Tooth Decay: 'दांतों की सड़न' को दूर करने के लिए अपनाएं ये 6 घरेलू उपचार

दांतों मे ंसड़न हो जाने या कैविटी हो जानें पर डॉक्टर के पास जानें से पहले यहां दिए कुछ घरेलू उपायों को अपनाएं और इस समस्या को दूर करें।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Mar 31, 2021Updated at: Mar 31, 2021
Tooth Decay: 'दांतों की सड़न' को दूर करने के लिए अपनाएं ये 6 घरेलू उपचार

कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थ, जिनमें शुगर और स्टार्च जैसे केक, कैंडी, दूध, ब्रेड, सोडा आदि शामिल होते हैं, को खाने के बाद जो लोग ब्रश नहीं करते हैं तो उनके दांतों में सड़न (tooth decay) जैसी समस्या पैदा हो जाती है। इस सड़न के कारण दांतों की समस्या पर भी काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। लेकिन क्या इस समस्या के लिए डॉक्टर के पास जाना ही जरूरी है? नहीं, आप घर पर रहकर भी दांतों की सड़न की समस्या का हल निकाल सकते हैं। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज  हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि दांतों की सड़न को रोकने के लिए घरेलू उपाय (home remedies for tooth decay) क्या हैं? आप कैसे घर बैठे इस समस्या को दूर कर सकते हैं? पढ़ते हैं आगे....

1 - दांतों की सड़न के लिए आयुर्वेदिक जड़ी बूटी

बता दें कि आयुर्वेदिक जड़ी बूटी मुलैठी के उपयोग से आप दांतों की सड़न को दूर कर सकते हैं। मुलैठी के अंदर एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं जो ना केवल दांतों की सड़न को दूर करती हैं बल्कि दर्द जैसी समस्या से भी छुटकारा दिलाती हैं। ऐसे में मौखिक स्वास्थ्य को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो आप एक बार मुलैठी का उपयोग करें।

2 - नीम की डंडी से दांतों की सड़न हो दूर

बता दें कि दांतों को साफ स्वच्छ बनाने के लिए नीम की डंडी भी बेहद उपयोगी है। कुछ लोग नीम की डंडी से दातुन करते हैं। ऐसा करने से ना केवल मसूड़ों को मजबूती मिलती है बल्कि दांतों के चबाने की क्षमता भी बढ़ती है। प्लांट कंपाउंड रिलीज होना शुरू हो जाता है वह कंपाउंड दांतो की सड़न से लड़ने में मदद करता है। साथ ही दांतों को स्वस्थ भी रखता है। नीम की डंडी के अंदर भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जिसके कारण दांतों से प्लाक दूर रहता है। कई जगह ऐसी है जहां पर लोग नीम की डंडी का अरेंजमेंट नहीं कर पाते हैं ऐसे में वे लोग नीम के तेल के उपयोग से भी अपने दांतों को स्वस्थ बना सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- Food Poisoning: यहां जानें फूड पॉइजनिंग के 15 लक्षण, कारण और उपचार

3 - एलोवेरा है दांतों की सड़न को रोकने में मददगार

बता दें कि एलोवेरा जूस कैविटी को दूर करने  के साथ-साथ सड़न को भी दूर कर सकता है। एलोवेरा जेल के अंदर जीवाणुरोधी यानी एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो मुंह में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को जड़ से खत्म कर देते हैं। ऐसे में दर्द, मसूड़ों की सूजन, मसूड़ों की कमजोरी आदि को दूर करने के लिए एलोवेरा जूस का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आपको ब्रश करने के बाद एलोवेरा को मुंह में रखकर बाएं से दाएं गाल की तरफ ले जाना होगा। इस प्रक्रिया को दौहराने के बाद उसका कुल्ला करना होगा। ऐसा करने से समस्या खुद-ब-खुद ठीक हो जाएगी।

4 - फाइबर युक्त फल सब्जियों को जोड़ें अपनी डाइट में

ध्यान दें कि अगर आप अपनी डाइट में फाइबर युक्त आहार को जोड़ते हैं तो ऐसे करने से ना केवल दांतों को मजबूती मिलती है बल्कि सड़न जैसी समस्या भी दूर हो जाती है। ऐसे में आप किसी एक्सपर्ट की मदद लेकर उन चीजों को अपनी डाइट में जोड़ें, जिनके अंदर भरपूर मात्रा में फाइबर मौजूद है। ऐसे इसलिए क्योंकि फाइबर युक्त आहार का सेवन करने से मुंह में लार बनना शुरू हो जाता है। और मुंह मौखिक समस्याओं से दूर रहता है।

इसे भी पढ़ें- त्वचा, दांत और बालों की परेशानियों से निजात दिलाए बबूल, आयुर्वेदाचार्य से जानें इसके 9 स्वास्थ्य लाभ

5 - लौंग के तेल से दांतों की सड़न हो दूर

ध्यान दें कि लौंग का तेल को भी घरेलू नुस्खे के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके उपयोग से ना केवल दातों का दर्द दूर होता है बल्कि सड़न की समस्या भी दूर हो जाती है। ऐसे में आप लौंग के तेल का उपयोग एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरिया, एंटीफंगल के रूप में कर सकते हैं। यह न केवल मसूड़ों को साफ रखता है बल्कि स्वस्थ भी बनाए रखता है 

6 - करें दातों की एक्सरसाइज

कुछ एक्सरसाइज ऐसी होती हैं जिन्हें करने की दांतों की सड़न दूर हो जाती है। इन सब्जियों में सेब, खीरा, गाजर आदि आते हैं। इन सब्जियों को खाने पर दांतों को अधिक मेहनत करनी पड़ती है ऐसा करने से ना केवल दांतों को मजबूती मिलती है बल्कि दातों का मैल भी खत्म हो जाता है। ऐसे में आप अपनी डाइट में इन सब चीजों को जरूर शामिल करें।

नोट -  ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि आप घरेलू उपाय की मदद से भी अपने दांतो की सड़न की समस्या को दूर कर सकते हैं। इसके अलावा अगर आपको ऊपर ही किसी भी चीज से एलर्जी है तो उसका उपयोग अपने दांतों पर ना करें। अगर दांतों की सड़न की समस्या दूर नहीं होती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि ऐसा ना करने से दांत टूटने शुरू हो जाते हैं या कमजोर होने शुरू हो जाते हैं।

Read More Articles on Home remedies in Hindi

Disclaimer