इन 5 फूड्स को माइक्रोवेव में दोबारा गर्म करके कभी न खाएं, सेहत को हो सकते हैं कई नुकसान

अक्सर लोग बचे हुए खाने को माइक्रोवेव में गर्म करके दोबारा खा लेते हैं लेकिन कुछ फूड्स ऐसे हैं जिन्हें माइक्रोवेव में गर्म करना नुकसानदायक हो सकता है।

सम्‍पादकीय विभाग
Written by: सम्‍पादकीय विभागUpdated at: Sep 08, 2021 14:19 IST
इन 5 फूड्स को माइक्रोवेव में दोबारा गर्म करके कभी न खाएं, सेहत को हो सकते हैं कई नुकसान

बदलते समय के साथ आधुनिकता हमारे जीवन में भी धीरे-धीरे अपनी जगह बना लेती है। आजकल घरों और ऑफिसेज में खाना बनाने या गर्म करने के लिए माइक्रोवेव का चलन काफी बढ़ गया है। माइक्रोवेव में खाना गर्म करना आसान होता है। विशेष प्रकार के प्लास्टिक या कांच के बर्तन में खाना रखकर इसे कुछ सेकेंड्स में ही तुरंत गर्म किया जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कुछ खाने की चीजें ऐसी हैं, जिन्हें माइक्रोवेव में कभी गर्म नहीं करना चाहिए क्योंकि दोबारा गर्म करने से इनमें कुछ ऐसे बदलाव आ जाते हैं जो सेहत को गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं। इस लेख में हम आपको ऐसे 5 फूड के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें कभी भी माइक्रोवेव में गर्म नहीं करना चाहिए।

Microwave

1. उबला हुए अंडा

छिले या बिने छिला ज्यादा उबले हुए अंडे को कभी भी माइक्रोवेव में गर्म नहीं करना चाहिए। जब माइक्रोवेव में ज्यादा उबले अंडे को गर्म किया जाता है तो उसमें मौजूद नमी अंदर तेज भाप पैदा कर देती है, जैसा आपने छोटे प्रेशर कूकर में देखा होगा। इस स्थिति में अंडा फट भी सकता है। हालांकि गर्म होने के कारण अंडा भले ही माइक्रोवेव में न फटे लेकिन बाहर निकालने के बाद यह आपके हाथ, प्लेट और मुंह में फट सकता है।

इसे भी पढ़ेंः रात को चाहिए अच्छी नींद तो खाने में खाएं ये 8 फूड, सेहत और मूड दोनों रहेंगे दुरुस्त

2. चावल

चावल को भी माइक्रोवेव में दोबारा नहीं गर्म करना चाहिए। फूड स्टैंडर्ड एजेंसी के मुताबिक, माइक्रोवेव में गर्म किए चावल फूड पॉइज़निंग  का कारण बन सकते हैं।  चावल में मौजूद बैसिलस सीरियस नाम के बैक्टीरिया की अधिक मात्रा इसका कारण बनती है। गर्मी बैक्टीरिया को नष्ट जरूर कर देती है लेकिन ये स्पोर्स पैदा कर देती है, जो कि एक तरीके का जहर है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ फूड माइक्रोबायोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन के निष्कर्षों से सामने आया है कि जब माइक्रोवेव से चावलों को निकाला जाता है और कमरे के तापमान में रखा जाता है तो उसमें पैदा होने वाले स्पोर्स अपनी संख्या बढ़ा लेते हैं और फूड पॉइज़निंग का कारण बनते हैं। ये बैक्टीरया दस्त, उल्टी और मतली जैसी चीजों का कारण बनता है।

3. पत्तेदार साग

अगर आप अजमोद, केल, या पालक को बाद में खाने के लिए बचाकर रखना चाहते हैं, तो उन्हें माइक्रोवेव की बजाय ओवन में गर्म करें। एक अध्ययन में सामने आया कि माइक्रोवेव में इन्हें दोबारा गर्म करने पर स्वाभाविक रूप से इनमें मौजूद नाइट्रेट्स (जो आपके लिए बहुत अच्छी होते हैं) नाइट्रोसैमाइंस में बदल सकते हैं, जिससे कैंसर जैसा घातक रोग हो सकता है।

इसे भी पढ़ेंः 1 महीने तक शराब छोड़ने से लिवर फैट 20, ब्लड ग्लूकोज लेवल 16 फीसदी तक हो जाता है कम, जानें अन्य फायदे

Microwave

4. चिकन

माइक्रोवेव के बारे में ये जानना सबसे महत्वपूर्ण है कि उसकी गर्मी खाने में मौजूद सभी बैक्टीरिया को नष्ट नहीं करती है। कुछ फूड ऐसे होते हैं, जिन्हें दोबारा गर्म करने पर बीमार होने का खतरा अधिक हो जाता है क्योंकि इनमें मौजूद बैक्टीरिया कोशिकाएं जीवित रहते हैं। इसे ध्यान में रखते हुए आपको चिकन को कभी दोबारा माइक्रोवेव में गर्म नहीं करना चाहिए। चिकन को माइक्रोवेव में दोबारा करने से सैल्मोनेला कॉन्टैमिनेश्न का खतरा बढ़ जाता है। चिकन खाने से पहले, आपको उसमें मौजूद सभी बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए इसे अच्छी तरह से पकाना होगा। चूंकि माइक्रोवेव पूरी तरह से या समान रूप से मांस के सभी हिस्सों को नहीं पकाता है, इसलिए जीवित बैक्टीरिया जैसे कि सैल्मोनेला के जिंदा रहने की अधिक संभावना होती है।

5. मशरूम और आलू

आलू और मशरूम दोनों को ही माइक्रोवेव में दोबारा गर्म नहीं करना चाहिए। इन्हें एक बार पकाने के बाद जब आप लंबे समय बाद दोबारा गर्म करते हैं और फिर सामान्य तापमान पर रख देते हैं, तो इनमें बैक्टीरिया तेजी से पनपते हैं, जिससे ये पाचनतंत्र को नुकसान पहुंचा सकते हैं और आपको कई समस्याएं दे सकते हैं। इसलिए मशरूम और आलू से बनी डिशेज को दोबारा नहीं गर्म करना चाहिए।

Read More Articles On Healthy Diet in Hindi

Disclaimer