पसीना भी बन सकता है फुंसी और मुंहासों का कारण, जानें इसके बारे में

अंडरआर्म्‍स में होने वाले मुहांसे हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा के लक्षण हो सकते हैं। ये काफी दर्दनाक होते हैं इसलिए इसका इलाज जरूरी है।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Jan 03, 2023 19:58 IST
पसीना भी बन सकता है फुंसी और मुंहासों का कारण, जानें इसके बारे में

अंडरआर्म्स और घुटने के पीछे पसीने से होने वाले मुहांसे हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा का संकेत हो सकते हैं। ये एक ऐसी स्थिति है जिसमें मुहांसों में पस हो सकता है। हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा सामान्‍य तौर पर तब होता है, जब आपके बालों के फॉलिकल बंद हो जाते हैं या डेड सेल्‍स के कारण सूज जाते हैं। इसे आम भाषा में एक्‍ने इनवर्सा के नाम से भी जाना जाता है। इनसे इंफेक्‍शन हो सकता है और इनके खुलने पर खराब गंध आ सकती है। हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा स्किन पर निशान भी छोड़ सकते हैं इसलिए इनकी विशेष देखरेख करनी आवश्‍यक है। हालांकि इसका कोई इलाज नहीं है लेकिन घरेलू उपचार और हेल्‍दी लाइफस्‍टाइल से राहत मिल सकती है।

हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा के कारण

एक्‍सपर्ट्स के मुताबिक हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा होने के पीछे क्‍या कारण है इसकी पुष्टि नहीं की जा सकती लेकिन ये व्‍यक्ति की जीन और आसपास के वातावरण से संबंधित समस्‍या हो सकती है। ये पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को अधिक होती है। जिन लोगों का वजन अधिक है, स्‍मोकिंग करते हैं या अधिक मुंहासे हैं, उन्‍हें ये समस्‍या होने की संभावना बढ़ जाती है। ये समस्‍या तब शुरू होती है, जब बालों के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं। आमतौर पर ये मुंहासे टीनएज या 20 वर्ष की उम्र में नजर आते हैं। अंडरआर्म्‍स शेव करने और डिओडोरेंट्स का अधिक प्रयोग करने से भी हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा की समस्‍या हो सकती है। ये इंफेक्‍शन एक से दूसरे व्‍यक्ति में नहीं फैलता। 

इसे भी पढ़ें- पसीने के कारण अंडरआर्म्स में स्किन इंफेक्शन का है खतरा, इन बातों का ध्यान रखें और बरतें सावधानी

हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा के लक्षण

हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा आमतौर पर दोनों अंडरआर्म्‍स को प्रभावित करता है। हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा एक ही स्‍थान पर कई सारे हो सकते हैं। ये एक दर्दनाक समस्‍या है जिसमें सूजन भी हो सकती है। कई मामलों में ये समस्‍या महीनों तक चल सकती है। कई बार मुंहासे एक ही जगह पर बार-बार उभर सकते हैं, जो स्किन को अधिक डैमेज कर सकते हैं। दानों में पस के अलावा खुजली भी हो सकती है। स्किन पर ब्‍लैकहेड्स वाले छोटे-छोटे गड्ढे हो सकते हैं। कई बार मुंहासों की वजह से स्किन में गड्ढे हो जाते हैं, जिन्‍हें साइनस ट्रैक्‍स कहा जाता है। ये समस्‍या अंडरआर्म्‍स, कमर के नीचे, जांघों के बीच में, ब्रेस्‍ट के नीचे या गर्दन के पिछले हिस्‍से पर दिखाई दे सकती है। 

pimples due to sweat

क्‍या है हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा का इलाज

इसका इलाज केस की गंभीरता के अनुसार किया जाता है। हालांकि इसका कोई प्रॉपर ट्रीटमेंट नहीं है लेकिन घरेलू उपचार द्वारा इसे ठीक किया जा सकता है। 

पेन किलर

मुहांसों में अधिक दर्द या सूजन होने पर पेन किलर का प्रयोग किया जा सकता है। दर्द के लिए एस्पिरिन, आइबुप्रोफेन, नेपरोक्‍सन और एंटीबायोटिक्‍स का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा क्रीम, वॉश, मलहम या जेल का उपयोग भी फायदेमंद हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें- क्या आप करते हैं अंडरआर्म्स (कांख) की सही साफ-सफाई? इन 5 तरीकों से करें इसकी सही देखभाल

वॉर्म कंप्रेस

एक छोटी टॉवल को गर्म पानी में भिगोकर प्रभावित क्षेत्र पर 10 मिनट के लिए लगाएं। इससे स्किन को क्‍लीन करने और दर्द को कम करने में मदद मिलेगी।

डॉक्‍टर से करें संपर्क

हिड्राडेनाइटिस सुप्‍युराटाईवा की समस्‍या होने पर खुद से इलाज न करें बल्कि डॉक्‍टर से सलाह लेना जरूरी है। कई बार ये समस्‍या बढ़कर गंभीर रूप भी ले सकती है।

Disclaimer