हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल करने के हो सकते हैं कई नुकसान, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

बार-बार सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल करना आपकी त्वचा को कई तरह से प्रभावित कर सकता है और लंबे समय में इसके कुछ नुकसान हो सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jul 26, 2020Updated at: Apr 22, 2021
हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल करने के हो सकते हैं कई नुकसान, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए हर कोई अपने बार-बार हाथ धो रहा है, मास्क पहन रहा है और सैनिटाइजर का इस्तेमाल नियमित रूप से किया जा रहा है। लेकिन इस महामारी के शुरुआती दौर से सवाल उठ रहा है कि क्या सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल हमारे लिए सुरक्षित है या नहीं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने पहले चेतावनी दी थी कि हाथ की सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल करने से त्वचा को स्वस्थ रखने वाले अच्छे बैक्टीरिया को मारे जा सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, जब साबुन और पानी का विकल्प मौजूद होता है तो आपको सैनिटाइजर की बजाए हाथों को साबुन और पानी से धोना चाहिए। 

sanitizer

'सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल न करें'

सैनिटाइजर (Sanitizer) के ज्यादा इस्तेमाल करने पर अतिरिक्त निदेशक- स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के जनरल (Additional Director-General Of Health Services, Ministry Of Health),डॉक्टर आरके वर्मा ने कहा कि "ये अभूतपूर्व समय हैं, किसी ने नहीं सोचा था कि इस एक वायरस का प्रकोप होगा, अपने आप को बचाने के लिए मास्क का इस्तेमाल जरूर करें। इसके साथ गर्म पानी बार-बार पिएं और बार-बार हाथों को साबुन से धोएं और सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल करने से बचें। 

सैनिटाइजर के ज्यादा इस्तेमाल करने से नुकसान

त्वचा को करता है खराब

सैनिटाइजर का बहुत ज्यादा बार इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा के प्राकृतिक तेलों को खत्मम करने का काम करते हैं, जिसके कारण आपकी त्वचा सूखने और फटने लगती है। इसके साथ ही इससे आपको निर्जलित त्वचा अनाकर्षक और चिड़चिड़ी हो सकती है, ऐसे में इस तरह के लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

  • खुजली।
  • त्वचा में रुखापन और त्वचा छिलना।
  • महीन रेखाएं या दरारें पैदा होना।
  • त्वचा का रंग लालपन में आ जाना।

त्वचा में रुखापन, फटी हुई त्वचा और छल्ली त्वचा के कारण आपके शरीर में कई कीटाणु आसानी से प्रवेश करने और संक्रमण फैला सकते हैं। इसके अलावा, अगर आपको एक्जिमा होने का खतरा है, तो अत्यधिक सूखापन आपके रोग को जल्दी बढ़ा सकता है जो खतरनाक है।

इसे भी पढ़ें: इंफेक्शन के डर से बार-बार हाथों को करते हैं सैनिटाइज? इन 5 स्थितियों में सैनिटाइजेशन से नहीं मिलता कोई फायदा

बच्चों के लिए है खतरनाक

ज्यादातर हैंड सैनिटाइजर (Hand Sanitizer) में बड़ी मात्रा में एथिल या आइसोप्रोपिल अल्कोहल मौजूद होता है। सैनिटाइजर को लेकर अध्ययनों से पता चलता है कि बच्चों के हाथ सैनिटाइजर को निगलने का बहुत खतरा हो सकती है, खासकर उन सैनिटाइजर में जो अक्सर सुगंधित, चमकीले रंग या आकर्षक रूप से पैक किए गए होते हैं। दूसरी ओर बड़े बच्चे और वयस्क भी जानबूझकर हाथ के सैनिटाइजर को नशा करने के लिए निगल सकते हैं। अध्ययनों के मुताबिक, विषाक्तता से बचने के लिए, बाल-प्रतिरोधी कैप वाले हैंड सैनिटाइजर ही खरीदें। 

उम्र बढ़ने के लक्षण जल्दी दिखना

सैनिटाइजर (Hand Sanitizer) आपकी त्वचा को खराब करने के साथ उनपर झुर्रियों की उपस्थितियों को बढ़ा सकता है, इसके साथ ही कॉलस, दरारें ज्यादा पैदा कर सकता है। सैनिटाइजर के इस्तेमाल से त्वचा की रक्षा करने की क्षमता कम हो जाती है और ये निर्जलीकरण का शिकार होने लगती है। 

इसे भी पढ़ें: कहीं आपके हैंड सैनिटाइजर में भी तो मेथनॉल (Methanol) नहीं? FDA की चेतावनी जानलेवा हो सकता है इसका प्रयोग

इम्यून सिस्टम पर भी डालता है असर

आमतौर पर आप किसी भी वायरस से लड़ने के लिए हैंड सैनिटाइजर (Hand Sanitizer) का इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन ये उल्टा आपके शरीर के अंदर वायरस और संक्रमण से लड़ने की क्षमता पर भी प्रभाव डालता है। कई अध्ययनों से पता चला है कि अल्ट्रा-स्वच्छ वातावरण-विशेष रूप से जीवन में जल्दी-बाद में प्रतिरक्षा प्रतिरक्षा कम करने का काम करता है। जिससे आप वायरस का शिकार आसानी से हो जाते हैं और उससे लड़ने में असमर्थ हो जाते हैं। 

बहुत ज्यादा हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है, इसकी जगह आप साबुन और पानी से बार-बार हाथ धो सकते हैं। 

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer