Expert

प्रेगनेंसी में कौन से हर्ब्स (जड़ी-बूटियां) का इस्तेमाल सुरक्षित है और कौन से नहीं? जानें एक्सपर्ट से

प्रेग्नेंसी के दौरान किसी भी हर्ब्स का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें। ताकि प्रेग्नेंसी में किसी तरह की परेशानी उत्पन्न न हो। 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Apr 13, 2022Updated at: Apr 13, 2022
प्रेगनेंसी में कौन से हर्ब्स (जड़ी-बूटियां) का इस्तेमाल सुरक्षित है और कौन से नहीं? जानें एक्सपर्ट से

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपने स्वास्थ्य के प्रति काफी सतर्कता बरतने की जरूरत होती है। इस समय आप क्या खा रहे हैं और क्या नहीं ले रहे हैं, इस बात पर खास ध्यान देना बहुत ही जरूरी होता है। ताकि आप और आपका बच्चा सुरक्षित हो सके। हम में से कई लोग आयुर्वेदिक हर्ब्स को सुरक्षित मानते हैं। लेकिन क्या प्रेग्नेंसी में सभी तरह का हर्ब्स शरीर के लिए सुरक्षित माना जाता है? दरअसल, प्राकृतिक चीजों से शरीर को नुकसान पहुंचने का खतरा काफी कम होता है। इसलिए हम प्रेग्नेंसी में भी आयुर्वेदिक हर्ब्स को नुकसानदेय नहीं मानते हैं। लेकिन आपको बता दें कि भले ही आयुर्वेदिक हर्ब्स का साइड-इफेक्ट कम होता है, लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान इन हर्ब्स का सेवन करने से पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लेनी चाहिए। ताकि आप गर्भावस्था में होने वाले किसी भी तरह के खतरे से बच सकें।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

गाजियाबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी का कहना है कि प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई हार्मोनल बदलाव देखने को मिलते हैं। इस दौरान महिलाओं का स्ट्रेस लेवल काफी हाई होता है। वहीं, इम्यूनिटी काफी वीक होती है। इसलिए प्रेग्नेंसी में महिलाओं को इम्यूनिटी बूस्ट करने वाले हर्ब्स का सेवन करने की सलाह दी जाती है। हालांकि, इन हर्ब्स का सेवन महिलाओं को सीमित मात्रा में करने की जरूरत होती है। दरअसल, कई ऐसे आयुर्वेदिक हर्ब्स हैं, जो शरीर में गर्म तासीर की होती है। ऐसे में अधिक मात्रा में इनका सेवन करने से गर्भवती महिलाओं को नुकसान हो सकता है। इसलिए प्रेग्नेंसी में किसी भी आयुर्वेदिक हर्ब्स का सेवन करने से पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें।

प्रेग्नेंसी में किस तरह का हर्ब्स लिया जा सकता है?

एक्सपर्ट का कहना है कि प्रेग्नेंसी में किसी भी तरह का हर्ब्स लेने से पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। हालांकि, कुछ हर्ब्स का सेवन आप हल्की-फुल्की मात्रा में कर सकते हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में-

इसे भी पढ़ें - ब्लड प्रेशर में तुलसी है बहुत फायदेमंद, जानें बीपी के मरीजों को कैसे करना चाहिए सेवन

तुलसी - गर्भावस्था के दौरान इम्यूनिटी काफी कमजोर होती है। इस अवस्था में आप तुलसी का सेवन कर सकते हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान तुलसी की चाय का सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए हेल्दी हो सकती है। हालांकि, इसका सेवन सीमित मात्रा में करें।

पुदीना - पुदीना काफी ठंडा माना जाता है। प्रेग्नेंसी में आप पुदीने की पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते हैं। खासतौर पर गर्मी के सीजन में पुदीने की चाय, शरबत इत्यादि का सेवन गर्भावस्था में किया जा सकता है। 

नीलगिरी - आयुर्वेदिक एक्सपर्ट की सलाह पर कॉमन कोल्ड जैसी परेशानी को ठीक करने के लिए आप नीलगिरी का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह माइग्रेन, सिर में दर्द इत्यादि को दूर करने में भी प्रभावी होता है। 

डंडेलियन - प्रेग्नेंसी में आप डंडेलियन हर्ब्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह गर्भावस्था के दौरान होने वाले वाटर रिटेंशन को दूर कर सकता है। साथ ही इससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। आयुर्वेदिक एक्सपर्ट की सलाह पर आप इसका सेवन नियमित रूप से कर सकते हैं।

इसके अलावा आप कई अन्य आयुर्वेदिक हर्ब्स जैसे- क्रेनबेरी, अदरक, हल्दी, लैवेंडर इत्यादि आयुर्वेदिक हर्ब्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

प्रेग्नेंसी में किन आयुर्वेदिक हर्ब्स का न करें इस्तेमाल?

प्रेग्नेंसी में एक्सपर्ट कई तरह के आयुर्वेदिक हर्ब्स का सेवन न करने की सलाह देते हैं। इन आयुर्वेदिक हर्ब्स में जिनसेंग, गुलहड़ की पत्तियां और फूल, रोजमेरी, डोंग क्वाई इत्यादि शामिल है।

इसे भी पढ़ें - डायबिटीज में चीनी की जगह Stevia (मीठी तुलसी) का प्रयोग कितना सुरक्षित है? जानें एक्सपर्ट से

प्रेग्नेंसी में किसी भी तरह का हर्ब्स लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें। वहीं, ध्यान रखें कि किसी भी आयुर्वेदिक हर्ब्स का अधिक मात्रा में सेवन न करें। इससे आपके स्वास्थ्य को नुकसान हो सकता है। 

 

 

Disclaimer