ये 5 लक्षण बताते हैं आप ठीक से नहीं पचा पा रहे हैं फैट (वसा), डॉक्टर से जानें क्या है फैट इनडाइजेशन

फैट को पचाना बेहद जरूरी है, हमारा शरीर फैट को नहीं पचागा तो कई प्रकार की दिक्कतें होती है। फैट इनडाइजेशन के बारे डॉक्टर की राय जानने के लिए पढ़ें।

Satish Singh
Written by: Satish SinghPublished at: Sep 16, 2021
ये 5 लक्षण बताते हैं आप ठीक से नहीं पचा पा रहे हैं फैट (वसा), डॉक्टर से जानें क्या है फैट इनडाइजेशन

हम जो कुछ भी खाते हैं उसका हमारे स्वास्थ्य पर काफी असर पड़ता है। ऐसे में पौष्टिक भोजन का सेवन करना बेहद ही जरूरी है। वहीं हम जो खा रहे हैं वो अच्छे से पचे, बेहतर स्वास्थ्य के लिए यह जरूरी है। अगर हम अनहेल्दी फैट बहुत ज्यादा मात्रा में लेते हैं तो यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है। वहीं हेल्दी फैट काफी फायदेमंद होते हैं। लेकिन फैट को फायदा लेने के लिए उसे पचाना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। कभी-कभी फैट को हमारा शरीर पचा नहीं पाता है और इसका फायदा हमारे शरीर तक नहीं पहुंच पाता है जिसे फैट इनडाइजेशन की समस्या आती है। जमशेदपुर के बिष्टुपुर के हॉस्पिटल की डायटीशियन डॉ. एस गुहा बताती हैं कि कुछ लक्षणों से हम फैट इनडाइजेशन को पहचान सकते हैं। जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल। 

बिना फैट के शरीर नहीं चल सकता है

डॉक्टर बताती हैं कि हमारे खाने में तीन तत्व का होते हैं, उसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और फैट शामिल है। आप कुछ भी खाने की चीज खाएंगे तो उसमें फैट होगी ही। आजकल फिटनेस पर ध्यान देने वाले ज्यादातर लोग सोचते हैं कि अगर वह फैट वाला भोजन कर रहे हैं तो गलत भोजन कर रहे हैं। वे सोचते हैं कि फैट खाने से हार्ट की बीमारी, मोटापा इत्यादि बीमारी होगी, लेकिन ऐसा नहीं होता है। आप कुछ भी खाएंगे तो आपकी बॉडी में फैट जाएगा ही। फैट के कारण शरीर को ऊर्जा मिलती है। फैट के कारण हमारे शरीर के आर्गन अच्छे तरह से काम करते हैं। इससे सेल्स ग्रोथ होता है। फैट से हमारा शरीर गर्म रहता है। फैट हार्मोन को विकसित करने में जरूरी है। बिना फैट के आपका शरीर नहीं चल सकता है। इससे आपको कई तरह की बीमारी हो सकती है। आपका शरीर जीरो फैट डाइट पर जीवित नहीं कर सकता है।

Fat Indegesion

क्या होता है फैट इनडाइजेशन, जानें

एक्सपर्ट बताती हैं कि फैट डायरेक्ट पेट में नहीं पचता है। फैट की पाचन प्रक्रिया मुंह से चालू हो जाती है। जब फैट को चबाते हैं यहीं से फैट के ब्रेकडाउन की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। फैट को पानी ब्रेक नहीं कर सकता है। सलाइवा फैट को छोटे-छोटे टुकड़ों में इसे कन्वर्ट कर देता है। इसलिए डॉक्टर हमेशा सलाह देते हैं कि आपको अपना खाना चबाकर खाना चाहिए। इससे फैट को पचने में आसानी होती है। मुंह में फैट को अच्छे से चबाते हैं तो यह पेट में जाकर तेजी पचता है। अगर मुंह से सही ढंग से फैट को नहीं चबा पाएं तो फैट पेट में जाकर नहीं पचता है। जिससे फैट इनडायटेशन कहते हैं। खाने के दो से तीन घंटे के बाद पेट में फैट फैटी एसिड्स में कन्वर्ट हो जाते हैं।

फैट इनडाइजेशन के इन लक्षणों से जानें कि खाना पचा या नहीं

1. स्किन में सूखापन का आना

फैट इनडाइजेशन के कारण फैट के हेल्दी तत्व हमारे शरीर को नहीं मिल पाते हैं। इसका असर हमारे स्किन पर भी पड़ता है। इससे स्किन रुखी पड़ जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि स्किन के नीचे परत होती है उसमें फैट रहता है। फैट की लेयर आपकी त्वचा की नीचे रहती है और त्वचा गिरने पर वाला पानी इत्यादि को शरीर के अंदर नहीं जाने देती है। शरीर को प्रोटेक्ट करती है। फैट इनडाइजेशन के आपकी स्किन अनहेल्दी दिखाई देगी। स्किन में सूखापन आ जाएगा। ड्रायनेस की शिकायत होगी।

2. हमेशा थकान महसूस होगा

बकौल डाइटीशियन फैट इनडाइजेशन के कारण आपको थकान महसूस होगी। फैट की कमी के कारण थकान होती है। इसके लिए हमें नियमित मात्रा वाले फैट डाइट को फॉलो करना चाहिए। अगर हम हैवी डाइट फॉलो करेंगे तो पच नहीं पाएगा। इससे थकान महसूस होगी।

3. फ्लोटिंग स्टूल भी है एक लक्षण, इससे पहचानें

डाइटीशियन बताती हैं कि फैट इनडायजेशन को हम अपने फ्लोटिंग स्टूल से पहचान सकते हैं। अगर फैट नहीं पच रहा है तो आप देखेंगे कमोर्ड में स्टूल तैरता हुआ दिखाई देगा। यह लाइट पीले क्लर का होगा। फ्लश करने के बाद भी यह बाद भी कमोर्ड के ऊपर आ जाएगा। अगर यह आपको रोजाना कभी-कभी हो रहा है तो कोई समस्या नहीं है। लेकिन यह हमेशा हो रहा है तो आपको फैट इनडाइजेशन की समस्या है। अगर आपका फैट पचता है तो स्टूल डार्क क्लर होगा। इसमें बदबू भी काफी ज्यादा होगी और यह पानी में नहीं तैरेगा। इस प्रकार के लक्षण दिखने पर आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। 

इसे भी पढ़ें : तेल मसाले वाले खाने के साथ जरूर खाएं तिल से बनी ये खास चटनी, फैट रहेगा कम और कोलेस्ट्रॉल होगा कंट्रोल

4. सीने में जलन है बड़ी समस्या

एक्सपर्ट बताती हैं कि फैट इनडाइजेशन के कारण आपके सीने में जलन की समस्या हो सकती है। लेकिन हेल्दी फैट लेने के बाद भी अगर हार्ट में जलन की समस्या है तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। बिना डॉक्टर के सलाह के दवा का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

Fat Indigetion

5. नाभि के ऊपर पेट दर्द होना

एक्सपर्ट के अनुसार अगर खाना खाने के बाद 40 मिनट तक आपका पेट नाभि के ऊपर दर्द देता है तो यह फैट इनडाइजेशन के कारण हो सकता है। यह पेट में फैट के नहीं पचने के कारण होता है। फैट के नहीं पचने के कारण गैस होती है और इससे पेट दर्द देता है। अगर आपको ऐसी समस्या आ रही तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। डॉक्टरी सलाह लेकर दवा का सेवन करें।

इसे भी पढ़ें : फैट न पचने पर शरीर में दिखते हैं ये 5 लक्षण, ना करें इन्हें नजरअंदाज

फैट इनडाइजेशन की समस्या से बचाव के लिए जानें क्या करें

हमें हैवी फैट वाले भोजन नहीं करने चाहिए। इसके लिए हमें हेल्दी फैट वाले फूड को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

  1. काजू का सेवन करने से हेल्दी फैट आपको मिलेगा
  2. मछली से भी आपको हेल्दी फैट मिलेगा
  3. देसी अंडे का सेवन करने से इसमें फैटी एसिड के साथ, ओमेगा 3 व अन्य पोषक तत्व मिलते हैं, इसे डाइट में शामिल करना चाहिए
  4. बादाम में बहुत ज्यादा हेल्दी फैट होता है। इसमें विटामिन ई के साथ ओमेगा 3 और फैटी एसिड होता है

बीमारी के लक्षण दिखने पर लें डॉक्टरी सलाह

इस आर्टिकल में बताई गई बातें सिर्फ जानकारी के लिए है। अगर आपको फैट इनडायटेशन की समस्या होती है तो डॉक्टर से जाकर सलाह लें। बिना डॉक्टरी सलाह के दवा का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। वहीं समस्या से बचाव के लिए आप हेल्दी डाइट ले सकते हैं। इसके लिए चाहें तो डाइटीशियन की सलाह लेकर डाइट प्लान कर सकते हैं। 

Read More Articles On Miscellaneous

Disclaimer