फलाफल खाने से सेहत को मिल सकते हैं कई फायदे, जानें इसकी हेल्दी रेसिपी

वेजिटेरियन हैं और नाश्ते में कुछ अलग और हेल्दी खाना चाहते हैं तो फलाफल आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Apr 09, 2022Updated at: Apr 09, 2022
फलाफल खाने से सेहत को मिल सकते हैं कई फायदे, जानें इसकी हेल्दी रेसिपी

आजकल हर कोई अपनी हेल्थ को लेकर काफी सजग है। इसलिए आम तौर पर लोग ऐसे विकल्प ढूंढते हैं जो खाने में स्वादिष्ट और हेल्दी हों। ऐसा ही एक हेल्दी विकल्प है फलाफल (Falafel)। दरअसल फलाफल चनों को मैश करके बनाई गई एक डिश का नाम है। मैश किये हुए छोले या चने से तैयार फलाफल में फाइबर अच्छी मात्रा में होता है। आप चाहें तो सलाद, सब्जी या फिर अचार के साथ इसका सेवन कर सकते हैं। अगर आप वेजिटेरियन हैं तो ये आपके लिए काफी अच्छा विकल्प भी साबित हो सकता है।  आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में सीनियर डाइटिशियन अनुजा गौर के मुताबिक 1 मीडियम साइज फलाफल के सेवन से लगभग 5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स, 9 मिलीग्राम कैल्शियम, 95 मिलीग्राम के आस पास पोटैशियम, 10 से 12 मिलीग्राम के बीच मैग्निशियम, 50 मिलीग्राम सोडियम और 1 मिलीग्राम से कम आयरन, साथ ही 55 kcal और 2 ग्राम के आसपास प्रोटीन मिल सकता है। यही नहीं इससे प्रोटीन, विटामिन बी फाइबर भी मिल सकते हैं। आइए जानते हैं फलाफल खाने के फायदे और इसको तैयार करने की रेसिपी।

प्रोटीन का अच्छा स्रोत है फलाफल

चने में प्रोटीन की अच्छी मात्रा होती है। हमारी बॉडी बींस की प्रोटीन के मुकाबले, छोलों से प्राप्त प्रोटीन जल्दी अवशोषित करती है। साथ ही इसमें डाइट्री फाइबर, फोलेट फैटी एसिड्स, बीटा कैरोटीन जैसे पोषक तत्व भी होते हैं। जो शरीर को कई तरह के स्वास्थ लाभ भी देते हैं। चलिए इससे जुड़े शरीर को क्या लाभ होते हैं ये जान लेते हैं।

हड्डियां मजबूत होती हैं

छोले से तैयार फलाफल में प्रोटीन अच्छी मात्रा में होता है, जो नॉनवेज जितना ही फायदेमंद होती है। प्रोटीन से हड्डियां मजबूत रहती हैं और अगर हड्डियों में दर्द है तो वो भी दूर रहता है। प्रोटीन की कमी फलाफल बखूबी पूरी कर देगा।

Falafal-benefits

Image Credit- PCOS Diva

वजन रहेगा कंट्रोल

काफी लोग अपने बढ़ते हुए वजन से काफी परेशान रहते हैं। ऐसे में फलाफल आपकी अच्छी मदद कर सकता है। इसे खाने से डाइजेशन से सम्बंधित परेशानी से भी छुटकारा मिलता है। अगर आपका डाईजेशन सही नहीं रहेगा तो उससे वजन बढ़ने का खतरा रहता है। अगर आप भी वजन को कंट्रोल में रखना चाहते हैं, तो इसे अपने नाश्ते में शामिल कर सकते हैं।

दिल के लिए हो सकता है फायदेमंद

इसके सेवन से टोटल सीरम कोलेस्ट्रॉल लेवल और एल डी एल सी का लेवल कम होता है। इसलिए आप छोलों के ज्यादा सेवन के लिए कभी-कभार फलाफल का भी सेवन कर सकते हैं।

भरपूर विटामिन

छोले में विटामिन जैसे नियासिन, फोलेट, राइबोफ्लेविन, बीटा कैरोटीन, विटामिन ए का खजाना होता है। जो शरीर को बीमार नहीं होना देते और हर तरह की कमी को भी दूर करने में मदद करता है। साथ ही इसमें एनीमिया रोकने की भी ताकत होती है। अगर मल त्याग करने में समस्या होती है, तो इस समस्या का हल भी आपको फलाफल में मिलेगा।

Falafal-benefits

Image Credit- Women's Day

रेसिपी

फलाफल बनाने के लिए आपको एक कप उबले हुए छोले, आधा कप प्याज, एक कप पार्सले, एक छोटा चम्मच धनिया, चौथाई चम्मच पिसी हुई काली मिर्च पाउडर, एक छोटा चम्मच लहसुन का पेस्ट, दो छोटे चम्मच जीरा पाउडर, आधा छोटा चम्मच बेकिंग सोडा, एक बड़ा चम्मच तेल और नमक स्वादानुसार लें।

इसे तैयार करने से पहले ओवन को 400 डिग्री सेल्सियस में प्री-हीट कीजिये।

फिर इन सभी के मिश्रण की बॉल्स बना लें।

इसे 20 मिनट तक बेक करने के बाद गर्मागर्म सर्व करें।

अगर आप चाहे तो इसे ब्रेड के साथ या रोटी के साथ भी खा सकते हैं।

इसे भी पढे़ं- पाचन तंत्र को दुरुस्‍त रखने के ये हैं 7 बेस्‍ट तरीके, कभी नहीं होगी पेट संबंधी समस्‍या

फलाफल बनाते समय इन बातों का ध्यान रखें

अगर आप फलाफल बनाने जा रहे हैं, तो आपको कुछ ख़ास बातों का ख्याल रखना होगा। वो क्या हैं चलिए जान लेते हैं।

फलाफल के लिए छोले को मैश करने से पहले हाथों को अच्छे से धो लें।

फलाफल को ठीक से पकाकर ही खाएं।

अगर इसमें तिल का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो एलर्जी हो सकती है।

अगर खाने के बाद स्किन में रेडनेस या खुजली हो रही है तो इसे ना खाएं।

छोले में कार्बोहाइड्रेट भी होता है, इससे पेट फूल सकता है।

इसमें एंजाइम कम होता है, इसलिए ये आंतों में जमा भी हो सकता है।

फलाफल खाने से पहले थोडा सा खाकर देखें, अगर कोई दिक्कत नहीं हो रही तो बिन्साद होकर खाएं।

आप चाहें नॉन वेजिटेरियन हों या वेजिटेरियन, फलाफल एक ऐसा विकल्प है, जो हर किसी को बेहद पसंद आने वाला है। आप इसे अकेले खाएं या ब्रेड, सलाद, अचार के साथ। ये पौष्टिकता से भरपूर होता है। आप यहां इससे जुड़े साइड इफेक्ट्स को भी अच्छे से जान लें। अगर इसमें डाली जाने वाली किसी भी तरह की चीज से आपको एलर्जी है तो उसे फलाफल में बिलकुल शामिल न करें।

  Main Image Credit- Dainik Bhaskar
Disclaimer