आपको है लैक्टोज इन्टॉलरेंस डाइट में शामिल करने चाहिए Low Lactose वाले ये 5 फूड्स

लो लैक्टोज फूड्स के सेवन से जिन लोगों को लैक्टोज इंटॉलरेंस की दिक्कत होती है। वह इन चीजों का सेवन कर सकते हैं।

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Mar 31, 2022Updated at: Mar 31, 2022
आपको है लैक्टोज इन्टॉलरेंस डाइट में शामिल करने चाहिए Low Lactose वाले ये 5 फूड्स

जिन लोगों को लैक्टोज इंटॉलरेंस की दिक्कत होती है। उन्हें अक्सर डेयरी उत्पाद खाने से बचना चाहिए। लैक्टोज इंटॉलरेंस सामान्यतः तब होता है जब आपका शरीर जरूरी मात्रा में लैक्टेज नहीं बना रहा होता है। लैक्टेज एक एन्ज़ाइम होता है जो सामान्यतः आपकी छोटी आंत में बनता है जो लैक्टोज के पाचन में काम आता है लेकिन लैक्टेज की कमी के कारण आपको लैक्टोज की कमी वाले भोजन का सेवन करना चाहिए। इससे भोजन का पाचन अच्छे से नहीं होता है और पेट में गैस, मतली या जलन की दिक्कत हो सकती है। हालांकि लोग इस बात को लेकर काफी संशय की स्थिति में रहते हैं कि लैक्टोज इंटॉलरेंस होने पर उन्हें कौन-सा फूड लेना चाहिए ताकि उनकी परेशानी न बढ़े। बहुत से डेयरी प्रोडक्ट्स है, जिनमें लैक्टोज की मात्रा कम होती है। आप इसके लिए इन फूड्स का सेवन कर सकते हैं। 

इन लैक्टोज लो फूड का सेवन करें (Food Low In Lactose)

1. बटर

बटर एक उच्च वसा वाला डेयरी उत्पाद है। यह दूध या क्रीम की मदद से बनाया जाता है। बटर को प्रोसेस्ड करने के दौरान इसमें से लैक्टोज की मात्रा को हटा दिया जाता है। इसके सेवन से आपको लैक्टोज इंटॉलरेंस होने पर भी परेशानी नहीं होती है क्योंकि अंतिम उत्पाद में लैक्टोज नहीं होता है। इसे आप ब्रेड या पराठे के साथ खा सकते हैं। 

food-lactose

Image Credit- Abc7 Newyork

2. प्रोबायोटिक दही

लैक्टोज इंटॉलरेंस वाले लोग अक्सर दूध की तुलना में दही को पचाने में बहुत आसान होता है। दरअसल दही में बैक्टीरिया होते हैं जो लैक्टोज को तोड़ने में मदद कर सकते हैं और भोजन का पाचन आसानी से हो पाता है। हालांकि आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपको प्रोबायोटिक दही का सेवन ही करना चाहिए क्योंकि पास्चुरीकृत दही में बैक्टीरिया मर जाते हैं और वह शरीर में जाकर उतना फायदेमंद नहीं होता है। इसके अलावा आप ग्रीक योगर्ट का सेवन भी कर सकते हैं। इसमें भी लैक्टोज बहुत कम होते हैं। 

इसे भी पढ़ें-  दूध नहीं पचा पाते हैं 'लैक्टोज सेंसिटिव' लोग, जानें Lactose Intolerance का असली कारण और दूध के हेल्दी विकल्प

3. हैवी क्रीम

आमतौर पर आपने देखा होगा कि घरों में लोग दूध के ऊपर आने वाली मलाई को बड़े चाव से खाते हैं। बटर की तरह हैवी क्रीम भी एक उच्च वसा वाला उत्पाद है। इसमें लैक्टोज बेहद कम मात्रा में पाया जाता है। जैसे एक चम्मच या 15 ग्राम क्रीम में 0.43 ग्राम लैक्टोज पाया जाता है। इसका सेवन आप कई तरीके से कर सकते हैं। आप इसे अपने खाने में मक्खन की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं। रोजाना संयमित मात्रा में वसा का सेवन भी फायेदमंद होता है। 

4. केफिर 

दही के समान केफिर का सेवन भी लैक्टोज इंटॉलरेंस वाले लोग कर सकते हैं क्योंकि यह एक किण्वित दूध उत्पाद है। नियमित रूप से केफिर का सेवन करने से पाचन और डेयरी उत्पादों के प्रति सहनशीलता में सुधार हो सकता है। दरअसल इसमें बैक्टीरिया और खमीर का उपयोग करके उत्पाद तैयार किया जाता है। जिसके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। साथ ही इसमें लैक्टोज की मात्रा भी बेहद कम होती है। जिसका सेवन सहजता से किया जा सकता है। 

food-lactose

Image Credit- Medium

5. लैक्टोज मुक्त डेयरी उत्पाद

लैक्टोज मुक्त डेयरी उत्पाद दूध उत्पाद होते हैं जिन्हें प्रोसेस करने के दौरान लैक्टेज शामिल किया जाता है। निर्माता उत्पाद में लैक्टोज को तोड़ने के लिए लैक्टेज जोड़ते हैं। इसलिए यदि आपको लैक्टोज इंटॉलरेंस है, तो इन उत्पादों का सेवन करना सुरक्षित है।

Main Image Credit- Healthline

Disclaimer