिक एसिड

सलिसीक्लिक एसिड मुंहासे को हटाने का बेहतर विकल्‍प है। आप इस एसिड का क्‍लींजर चेहरे पर यूज कर सकता है। अगर आपकी स्किन ड्राई या सेंसटिव तो इस क्‍लींजर को सिर्फ पिम्‍पल एरिया पर ही लगाएं।  

बर्फ है मददगार 

अगर इन मुंहासों के वजह से आपको बहुत ज्‍यादा दर्द होता है। तो आपको आइस थैरेपी लेनी चाहिए। पहले सलिसीक्लिक एसिड क्‍लींजर से चेहरे साफ करें और फिर आईस बैग को 1 घंटे में 2 से 3 बार पिंपल्‍स पर रखें। इससे पिंपल्‍स ठंडे हो जाएंगे और राहत भी मिलेगी।  

इसे भी पढ़ें: बढ़ती उम्र में रक्तचाप और ह्रदय रोग को न करें नजरअंदाज, हो सकता है जानलेवा

शुद्ध शहद 

शुद्ध शहद को आप मुंहासों की दवाईयों के विकल्‍प के तौर पर इस्‍तेमाल कर सकते हैं। शहद में प्राकृतिक एंटीमाइक्रोबायल गुण होते हैं जो बैक्टीरिया से छुटकारा पाने में मदद करते हैं। इसका उपयोग करने के लिए, सुनिश्चित करें कि आपके पास शुद्ध शहद हैं। आप किराने की दुकान से प्राप्त होने वाले सामान्य शहद का प्रयोग न करें तो बेहतर होगा। शहद को प्रभावित क्षेत्र में थोड़ी सी मात्रा लगाएं और रात भर के छोड़ दें। सुबह आप साफ ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।  

इसे भी पढ़ें: बदलते मौसम में विटामिन डी और कैल्शियम की कमी से हो सकता है सफेद दाग: एक्‍सपर्ट टिप्‍स

एक्‍सपर्ट की सलाह

अगर आपको ब्‍लाइंड पिंपल की समस्‍या ज्‍यादा है तो आप किसी डर्मेटोलॉजिस्‍ट की सलाह ले सकते हैं। क्‍योंकि कई बार इस प्रकार की समस्‍या कई अन्‍य त्‍वचा रोगों के संकेत हो सकते हैं।  

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Skin Diseases In Hindi

 

Disclaimer