Doctor Verified

शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी से रुक जाता है विकास, जानें इसके लक्षण और कमी दूर करने के उपाय

शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी होने से शरीर का विकास रुक जाता है और शरीर की बनावट में बदलाव हो सकता है, जानें इसके लक्षण, कारण और उपाय।

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 05, 2022Updated at: May 05, 2022
शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी से रुक जाता है विकास, जानें इसके लक्षण और कमी दूर करने के उपाय

शरीर के समुचित विकास के लिए जिस तरह से हेल्दी डाइट जरूरी है उसी तरह से शरीर के भीतर मौजूद हॉर्मोन की भी भूमिका होती है। शरीर में हॉर्मोन का असंतुलन होने से कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी (Growth Hormone Deficiency) होने पर आपके शरीर का विकास रुक जाता है। ग्रोथ हॉर्मोन की कमी सबसे ज्यादा बच्चों में देखने को मिलती है। बच्चों का विकास अगर धीमी गति से हो रहा है तो इसका एक कारण उसके शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी हो सकती है। ग्रोथ हॉर्मोन दरअसल मस्तिष्क में मौजूद पिट्यूटरी ग्रंथि (Pituitary Gland) द्वारा बनाया जाता है। कई बच्चों में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी जन्म के समय से ही देखने को मिलती है। इसके अलावा कई लोगों में यह समस्या आनुवांशिक कारणों से भी हो सकती है। मस्तिष्क में चोट लगने, कैंसर या ट्यूमर होने या रेडिएशन थेरेपी के कारण भी शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन का निर्माण कम हो सकता है। 

शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के लक्षण (Growth Hormone Deficiency Symptoms in Hindi)

ग्रोथ हॉर्मोन शरीर में मौजूद एक पदार्थ है जो शरीर के विकास के लिए बहुत जरूरी होता है। इसकी कमी होने पर शरीर का विकास रुक जाता है। बाबू ईश्वर शरण अस्पताल के डॉ समीर के मुताबिक ग्रोथ हॉर्मोन की कमी ज्यादा बच्चों में देखने को मिलती है लेकिन इसकी कमी वयस्क लोगों में भी हो सकती है। अगर आपके बच्चे की हाइट धीमी गति से बढ़ रही है तो यह भी ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के कारण हो सकता है। इसके अलावा बच्चों में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी होने पर उनके शरीर के सभी अंगों का विकास धीमी गति से होता है। इसके अलावा यह समस्या बड़े लोगों में भी देखने को मिल सकती है। बड़े या वयस्क लोगों में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी होने पर उनके शरीर की संरचना में बदलाव देखने को मिल सकता है। शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी होने पर ये लक्षण देखने को मिलते हैं।

Growth-Hormone-Deficiency

इसे भी पढ़ें : बच्चों में क्यों होता है हार्मोन असंतुलन? जानें बच्चों में कैसे लगाएं इस स्थिति का पता और क्या है इसका इलाज

  • बच्चे की हाइट धीमी गति से बढ़ना।
  • दांत देर से निकलना।
  • नाखून का विकास धीमी गति से होना।
  • मांसपेशियों में कमजोरी।
  • शरीर में एनर्जी की कमी।
  • ब्लड शुगर लो होना।
  • शरीर की संरचना में बदलाव।
  • ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या।
  • एलडीए कोलेस्ट्रोल में बढ़ोतरी।
  • कार्डियक फंक्शन से जुड़ी समस्या।

शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के कारण (Growth Hormone Deficiency Causes in Hindi)

किसी भी व्यक्ति के शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी कई कारणों से हो सकती है। दरअसल अभी तक इस बात की सटीक जानकारी नहीं मिल पायी है कि किस प्रमुख कारण की वजह से शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी हो जाती है। दरअसल इसके पीछे कई आनुवांशिक और शारीरिक कारण जिम्मेदार माने जाते हैं। शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी कुछ जन्मजात कारणों से भी हो सकती है। इसके अलावा किसी चोट या आघात की वजह से भी इसका निर्माण कम हो सकता है। मस्तिष्क में मौजूद पिट्यूटरी ट्यूमर या मस्तिष्क की गंभीर चोट की वजह से भी आपके शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी हो जाती है। ग्रोथ हॉर्मोन की कमी के लिए जिम्मेदार कुछ प्रमुख कारण इस प्रकार से हैं।

  • जन्म के समय से शरीर में मौजूद समस्या के कारण।
  • आनुवांशिक कारणों की वजह से।
  • मस्तिष्क में किसी गंभीर चोट की वजह से।
  • मस्तिष्क में ट्यूमर के कारण।
  • खानपान में गड़बड़ी की वजह से।

ग्रोथ हॉर्मोन की कमी पूरा करने के उपाय (Growth Hormone Deficiency Treatment in Hindi)

शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी होने पर डॉक्टर आपकी जांच कर आपको रोजाना इंजेक्शन लेने की सलाह दे सकते हैं। जिन लोगों में यह समस्या गंभीर रूप से होती है उन्हें हॉर्मोन थेरेपी की आवश्यकता होती है। बच्चों की तुलना में वयस्कों में ग्रोथ हॉर्मोन ज्यादा कम होता है। बच्चों में ग्रोथ हॉर्मोन की कमी दूर करने के लिए आपको डॉक्टर की सलाह पर इलाज जरूर कराना चाहिए। इसके अलावा डाइट में सुधार कर भी आप इस समस्या से बच सकते हैं। कुछ खाद्य पदार्थ जैसे अंडे, टमाटर, सेम, साबुत अनाज, मछली, दूध, और मीट आदि का सेवन करने से शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन की निर्माण तेजी से होता है।

(All Image Source - Shutterstock.com)

 
Disclaimer