यह मांसपेशियों और हड्डियों में व्यापक दर्द और सामान्य थकान के साथ जुड़ा हुआ है। इस तरह के लक्षणों को चेतना सबंधी माना जाता है, यानी इस दर्द को किसी जांच या परीक्षण द्वारा मापा नहीं जा सकता है। क्योंकि इसके लक्षण व्यक्तिपरक हैं और स्पष्ट रूप से कारण ज्ञात नहीं है। 

"/>

मांसपेशियों और हड्डियों में असहनीय दर्द का कारण है फाइब्रोमायल्जिया रोग, प्राकृतिक तरीकों से करें इलाज

यह मांसपेशियों और हड्डियों में व्यापक दर्द और सामान्य थकान के साथ जुड़ा हुआ है। इस तरह के लक्षणों को चेतना सबंधी माना जाता है, यानी इस दर्द को किसी जांच या परीक्षण द्वारा मापा नहीं जा सकता है। क्योंकि इसके लक्षण

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Jan 07, 2019Updated at: Jan 07, 2019
मांसपेशियों और हड्डियों में असहनीय दर्द का कारण है फाइब्रोमायल्जिया रोग, प्राकृतिक तरीकों से करें इलाज

फाइब्रोमायल्जिया एक दीर्घकालिक या पुरानी बीमारी है। यह मांसपेशियों और हड्डियों में व्यापक दर्द और सामान्य थकान के साथ जुड़ा हुआ है। इस तरह के लक्षणों को चेतना सबंधी माना जाता है, यानी इस दर्द को किसी जांच या परीक्षण द्वारा मापा नहीं जा सकता है। क्योंकि इसके लक्षण व्यक्तिपरक हैं और स्पष्ट रूप से कारण ज्ञात नहीं है। इसलिए फाइब्रोमायल्जिया को अक्सर किसी अन्य बीमारी के रूप में गलत मान लिया जाता है। ये समस्‍या आपके अवसाद के लक्षणों को बढ़ा सकते हैं। 

हालांकि शोधकर्ता फाइब्रोमायल्जिया को समझने के लगभग करीब हैं, वहीं डॉक्टर भी अब यह पता लगा रहे हैं कि इस स्थिति के इलाज और प्रबंधन में दवा से बेहतर जीवनशैली में क्‍या बदलाव हो सकता है। इस बीमारी के बारे में विस्‍तार जानें। 

 

फाइब्रोमायल्जिया के लक्षण 

फाइब्रोमायल्गिया आमतौर शरीर के सबसे मुलायम जगहों से जुड़ी हुई समस्‍या है, इसे आप ट्रिगर प्‍वाइंट भी कह सकते हैं। यह शरीर में ऐसे स्‍थान हैं जहां हल्‍के से दबाव पर भी दर्द होता है। हालांकि फाइब्रोमाएल्जिया के निदान के लिए इन बिंदुओं का उपयोग शायद ही कभी किया जाता है। इसके बजाय डॉक्टर अन्य लक्षणों के संयोजन का उपयोग करते हैं और संभवतः कुछ चिकित्सा परीक्षण, जिससे उन्हें कारण निर्धारित करने में मदद मिलती है।

इस विकार वाले लोग यह अनुभव कर सकते हैं, जैसे:

  • थकान
  • नींद न आना
  • आराम महसूस किए बिना लंबे समय तक सोना
  • सिर दर्द
  • डिप्रेशन
  • चिंता
  • ध्यान केंद्रित करने में असमर्थता या ध्यान देने में कठिनाई
  • पेट के निचले हिस्‍से में दर्द 

फाइब्रोमायल्जिया का कारण 

शोधकर्ताओं ने फाइब्रोमायल्जिया के संबंध में कई तरह के शोध किए हैं, जिसके बाद इसके कारणों के बारे में पता लगाया जा सका है। 

संक्रमण: पहले की बीमारियां फाइब्रोमायल्जिया को उत्‍पन्‍न कर सकती हैं या स्थिति के लक्षणों को बदतर बना सकती हैं।

आनुवंशिकी: फाइब्रोमायल्जिया का कारण अक्सर आनुवं‍शिक होता है। यदि आपके परिवार में किसी सदस्‍य को ये बीमारी है तो अन्‍य सदस्‍यों में भी इसके होने का जोखिम हो सकता है। शोधकर्ताओं को लगता है कि कुछ आनुवंशिक उत्परिवर्तन इस स्थिति में भूमिका निभा सकते हैं। उन जीनों की पहचान अभी तक नहीं की गई है।

आघात: जो लोग शारीरिक या भावनात्मक आघात का अनुभव करते हैं, वे फ़िब्रोमाइल्जी विकसित कर सकते हैं। इस स्थिति को को पोस्ट-ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर से जोड़ा गया है।

तनाव: आघात की तरह, तनाव आपके शरीर के महीनों और वर्षों के लिए लंबे समय तक प्रभाव पैदा कर सकता है। तनाव को हार्मोनल गड़बड़ी से जोड़ा गया है जो फाइब्रोमायल्जिया में योगदान कर सकता है।

इसे भी पढ़ें: बैक्‍टीरिया और वायरस है निमोनिया की प्रमुख वजह, जानें इसके लक्षण और उपचार 

फाइब्रोमायल्जिया का प्राकृतिक उपचार 

कई बार फाइब्रोमायल्जिया का इलाज नहीं हो पाता है। दवाओं से कुछ दिन तो ठीक रहता है लेकिन अक्‍सर ये समस्‍या दोबारा होने लगती है। यहां हम आपको कुछ प्राकृतिक उपचार के बारे में बता रहे हैं।  

  • फिजिकल थैरेपी 
  • एक्यूपंक्चर
  • ध्यान
  • योग
  • नियमित व्यायाम
  • रात को पर्याप्त नींद लेना
  • मसाज थैरेपी 
  • एक संतुलित, स्वस्थ आहार

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer