ककोड़ा (कंटोला) की सब्जी, फल और जूस का सेवन है बहुत फायदेमंद, जानें इसके उपयोग के 10 फायदे

ककोड़ा या कंटोला की सब्जी में ढेर सारे पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके सेवन से आपको 10 फायदे मिलते हैं।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Apr 01, 2021Updated at: Apr 01, 2021
ककोड़ा (कंटोला) की सब्जी, फल और जूस का सेवन है बहुत फायदेमंद, जानें इसके उपयोग के 10 फायदे

मानसून में मिलने वाला फल ककोड़ा के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। यह दुनिया का सबसे शक्तिशाली फल माना जाता है। यह भारत के हर हिस्से में उपलब्ध है। यह एक मौसमी फल है। इसकी खेती अधिकतम पहाड़ी ज़मीन पर की जाती है। ककोड़ा को स्थानीय भाषा में कंटोला के नाम से भी जाना जाता है। ककोड़ा को ज़्यादातर सब्ज़ी के रूप में खाया जाता है। ककोडा की सब्ज़ी और साग बहुत ही स्वादिष्ट बनती है। ककोड़ा दिखने में हरे रंग का होता है। यह बिल्कुल करेले के समान दिखता है, लेकिन यह आकार में छोटा होता है। बाहर से एकदम अजीब और नुकीला दिखने वाला ये फल अंदर से बहुत मीठा होता है। इसी कारण ककोड़ा को मीठा करेला भी कहा जाता है। इसे अलग-अलग जगहों पर कई नामों से जाना जाता है जैसे ककोड़ा, कंटोला, ककोरा आदि। ककोड़ा में अद्भुत औषधीय गुण पाए जाते हैं। आयुर्वेद में ककोड़ा को एक औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है।

ककोड़ा से बनी औषधि श्वास प्रणाली समंधी रोग, मूत्र विकार, बुखार, सूजन आदि में बहुत उपयोगी मानी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि ककोड़ा सांप के काटने पर इस्तेमाल किए जाने पर बहुत लाभकारी होता है। इसके प्रयोग से सांप ज़हर को भी शरीर से निकाला जा सकता है। ककोड़ा की पत्तियों से बना लेप घाव भरने और दर्द से राहत दिलाने में बहुत लाभकारी होता है। इस फल के बीज को भी हम अपने आहार में शामिल कर सकते है। ककोड़ा फल से बने जूस का सेवन करने से शरीर को ठंडक मिलती है और साथ ही इसमें मौजूद पौषक तत्व भी शरीर में अवशोषित होते हैं। मॉनसून में ककोड़ा का सेवन करने से शरीर अधिक मजबूत और दृढ़ बन जाता है। बारिश के मौसम में ककोड़ा को अपने आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा ज़रूर बनना चाहिए। आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं ककोड़ा खाने से होने वाले कुछ अद्भुत फायदों के बारे में। 

weight

वज़न कम करने में सहायक (Reduces Weight)

जो लोग अपने बढ़ते वज़न से परेशान हैं और वज़न घटाना चाहते हैं, उन्हें तो ककोड़ा का सेवन अवश्य करना चाहिए। ककोडा में पानी की मात्रा सबसे अधिक होती है, जो वज़न कम करने में बहुत उपयोगी होता है। अगर आप भी अपना वज़न घटाना चाहते हैं तो इसका सेवन करना शुरू कर दें। ककोडा आपके लिए एक चमत्कारी आहार बन सकता है। 

इसे भी पढ़ें - बर्गमोट के फल और तेल दोनों में होते हैं औषधीय गुण, जानें इनके प्रयोग का तरीके और फायदे

बीपी को करे नियंत्रित (Controls Blood Pressure)

ककोड़ा का सेवन करने से हाई बीपी से ग्रस्त लोगों को बहुत फायदे होंगे। ककोडा में हाई फाइबर होने से यह बीपी की समस्या को दूर कर देता है। इसमें मौजूद फाइबर ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है और साथ ही हृदय संबंधित बाकी रोगों को भी खत्म कर देता है।

मधुमेह विरोधी (Anti-Diabetic) 

ककोडा का बरसाती मौसम में नियमित रूप से सेवन करने से मधुमेह के रोगियों को अधिक लाभ होता है। इसमें मौजूद फाइटो-पोषक तत्‍व, पॉलीपेप्‍टाइड-पी शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित रखते है। फाइबर और पानी की मात्रा अधिक होने की वजह से ककोड़ा मधुमेह विरोधक है। मधुमेह के रोगियों को निश्चित तौर पर इसका सेवन करना चाहिए। 

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए (Boosts Immunity)

ककोड़ा में मौजूद एस्कार्बिक एसिड यानी विटामिन-सी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ावा देता है। विटामिन सी शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाएं बढ़ाने में योगदान देता है। यही श्वेत रक्त कोशिकाएं (White Blood Cells ) शरीर को इंफेक्शन और वायरस से बचाती हैं। इसलिए सलाह दी जाती है कि मॉनसून आने पर ककोडा का जूस या इसका सब्ज़ी के रूप में सेवन ज़रूर करें। 

skin

त्वचा के लिए लाभकारी (Good for Skin)

ककोड़ा का रोज़ाना सेवन करने से चेहरे पर झुर्रियां, स्किन में ढीलापन, माथे पर रेखाएं जल्दी नहीं आती। आज के प्रदूषण और दूषित खान-पान के कारण उम्र से पहले ही शरीर ढीला पड़ने लगता है। ऐसे में ककोडा का सेवन करने से स्किन के अंदर मौजूद कोलेजेन टाइट और मजबूत बनते हैं। जिससे त्वचा एक साथ दृढ़ रहती है। इसलिए ककोडा को एक एंटी एजिंग फल माना गया है। 

इसे भी पढ़ें - सेना की पत्तियों दूर करती हैं लिवर और पेट की कई समस्याएं, जानें इसके अन्य फायदे और प्रयोग का तरीका

शरीर को बनाए मजबूत (Makes Body Stronger)

शरीर की मजबूती के लिए ककोडा को एक शक्तिशाली फल माना गया है। प्रोटीन की मात्रा में अधिक होने के कारण ककोडा को मांसपेशियों के विकास के लिए बहुत लाभकारी बताया गया है। प्रोटीन शरीर के बिल्डिंग ब्लॉक्स होते हैं। काकोडा में मौजूद प्रोटीन से किसी भी चोट से जल्दी उभरने की क्षमता मिलती है। साथ ही यह शरीर को अदभुत ऊर्जा प्रदान करता है।

stomach

पाचक तंत्र को रखे स्वस्थ (Keep Digestive System Healthy) 

ककोडा के पौष्टिक तत्व पाचक तंत्र को स्वस्थ रखते हैं। कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन, और मॉइश्चर यानी पानी की मात्रा अधिक होने के कारण काकोडा के सेवन से खाना पचाने में आसानी होती है। इसके सेवन से हमारा पेट स्वस्थ और हल्का रहता है। अगर आप भी पेट की समस्या से परेशान हैं तो मॉनसून में ककोडा खाना ना भूलें। 

आंखो के लिए लाभदायक (Good for Eye)

ककोडा में थियामाइन यानी विटामिन-बी होता है, जो आंखो के लिए एक ज़रूरी न्यूट्रिएंट होता है। अगर शरीर में विटामिन बी की पूर्ति ना हो तो इससे ऑप्टिक नर्व पर असर पड़ता है। आंखे खराब होने की संभावना होती है। इसलिए ककोडा का सेवन करना आंखो के लिए ज़रूरी माना जाता है। साथ ही इसमें विटामिन ए भी पाया जाता है जो आंखो के लिए बहुत फायदेमंद है।

पथरी और बवासीर के लिए उपयोगी (Useful for Piles and Stones)

ककोड़ा पाउडर के रूप में भी खाना पसंद किया जाता है। इसके पाउडर में कई गुण होते हैं। ककोड़ा से बना पाउडर आपको बवासीर और पथरी जैसी समस्याओं से मुक्ति दिलाने की क्षमता रखता है। ककोड़ा का पाउडर तैयार कर के रोज़ाना दूध या पानी के साथ सेवन करें। यह पाउडर खांसी ज़ुकाम में भी फायदेमंद साबित होता है। इसका सेवन आप बुखार आने पर भी कर सकते हैं। यह पूरी तरह से प्राकृतिक है।

कैंसर से बचाता है काकोड़ा (Prevents From Cancer)

ककोड़ा का सेवन छोटी ही नहीं बल्कि कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों से भी आपको बचाता है। इसका सेवन नियमित रूप से किए जाने पर शरीर में कैंसर का खतरा कम हो जाता है। इसमें मौजूद विटामिन-सी कैंसर से लड़ने में सबसे शक्तिशाली तत्व होते हैं। ककोडा में कैरोटीन की मौजूदगी भी कैंसर से बचाती है। ये शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाते है और कैंसर के खतरे को कम करके लड़ने की क्षमता देते हैं। 

ककोड़ा पूरी तरह से प्राकृतिक है। इसके सेवन से शरीर में किसी तरह की हानि नहीं होती। इसका सेवन करने से आप कई बीमारियों से निजात पा सकते हैं। इसलिए मॉनसून आने पर ककोड़ा को अपने डेली रूटीन में शामिल करें। 

Read more Articles on Ayurveda In Hindi

Disclaimer