तनाव से लेकर ब्लड शुगर की समस्या तक, आपकी कई परेशानियों को चुटकियों में दूर कर देगा अश्वगंधा

अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक औषधी है। आर्युवेद में अश्वगंधा का इस्‍तेमाल सदियों से कई बीमारियों के उपचार के रूप में किया जाता आ रहा है। अश्वगंधा का वानज्ञपतिक नाम Withania Somnifera है। आयुर्वेद में इसे सबसे प्रसिद्ध जड़ी-बूटी माना जाता है जो आ

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Aug 30, 2019Updated at: Aug 30, 2019
तनाव से लेकर ब्लड शुगर की समस्या तक, आपकी कई परेशानियों को चुटकियों में दूर कर देगा अश्वगंधा

अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक औषधी है। आर्युवेद में अश्वगंधा का इस्‍तेमाल सदियों से कई बीमारियों के उपचार के रूप में किया जाता आ रहा है। अश्वगंधा का वानज्ञपतिक नाम Withania Somnifera है। अश्वगंधा का नाम संस्कृत के शब्द 'अश्व' से लिया गया है, जिसका अर्थ है 'घोड़ा' और 'गंधा' जिसका अर्थ है 'गंध'। आयुर्वेद में इसे सबसे प्रसिद्ध जड़ी-बूटी माना जाता है। अश्वगंधा आपके ब्‍लड शुगर को कंट्रोल करने, गठिया व कई अन्‍य बीमारियों के इलाज में मददगार है।  

अश्वगंधा आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कई औषधीय गुणों से भरपूर है। इसके पौधे की जड़ में चिकित्सीय लाभ होते हैं और यह तंत्रिका तंत्र पर भी प्रभाव डालता है। यही कारण है कि यह डिप्रेशन, चिंता, थकान, तनाव, अनिद्रा और तंत्रिका तंत्र पर सकारात्‍मक प्रभाव के लिए सहायक माना जाता है। अश्वगंधा पौधे की जड़ के अलावा, पत्तियों से अर्क या पाउडर का उपयोग भी विभिन्न स्थितियों के उपचार के लिए किया जाता है। आइए हम आपको बताते हैं कि अश्वगंधा आपकी किन-किन स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने में मदद कर सकता है।  

ब्‍लड शुगर को कम करे 

अश्वगंधा डायबिटीज के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद है। क्‍योंकि यह मांसपेशियों की कोशिकाओं में इंसुलिन की संवेदनशीलता में सुधार करता है और इस प्रकार यह डायबिटीज के रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद है। नीम, दालचीनी, तुलसी, अश्‍वगंधा जैसे हर्ब डायबिटीज को कंट्रोल करने और ब्‍लड शुगर को कम करने में मदद करते हैं। 

तनाव को कम करे  

आयुर्वेदिक जड़़ी-बूटी अश्वगंधा आपके तनाव को कम करने में मददगार है, क्‍योंकि यह कोर्टिसोल तनाव हार्मोन को कम करने में मदद करता है। इसके अलाव, यह डिप्रेशन, चिंता को भी दूर करने में मददगार है। अश्वगंधा का सेवन शरीर में कोर्टिसोल हार्मोन के उत्पादन को कम करने में मदद करता है। इसलिए यदि आप डिप्रेशन, तनाव या चिंता से गुजर रहे हैं, तो आप अश्वगंधा चूर्ण या इसके कैप्‍सूल का सेवन कर कर सकते हैं। 

इसे भी पढें: हाई ब्‍लड प्रेशर (Hypertension) को नियंत्रित करने के लिए फायदेमंद हैं ये 5 एसेंशियल ऑयल 

महिलाओं में प्रजजन क्षमता के लिए फायदेमंद 

अश्वगंधा का सेवन महिलाओं में प्रजजन क्षमता के लिए फायदेमंद माना जाता है। अश्वगंधा अंतःस्रावी तंत्र को बढ़ाता है और इस प्रकार थायरॉयड और अंत:स्‍त्रावी ग्रंथियों को विनियमित करने में मदद करता है। ये ग्रंथियां प्रजनन हार्मोन के संतुलन को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार हैं और इसलिए महिलाओं में इसका इस्‍तेमाल प्रजजन क्षमता में सुधार के लिए उपचार के तौर पर भी किया जाता है। 

एनिमिया 

अश्वगंधा आयरन से भरपूर होता है इसलिए इसका सेवन एनिमिया से पीडि़त लोगों के लिए फायदेमंद होता है। अश्वगंधा चूर्ण को यदि रोजाना पानी या दूध के साथ सेवन करने से शरीर में आयरन की कमी को दूर करने में मदद मिलती है। अश्वगंधा के अच्‍छे परिणाम के लिए आप इसके सेवन के लिए डाक्‍टर से सलाह ले सकते हैं।

इसे भी पढें: तोंद कम करने और वजन घटाने के लिए आजमाएं ये 4 आयुर्वेदिक तरीके

कोलेस्‍ट्रॉल स्‍तर 

अश्वगंधा में मौजूद एंटी इंफ्लामेटरी गुण कोलेस्‍ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करके हृदय स्वास्थ्य में सुधार करने में भी मदद कर सकता है। क्‍योंकि यह बैड कोलेस्‍ट्रॉल को कम करके आपके कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को सही रखता है। जिससे दिल संबंधी रोगों का खतरा कम होता है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ आयुर्वेद रिसर्च में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, अश्वगंधा हृदय स्वास्थ्य, मांसपेशियों की ताकत में सहायक है। 

Read More Article On Ayurveda In Hindi 

Disclaimer