डिलीवरी के बाद गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से सेहत को मिलेंगे कई फायदे, जानें रेसिपी

डिलीवरी के बाद गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से डिलीवरी के बाद होने वाली समस्याएं दूर होती हैं और रिकवरी में मदद मिलती है।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Oct 12, 2022 16:26 IST
डिलीवरी के बाद गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से सेहत को मिलेंगे कई फायदे, जानें रेसिपी

आपने अक्सर देखा-सुना होगा कि डिलीवरी के बाद नई मां को गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने के लिए दिए जाते हैं। भारतीय परिवारों में दादी-नानी के जमाने से नई मां को गुड़ में सोंठ और ड्राई फ्रूट्स डालकर जच्चा को खिलाया जाता है। गुड़ और सोंठ के लड्डू ना सिर्फ खाने में स्वादिष्ट होते हैं, बल्कि मां और बच्चे, दोनों की सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। दरअसल, डिलीवरी के बाद महिला का शरीर काफी कमजोर हो जाता है। ऐसे में उसे खानपान का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। गुड़ और सोंठ के लड्डू पोषण से भरपूर होते हैं, जिससे शारीरिक कमजोरी दूर करने में मदद मिलती है। गुड़ में कैल्शियम, आयरन, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, जो डिलीवरी के बाद महिला के शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं। डिलीवरी के बाद गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से हड्डियां और इम्युनिटी मजबूत होती है, कब्ज की समस्या दूर होती है और रिकवरी में मदद मिलती है। तो आइए जानते हैं, डिलीवरी के बाद खाए जाने वाले गुड़ और सोंठ के लड्डू बनाने की विधि और इसके फायदे - 

गुड़ और सोंठ के लड्डू कैसे बनाएं - How To Make Gud And Sonth Laddu In Hindi

  • गुड़ और सोंठ के लड्डू बनाने के लिए सबसे पहले पुराने गुड़ को कूटकर बिल्कुल महीन कर लें। 
  • अब एक कढ़ाई में एक-एक करके ड्राई फ्रूट्स, खसखस, कलौंजी और सूखे नारियल डालकर भूनें और अलग रख लें। 
  • इसके बाद एक बड़ी कढ़ाई में एक किलो घी डालें और इसमें आधा कुटा हुआ गुड़ डालें। 
  • फिर इसमें सौंठ पाउडर और सभी ड्राई फ्रूट्स डालें और हाथ से सभी चीजों को अच्छी तरह मिला लें। 
  • अब इसमें थोड़ा सा देसी घी डालें और हथेलियों की मदद से इसके लड्डू बनाएं। 
  • इसी तरह सभी लड्डू बना लें और एक एयर टाइट कंटेनर में पैक करके स्टोर करें। 
Gud-Sonth-Laddu

गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने के फायदे - Gud And Sonth Laddu Benefits In Hindi

  • डिलीवरी के बाद गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से पाचन क्रिया ठीक रहती है। इसे खाने से कब्ज की शिकायत दूर होती है। इसके अलावा, गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थ बाहर निकालने में मदद मिलती है। डिलीवरी के बाद महिला के लिए गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से बॉडी को डिटॉक्स करने में मदद मिलती है। 
  • गुड़ और सोंठ के लड्डू में जिंक, सेलेनियम और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जिससे इम्युनिटी बूस्ट होती है। डिलीवरी के बाद गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से शरीर को एनर्जी मिलती है और संक्रमण से बचाव होता है। 
  • गुड़ और सोंठ के लड्डू में आयरन, कैल्शियम, फैट, विटामिन बी और एंटी-ऑक्सीडेंट्स जैसे पोषक तत्व होते हैं, जिससे कमजोरी दूर होती है। इसके अलावा डिलीवरी के बाद गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से स्तन में दूध बढ़ता है, इसलिए डिलीवरी के बाद गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने की सलाह दी जाती है। 
  • डिलीवरी के बाद कुछ महिलाओं को बहुत अधिक रक्त स्त्राव की समस्या होती है। ऐसे में गुड़ और सोंठ के लड्डू खाने से हैवी ब्लीडिंग, पेट में दर्द और मूड स्विंग्स को दूर करने में मदद मिलती है।

गुड़ और सोंठ के लड्डू कैसै खाएं - How Tp Eat Gud And Sonth Laddu

डिलीवरी के बाद आप रोजाना एक गुड़ का लड्डू, दूध के साथ खा सकती हैं। इससे आपकी कमजोरी दूर होगी और रिकवरी में भी मदद मिलेगी। हालांकि, एक दिन में दो से अधिक लड्डुओं का सेवन ना करें, वरना आपको वेट गेन, गैस और पेट में भारीपन जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

Disclaimer