सेहत की थाली: होली में मालपुआ और खीर कहीं बढ़ा न दे आपका वजन, खाने से पहले जानें इनकी न्यूट्रिशनल वैल्यू

होली के मौके पर मालपुआ और खीर लगभग सभी के घरों में बनाया जाता है। इस स्वादिष्ट डिश को खाने से पहले इसकी न्यूट्रीएंट वैल्यू जरूर जानें।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Mar 18, 2021Updated at: Mar 24, 2021
सेहत की थाली: होली में मालपुआ और खीर कहीं बढ़ा न दे आपका वजन, खाने से पहले जानें इनकी न्यूट्रिशनल वैल्यू

होली (Holi) खुशियों और रंगों से भरा त्यौहार है। इस मौके पर हम सभी के घरों में तरह-तरह के डिशेज बनते हैं। होली के अवसर पर कई लोगों के घरों में मालपुआ और खीर जरूर बनता है। खासतौर पर बिहार, उत्तरप्रदेश, झारखंड और बंगाल जैसे राज्यों में होली के मौके पर खीर और मालपुआ बनाने की परंपरा है। खीर और मालपुआ का स्वाद बहुत ही (Holi 2021) लाजबाव होता है। अधिकतर लोगों के घरों में मैदे से मालपुआ तैयार किया जाता है। मैदे से तैयार मालपुआ स्वाद में भले ही बेहतरीन हो, लेकिन सेहत की दृष्टि से यह हमारे लिए अधिक फायदेमंद नहीं होता है। डायट मंत्रा क्लीनिक की डायटीशियन बताती हैं कि मैदे से तैयार मालपुआ को आप अपने छोटे बच्चों को नहीं खिला सकती हैं। लेकिन इसलिए आप हेल्दी तरीके से भी मालपुआ घर में तैयार कर सकते हैं। यह मालपुआ आप अपने घर के छोटे बच्चों और बुजुर्गों को भी खिला सकते हैं। चलिए डायटीशियन से जानते हैं1 प्लेट मालपुआ और खीर में मौजूद (Nutritional Value of Kheer and Malpua) पोषक तत्वों के बारे में

1 कटोरी चावल के खीर में मौजूद न्यूट्रीएंट (nutritional value of Kheer)

डायटीशियन के अनुसार, 1 कटोरी खीर जो 15 ग्राम चावल, 250 ग्राम दूध और 10 ग्राम चीनी से मिलकर तैयार हुआ हो, उसमें मौजूद पोषक तत्व-

  • एनर्जी (कैलोरी) - 384.2
  • प्रोटीन - 11.88
  • फैट - 16.4

4 मध्यम आकार के मैदे से बने डीप फ्राई मालपुए में मौजूद न्यूट्रीएंट (Nutritional value of refined flour Malpua)

डायटीशियन कामीनी कुमारी बताती हैं कि मैदे तैयार 4 मध्यम आकार के मालपुए (जिसमें मैदा 100 ग्राम, गुड़ 40 ग्राम, 1 केला और तेल 100 ग्राम का होगा।) उसमें मौजूद कैलोरी निम्न है -

  • एनर्जी (कैलोरी) - 1507
  • प्रोटीन (ग्राम) - 12.36
  • फैट - 101.24
  • पोटैशियम - 88
 

डायटीशियन कामिनी बताती हैं कि मैदे से तैयार मालपुआ का सेवन नुकसानदेय हो सकता है। इससे डीप फ्राई मालपुआ आपका वजन बढ़ा सकता है। साथ ही अगर आप अधिक मात्रा में इसका सेवन करते हैं, तो इससे गैस, एसिडिटी जैसी परेशानियां भी बढ़ सकती हैं। इसलिए आप चाहें, तो खुद को और अपने परिवार को हेल्दी बनाए रखने के लिए रोस्टेड मालपुा बना सकती हैं। इसमें आपको मैदा के बजाय गेंहू और चीनी के बजाय गुड़ का इस्तेमाल करना होगा। यह स्वाद और सेहत की दृष्टि से काफी फायदेमंद हो सकता है। आइए जानते हैं टेस्टी और हेल्दी मालपुआ बनाने की विधि- 

होली पर बनाएं हेल्दी रोस्टेड मालपुआ (How to Make Roasted Malpua)

  • 4 मध्यम आकार का मालपुआ बनाने के लिए 100 ग्राम बाउल में आटा लें।
  • इसमें 40 ग्राम गुड़ डालें। 
  • अब इसमें एक केला मसलकर डालें।
  • अब इसे अच्छे से गूंदे।
  • इसमें आवश्यकतानुसार दूध मिलाएं।
  • सभी चीजों को अच्छे से मिक्स करें और ध्यान रहे कि इसमें गांठ न बनें।
  • स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें 2-3 इलायची कूटकर डाल सकते हैं।
  • अब इस तैयार मिश्रण को तवा पर चीले की तरह पकाएं।

4 मध्यम आकार के आटे से बने मालपुए में मौजूद न्यूट्रीएंट (Nutritional Value Wheat flour Roasted Malpua)

डायटीशियन कामीनी कुमारी बताती हैं कि गेंहू और गुड़ से तैयार 4 मध्यम आकार के रोस्टेड मालपुए (जिसमें गेंहू आटा 100 ग्राम, गुड़ 40 ग्राम, तेल - 20 ग्राम और 1 केला) उसकी न्यूट्रीएंट वैल्यू निम्न हो सकती है -  

  • एनर्जी (कैलोरीज) - 780
  • प्रोटीन (ग्राम) - 13.46
  • फैट - 22.04
  • पोटैशियम - 88

रोस्टेड मालपुआ के फायदे (Benefits of Roasted Malpua)

डायटीशियन कामिनी के मुताबिक, मालपुआ को आप डीप फ्राई करने के बजाय रोस्ट करें। यह आपके लिए बहुत ही हेल्दी साबित हो सकता है। साथ ही इसका सेवन हर उम्र के लोगोंं द्वारा की जा सकती हैं। इसके सेवन से शरीर को कई लाभ होते हैं। वहीं, अगर आप मालपुआ बनाने के लिए मैदा का इस्तेमाल करते हैं, तो यह बच्चों को नहीं दे सकते हैं।

  • रोस्टेड मालपुआ को अपने छोटे बच्चों को भी खिला सकती हैं।
  • इसमें गुड़ होने के कारण ये मालपुआ आयरन से भरपूर होता है।
  • इससे हीमोग्लोबिन की कमी नहीं होगी। 
  • इस रोस्टेड मालपुआ को खाने से इम्यूनिटी बूस्ट होगी।
  • गुड़ में एंटी-ऑक्सीडेंट होता है, सर्दी-खांसी की परेशानी से बचाव करने में सहायक है।
  • इसमें मौजूद केला पोटेशियम का अच्छा स्त्रोत है। 
  • गेंहू से आपके शरीर को फायबर मिलता है।
  • बच्चों की हड्डियों को कर सकता है मजबूत।
  • पेट की समस्या से राहत।

खीर खाने के फायदे (Health Benefits of Kheer)

  • दूध में लैक्टिक नामक अम्ल पाया जाता है। वहीं, चावल स्टार्च से भरपूर। इन दोनों तत्वों का सीमित मात्रा में सेवन करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। 
  • इसके अलावा कई लोग खीर में मेवा मिलाते हैं। खीर में मौजूद मेवा सेहत की दृष्टि से काफी फायदेमंद है।

मैदा खाने के नुकसान

मैदा को सफेद जहर माना जाता है। इसके सेवन से आपके शरीर को फायदा कम और नुकसान ज्यादा हो सकता है। इसलिए कोशिश करें कि अपने खाने में कम से कम मैदे से बनी चीजों को शामिल करें। इससे आपका और आपके परिवार का स्वास्थ्य बेहतर होगा। मैदा का सेवन अधिक करने से आपको निम्न परेशानी हो सकती है -

  • बढ़ सकती है डायबिटीज की समस्या
  • कोलेस्ट्रॉल लेवल पर पड़ सकता है असर
  • एसिडिटी की बढ़ सकती है परेशानी
  • अपच का कारण बन सकता है मैदा
  • इसके अलावा कुछ लोगों को मैदा खाने से एलर्जी होती है। 

न्यूट्रीएंट वैल्यू देखकर आप समझ गए होंगे कि आपके स्वास्ध्य के लिए कौन सा मालपुआ बेहतर होगा। अपने सेहत को देखते हुए आप इन दोनों मालपुआ में से किसी को भी अपने प्लेट में शामिल कर सकते हैं। लेकिन उससे पहले इसके पोषक तत्वों के बारे में जरूर जान लें। अपने बेहतर स्वास्थ्य के लिए अच्छा विकल्प चुनना ही आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है।

Read more articles on Healthy Diet in Hindi 

 

Disclaimer