ताली बजाने के भी होते हैं कई फायदे, जानें क्‍लैपिंग थेरेपी के बारे में

ताली बजाने से आपकी सेहत को मिलते हैं ढेरों फायदे। इसे क्‍लैपिंग थेरेपी कहते हैं, विस्तार से जानें इसके फायदे।

Shilpy Arya
Written by: Shilpy AryaPublished at: Apr 28, 2022Updated at: May 30, 2022
ताली बजाने के भी होते हैं कई फायदे, जानें क्‍लैपिंग थेरेपी के बारे में

ताली बजाना भी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है। जी हां, आपको सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लगेगा लेकिन ये सच है। आप जब भी खुश होते हैं तो ताली बजाते हैं। यह खुशी जाहिर करने का बेहतरीन तरीका है। अब तक आप कोई सेलिब्रेशन करने पर ताली बजाते थे। लेकिन आपको सेहतमंद रहने के लिए बिना किसी वजह के भी ताली बजानी चाहिए। ताली बजाने की इस प्रक्रिया को क्‍लैपिंग थेरेपी कहा जाता है। 

क्‍लैपिंग थेरेपी की मदद से आपके शरीर में रक्त संचार के साथ ही इम्यूनिटी भी बढ़ती है। इस थेरेथी को नियमित करने से आपकी मेंटल हेल्थ बेहतर होती है। साथ ही यह पाचन को ठीक रखने के लिए बेहद कारगर उपाय है। आज हम इस लेख के माध्यम से बताने जा रहे हैं क्‍लैपिंग थेरेपी के फायदों के बारे में। तो चलिए विस्तार से जानते हैं।

1. ब्‍लड सर्कुलेशन सुधारे 

ताली बजाने से आपके हाथों में मौजूद एक्यूप्रेशर पॉइंट्स पर दबाव बनता है। जो आपकी कलाई, अंगूठे के नीचे, हैंड वैली पॉइंट, इनर गेट पॉइंट और आपके हाथ के अंगूठे के नाखून पर होते हैं। ताली बजाने की प्रक्रिया में इन सभी पॉइंट्स पर दबाव पड़ता है। जिसके कारण आपके शरीर में रक्त का संचार बेहतर ढंग से होता है। 

2. त्वचा के लिए फायदेमंद

चमकदार त्वचा की चाह तो सभी को होती है। ऐसे में अगर आप रोजाना नियम से ताली बजाते हैं तो आपके शरीर में रक्त संचार ठीक तरह से होता है। यह आपकी त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है। ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ने से शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह भी अच्छी तरह से होता है। इससे आपकी स्किन ग्लोइंग बनती है।

इसे भी पढ़ें - बॉडी डिटॉक्स के लिए बहुत फायदेमंद है आयुर्वेद की विरेचन कर्म थेरेपी, जानें इसके अन्य फायदे

3. दिल रहेगा सेहतमंद

क्‍लैपिंग थेरेपी की मदद से आप अपने हार्ट को फिट रख सकते हैं। आपके हाथ में कुल 29 एक्यूप्रेशर पॉइंट्स होते हैं। ताली बजाने से इन सब पर प्रेशर पड़ता है। जिससे आपको एनर्जी मिलती है। और जैसा की हमने पहले भी बताया यह ब्‍लड सर्कुलेशन सुधारने में भी मददगार है। इस तरह यह दिल की सेहत के लिए भी फायदेमंद है। क्‍लैपिंग थेरेपी दिल से जुड़े रोगों का जोखिम घटाती है।

4. मेंटल हेल्थ के लिए जरूरी 

अगर आप स्ट्रेस व डिप्रेशन से छुटकारा पाना चाहते हैं तो रोजाना नियमित तरीके से सुबह क्‍लैपिंग थेरेपी का अभ्यास करें। ऐसा करने से आपके ब्रेन को पॉजिटिव सिग्नल प्राप्त होते हैं जिससे तनाव कम होता है और आपके दिमाग को आराम पहुंचता है। इससे हैप्पी हार्मोन बढ़ते हैं जो आपको रिलैक्स महसूस कराने में मदद करते हैं।

इसे भी पढ़ें - आंखों की इन 4 समस्याओं को दूर करती है नेत्र बस्ती थेरेपी, जानें इस आयुर्वेदिक थेरेपी के बारे में

5. बच्चों के लिए फायदेमंद 

क्‍लैपिंग थेरेपी बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होती है। इससे उनकी मोमोरी पॉवर तेज होती है। वे अच्छी तरह से चीजों को याद कर पाते हैं। यह पीठ व गर्दन के दर्द से भी आराम दिलाती है। 

आप रोजाना सुबह जल्दी उठकर 20 से 30 मिनट क्‍लैपिंग थेरेपी का अभ्यास करें। यह आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद करती है। ताली बजाने से आपके शरीर के ऊर्जा चक्र सक्रिय होते हैं।

 
Disclaimer