शिशु की जीभ कैसे साफ करें? जानें सुरक्षित तरीके और जरूरी सावधानियां

शिशु की जीभ की सफाई न करने से उसे बैक्टीरियल इंफेक्शन से लेकर मुंह में बदबू और मसूड़ों की कमजोरी की समस्या हो सकती है।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Jul 14, 2021Updated at: Jul 14, 2021
शिशु की जीभ कैसे साफ करें? जानें सुरक्षित तरीके और जरूरी सावधानियां

ओरल हाइजीन का ध्यान अगर बचपन से ही रखा जाए तो बच्चों में बड़े होकर, सेंसटिविटी, पायरिया, कैविटी जैसी समस्या न के बराबर होती हैं। लेकिन ओरल हाइजीन की तरफ माता-पिता का ध्यान सबसे कम जाता है। यही वजह है कि मुंह से बदबू, दांत में असमय दर्द आदि जैसी परेशानियां होती हैं। इन परेशानियों से बचने के लिए जरूरी है कि नवजात शिशु के ओरल हाइजीन का पूरा ध्यान रखा जाए। शिशु की ओरल हाइजीन की बात करें तो इसमें सबसे पहले जीभ आती है, क्योंकि शिशु के दांत 6 से 9 महीने में आने शुरू होते हैं, उससे पहले जीभ की सफाई का ध्यान रखना पड़ता है। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि शिशु की जीभ कैसे साफ करें और किन बातों का ध्यान रखें।

Inside2_babytongue

नवजात शिशु की जीभ की सफाई क्यों जरूरी है?

शिशु खुद से ब्रश नहीं कर सकता, ऐसे में माता-पिता को उसके ओरल हाइजीन का ध्यान रखना पड़ता है। शिशु की जीभ की सफाई अगर नहीं होगी, बच्चा जो दूध पीता है उसके मुंह से उसकी बदबू आएगी। ज्यादा समय जीभ साफ नहीं करने से शिशु की जीभ पर सफेद कोटिंग दिखाई देने लगती है। साथ ही जीभ साफ न करने से ओरल इन्फेक्शन और मसूड़ों से जुड़ी बीमारियों का खतरा भविष्य में बढ जाता है।

विशेषज्ञों का मानना है कि माता-पिता को लगता है कि शिशु के दूध के दांत निकल जाएंगे तो नए दांत आएंगे, ऐसे में शिशु की ओरल हाइजीन को नजरअंदाज करते हैं, लेकिन ओरल हाइजीन की नींव बचपन से ही पड़ जाती है। शिशु के मुंह में इन्फेक्शन, मुंह से बदबू और मसूड़ों की परेशानियां न बढ़ें, उसके लिए जीभ की सफाई जरूरी है।

Inside4_babytongue

इसे भी पढ़ें : दूध पिलाने के बाद शिशु को डकार दिलाने के आसान तरीके

शिशु की जीभ साफ कैसे करें?

शिशु की जीभ सफाई करने के लिए निम्न तरीके अपनाएं-

  • नई माताओं को अक्सर शिशु की जीभ साफ करने में दिक्कत होती है। शिशु की जीभ साफ करने के लिए सबसे पहले अपने हाथ साफ पानी से धो लें।
  • एक कॉटन का साफ कपड़ा पानी में भिगोकर अपनी तर्जनी उंगली में लपेटें।
  • इस कपड़े से शिशु की जीभ साफ करें। अपनी उंगली को जीभ पर रब करें। जीभ पर उंगली को गोल-गोल घुमाएं।
  • गीले कपड़े को पानी में डुबोकर 1-2 बार जीभ साफ करें। दिन में 1 बार जीभ साफ करना जरूरी है। 
  • शिशु की जीभ साफ करने के लिए फिंगर टूथब्रश या टंग क्लीनर डॉक्टर की सलाह से कर सकते हैं। अगर शिशु की जीभ पर सफेद कोटिंग है तो डॉक्टर को दिखाएं। 
  • जब तक शिशु के दांत नहीं आते हैं, तब तक आप उंगली से जीभ साफ कर सकते हैं। लेकिन दांत आने पर जब तक बच्चा टूथपेस्ट को थूकना न जान ले तब तक फ्लोराइड मुक्त टूथपेस्ट का प्रयोग करें। टूथपेस्ट का प्रयोग डॉक्टर की सलाह पर करें।

इसे भी पढ़ें : बच्चों को बोतल से दूध पिलाने से हो सकते हैं ये 5 नुकसान, जानें जरूरी सावधानियां

Inside6_babytongue

 जीभ की सफाई करते समय ध्यान रखें ये बातें-

  • शिशु की जीभ दिन में कम से कम 1 बार साफ करें।
  • जीभ साफ करते समय ध्यान रहे कि कपड़ा कॉटन का हो और साफ हो। साथ ही आपके हाथ के नाखून कटे हुए हों। 
  • जब भी आप शिशु की जीभ साफ करें तो उसे बातों में लगाएं, ताकि बच्चा जीभ साफ कराते समय रोए नहीं। खेल-खेल में जीभ साफ करा ले।
  • जिस कपड़े से बच्चे की जीभ साफ कर रहे हैं, उस एक ही कपड़े से बार-बार जीभ साफ न करें। कपड़ा बदलते रहें।
  • शिशु की जीभ साफ करने के बाद अपने हाथ साबुन से धोएं।
  • शिशु की हेल्दी ओरल हाइजीन के लिए शिशु की सही डाइट का ध्यान रखें। एक सही डाइट शिशु के दांत और मसूड़ों के लिए जरूरी है।

शिशु की जीभ की सफाई न करने से उसे बैक्टीरियल इंफेक्शन से लेकर मुंह में बदबू और मसूड़ों की कमजोरी की समस्या हो सकती है। कई बार सफेद कोटिंग भी होने लगती है। इन परेशानियों से निपटने के लिए आप शिशु की जीभ की सफाई सही तरीके से करें।   

Read More Articles on New Born Care in Hindi

Disclaimer