खाने-पीने की खराब आदतों की वजह से बच्चे पर पड़ सकता है ये असर

खानपान की खराब आदत के कारण बच्चे की सेहत बिगड़ सकती है। खाने में उन्हें ये चीजें बिल्कुल न दें। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Jul 06, 2022Updated at: Jul 06, 2022
खाने-पीने की खराब आदतों की वजह से बच्चे पर पड़ सकता है ये असर

बच्चों की सेहत के लिए उचित खानपान, नियमित व्यायाम और सही समय पर खाना बेहद जरूरी होता है। बच्चों की परवरिश के दौरान माता-पिता को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वे पढ़ाई-लिखाई के साथ इन बातों का भी ध्यान रखें। छोटे बच्चों में आजकल मोटापा, टाइप टू-डायबिटीज, अस्थमा, आंख व हृदय संबंधी रोग, थकान और जोड़ों में दर्द जैसी समस्याएं आमतौर पर देखने को मिल रही हैं। ये समस्याएं बच्चों की खानपान की गलत आदतों का नतीजा हो सकती है। दरअसल माता-पिता भी समय के अभाव में बच्चों को कई तरह की रेडी-टू-ईट भोजन खिलाते हैं। जिसकी वजह से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का डर रहता है। बाहर के जंक फूड, आइसक्रीम और चॉकलेट आदि के सेवन से बच्चे जितनी कैलोरी लेते हैं, वह उतनी कैलोरी पूरे दिन में इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। शारीरिक गतिविधियों के अभाव में ये चीजें शरीर को और अधिक नुकसान पहुंचा सकती है। इन चीजों से परहेज रखकर ही बच्चे स्वस्थ रह सकते हैं और खुद को भविष्य के लिए फिट बना सकते हैं। 

इन चीजों के कारण बिगड़ सकता है बच्चे का स्वास्थ्य 

1. जंक फूड

हम जैसे-जैसे आधुनिकता की ओर बढ़ रहे हैं। हमारे खाने-पीने का तरीका और चीजें भी बदलती जा रही है। इसका सबसे बुरा असर बच्चों पर पड़ सकता है। दरअसल बचपन से ही इस तरह की चीजों का सेवन करने से उनका इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है। साथ ही मोटापा, हृदय रोग और स्वास्थ्य संबंधी कई अन्य समस्याएं बच्चों को हो सकती है, जिससे वे बार-बार बीमार पड़ सकते हैं। 

eating-habits-kids

2. मसालेदार भोजन 

बचपन से ही बच्चों को बहुत अधिक मसालेदार और ऑयली खाना खाने को नहीं देना चाहिए क्योंकि इससे उनका पेट खराब हो सकता है। साथ ही पाचन तंत्र कमजोर हो सकता है। बच्चा एक्टिव तरीके से अपने काम भी नहीं कर पाता है और साथ ही उनमें कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने का डर रहता है। इसलिए अगर आप बच्चे को बाहर भी ले जाते हैं, तो उन्हें कम से कम ऑयली फूड खाने को दें। इसके अलावा ऐसी रूटीन बनाएं कि बच्चे को पूरे हफ्ते में एक ही बार पिज्जा, बर्गर या छोले-भटूरे खाने को दें। 

3. मीठे खाने से परहेज

बच्चों को चॉकलेट, आइसक्रीम और कैंडी खाना पंसद होता है। ये खाना दांतों में फंसने से बच्चे की ओरल हेल्थ खराब हो सकती है। अगर रात में बच्चा कोई भी मीठी चीज खा रहा है, तो कोशिश करें कि उन्हें ब्रश जरूर करवाएं क्योंकि ब्रश न करने से उनके मुंह में वो चीजें फंसी रहती हैं और दांत खराब होने का डर रहता है। उन्हें रात को हमेशा मुंह अच्छे से साफ करके सोने की आदत सिखाएं। 

इसे भी पढे़ं- बच्चों को खिलाने-पिलाने से जुड़े ये 5 मिथक हैं भारत में पॉपुलर, एक्सपर्ट से जानें इनकी सच्चाई

4. कोल्ड ड्रिंक्स 

बच्चों में कोल्ड ड्रिंक्स और अन्य तरह की खाने-पीने की चीजों को लेकर भी काफी क्रेज रहता है। वे जब भी पेरेंट्स के साथ बाहर जाते हैं। बच्चों का मन होता है कि वे बाहर कोल्ड ड्रिंक्स पिएं और अलग-अलग खाने-पीने की चीजें खाएं लेकिन इससे उनके दांत और सेहत पर असर पड़ सकता है। पेरेंट्स के तौर पर आपको उन्हें ये सिखाना चाहिए कि वे कोल्ड ड्रिंक्स की जगह फलों का रस पिएं ताकि उनका स्वास्थ्य भी अच्छा रहे। 

eating-habits-kids

5. चाय या कॉफी का सेवन

कई घरों में छोटे बच्चों को भी चाय पीने की आदत होती है। ये आदत घर के बड़ों के चाय पीने के कारण भी लग सकती है। आपको पता है कि चाय या कॉफी में कैफीन होता है। कैफीन के सेवन से बच्चे की नींद खराब हो सकती है और उनकी नींद बार-बार टूट सकती है। इससे उनकी सेहत और पढ़ाई पर असर पड़ सकता है।

(All Image Credit- Freepik.com)

Disclaimer