खराब ब्लड सर्कुलेशन से कैसे प्रभावित होती है त्वचा की खूबसूरती? डॉक्टर से जानें कारण और बचाव के टिप्स

खराब ब्लड आपकी त्वचा की खूबसूरती को प्रभावित कर सकता है। यहां डॉक्टर से जानें इससे बचाव के टिप्स के बारे में। 

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Jun 24, 2021Updated at: Jun 24, 2021
खराब ब्लड सर्कुलेशन से कैसे प्रभावित होती है त्वचा की खूबसूरती? डॉक्टर से जानें कारण और बचाव के टिप्स

शरीर में ब्लड सर्कुलेशन यानि रक्त प्रवाह सुचारू रूप से होना बेहद जरूरी होता है। अगर आपका ब्लड सर्कुलेशन अच्छा नहीं है तो आप कई समस्याओं के घेरे में आ सकते हैं। आमतौर पर ब्लड सर्कुलेशन खान- पान और गलत आदतों के चलते प्रभावित होता है। क्या आप जानते हैं कि आपकी शरीर में ऑक्सीजन और पोषक तत्वों  को आपका सर्कुलेटरी सिस्टम शरीर के अंगों तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाता है? क्या आप जानते हैं कि खराब ब्लड सर्कुलेशन आपकी त्वचा की खूबसूरती को भी प्रभावित कर सकता है? जी हां, यह सच है खराब ब्लड सर्कुलेशन आपको त्वचा संबंधी तमाम समस्याएं जैसे डार्क स्पॉट, एक्ने के साथ ही स्किन इलास्टिसिटी को भी प्रभावित कर सकता है। इसी विषय में विस्तार से जानने के लिए हमने गुरुग्राम के सी.के बिरला हॉस्पिटल के एस्थेटिक्स और प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के डॉक्टर अनमोल चुग (Dr. Anmol Chugh, Department of Aesthetics & Plastic Surgery, C.K Birla Hospital, Gurgaon) से बातचीत की। चलिए जानते हैं कि खराब ब्लड सर्कुलेशन कैसे त्वचा की खूबसूरती को प्रभावित करता है। 

acnee

1. एक्ने (Acne)

डॉ. अनमोल के मुताबिक शरीर में खराब ब्लड सर्कुलेशन होने से स्किन पर एक्ने यानि मुहासे हो सकते हैं। खासकर चेहरे पर एक्ने होने की सबसे ज़्यादा संभावना होती है। जब ब्लड पूरे शरीर मे अच्छे से सर्कुलेट नहीं हो पाता तो ज़रूरी ब्लड के साथ न्यूट्रिएंट्स भी हर बॉडी ऑर्गन तक नहीं पहुंच पाते हैं। जिसके परिणास्वरूप ऑर्गन्स अपना काम प्रभावी तरीके से नहीं कर पाते हैं और शरीर से टॉक्सीन नहीं निकाल पाते। इन्ही टॉक्सीन का जमाव एक्ने, रूखी और इचि स्किन को बढ़ावा देता है। 

इसे भी पढ़ें - कोविड के बीच कनाडा में देखे जा रहे हैं रहस्यमयी 'ब्रेन सिंड्रोम' के मामले, सामने आए 48 मामले, 6 की मौत

2. स्किन इलास्टिसिटी (Skin Elasticity)

हेल्दी और ग्लोइंग स्किन के लिए स्किन इलास्टिसिटी का बरकरार रहना बेहद ज़रूरी होता है। आमतौर पर स्किन इलास्टिसिटी उम्र बढ़ने के साथ-साथ घटती है। लेकिन खराब ब्लड सर्कुलेशन भी कई बार इसका कारण बन सकता है। स्किन इलास्टिसिटी जब ढीली पड़ने लगती है तो त्वचा रूखी और बेजान लगने लगती है। चेहरे पर रिंकल्स आने लगते हैं। खराब ब्लड सर्कुलेशन का सीधा असर स्किन इलास्टिसिटी पर भी पड़ता है। जब त्वचा को ब्लडस्ट्रीम से ऑक्सीजन नहीं मिलती तो स्किन अपनी एलास्टिसिटी खोने लगती है। त्वचा को ज़रूरी न्यूट्रिएंट्स ना मिलने के कारण कोलेजन प्रोडक्शन पर असर पड़ता है। हालांकि स्किन इलास्टिसिटी को वापस रीस्टोर भी किया जा सकता है। 

facedull

3. डल और पेल स्किन (Dull and Pale Skin)

जब आपकी शरीर में ब्लड सर्कुलेशन सुचारू रूप से नहीं होता तो कई बार त्वचा का रंग पीला भी पड़ने लगता है। ऐसा होने से आपकी त्वचा डल और पेल दिखने लगती है। जब शरीर में ठीक तरह से ब्लड सर्कुलेट नहीं होता है तो ऑक्सीजन की भी कमी होने लगती है। कुछ बॉडी ऑर्गंस तक ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा ट्रांसपोर्ट नहीं हो पाती है। इस कारण त्वचा का रंग हल्का पीला पड़ने लगता है। साथ ही आपकी त्वचा बेजान और रूखी लगती है।

darkspot

4. डार्क स्पॉट्स (Dark Spot)

डॉ. अनमोल के अनुसार डार्क स्पॉट्स होना या फिर यूं कहें कि स्किन डिस्कलरेशन होना भी खराब ब्लड सर्कुलेशन की वजह से होता है। ब्लड सर्कुलेशन के दौरान शरीर के विभिन्न अंगों को ऑक्सीजन मिलता है, जिससे वे अपना-अपना काम प्रभावी ढंग से करते हैं। जब ब्लड सर्कुलेशन में बाधा आने लगती है तो बॉडी ऑर्गन्स का ऑक्सीजन सप्लाई भी स्लो पड़ जाता है। परिणामस्वरूप स्किन डिस्कलरेशन होने लगती है और पिग्मेंटेशन के कारण स्किन पर डार्क स्पॉट्स बन जाते हैं। हालांकि डार्क स्पॉट को आसानी से ठीक किया जा सकता है। 

खराब ब्लड सर्कुलेशन के कारण (Causes  of Poor Blood Circulation) 

  • डायबिटीज भी कई बार आपके खराब ब्लड सर्कुलेशन का कारण बन सकती है 
  • मोटापा होने से भी ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित हो सकता है
  • शरीर में ब्लड क्लॉट यानि खून का जमाव होने से भी सर्कुलेशन पर असर पड़ सकता है

खराब ब्लड सर्कुलेशन के लक्षण (Symptoms of Poor Blood Circulation)

  • शरीर में सुस्ती आना और कमजोरी महसूस करना
  • मांशपेशियों मे दर्द उठना
  • हाथ पैर सुन्न हो जाना
  • हाथ पैर ठंडे हो जाना

खराब ब्लड सर्कुलेशन से बचाव के टिप्स (Tips to Prevent Poor Blood Circulation) 

fitness

1. योग और एक्सरसाइज (Yoga and Exercise)

योग और एक्सरसाइज हर किसी को करनी चाहिए। योग और एक्सरसाइज किसी भी समस्या का इलाज ही नहीं बल्कि बचाव भी होता है। योग और एक्सरसाइज करते समय हाथ पैरों मे मूवमेंट होती है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन मे सुधार आता है और ऑक्सीजन सप्लाई बेहतर स्तर पर होता है। पैदल चलने से भी आपका सर्कुलेशन काफी हद तक बेहतर रहता है। 

2. डाइट में सुधार (Improve Diet)

ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करने के लिए सबसे जरूरी अपनी डाइट में सुधार लाना होता है। ऐसे में आपको विटामिंस और मिनरल्स इंटेक पर ध्यान देना चाहिए। खराब ब्लड सर्कुलेशन को सुधारने के लिए विटामिन रिच डाइट बहुत ज़रूरी होती है। अगर आपका ब्लड सर्कुलेशन भी अनुचित है तो अपने आहार में विटामिन बी 3 नाइट्रेट आयरन एंटीऑक्सिडेंट्स ओमेगा 3 फैटी एसिड्स आदि को शामिल करने की कोशिश करें। शरीर को हाइड्रेटेड रखें। इससे आपके रक्त प्रवाह में सुधार होगा।

meditate

3. मेडिटेशन करें (Meditation)

मेडिटेशन करने से भी आपका ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है। हालांकि ब्लड सर्कुलेशन में खराबी आने की वजह काफी हद तक स्ट्रेस को भी माना जा सकता है। स्ट्रेस शरीर की बहुत सारी परेशानियों की जड़ है। स्ट्रेस से ब्लड सर्कुलेशन के साथ-साथ हृदय रोग और पाचन तंत्र पर बुरा असर पड़ता है। इससे आपको स्ट्रोक का खतरा, रिंकल्स और डिप्रेशन का खतरा भी बढ़ जाता है। स्ट्रेस कम करने से ब्लड प्रेशर रेगुलेट होता है, जिससे सर्कुलेशन में सुधर आता है। स्ट्रेस कम करने के लिए आप मेडिटेशन कर सकते हैं। मेडिटेशन बहुत ही फायदेमंद होता है। स्ट्रेस नींद ना आना डिप्रेशन आदि जैसी समस्याओं में मेडिटेशन बहुत मददगार होता है। 

इसे भी पढ़ें - क्या कोविड-19 के कारण पुरुषों में हो सकती है इंफर्टिलिटी की समस्या? जानें एक्सपर्ट की राय

4. बुरी आदतों को छोड़े (Quit Bad Habits)

अगर आप अपने ब्लड सर्कुलेशन में सुधार लाना चाहते हैं तो आपको तुरंत ही बुरी आदतों को छोड़ना होगा। शराब का सेवन और धूम्रपान से ब्लड सर्कलेशन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। शराब और सिगरेट से ब्लड वेसल्स पतली होने लगती हैं, जिससे खून का संचार कम होने लगता है। केवल इतना ही नहीं इन बुरी आदतों से हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है।

यह लेख चिकित्सक द्वारा प्रमाणित है। इस लेख में दी गई टिप्स से आप अपने खराब ब्लड सर्कुलेशन में सुधार ला सकते हैं। 

Read more Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer