खून को पतला करने वाली दवाओं के साथ न लें इस तरह के भोजन, स्वाति बाथवाल से जानें कैसे करें डाइट में सुधार

अगर आपके शरीर में भी खून के थक्के बन रहे हैं तो जान लें किन भोजन के ज्यादा सेवन से होता है ऐसा और कैसे करें डाइट में बदलाव।

Vishal Singh
Reviewed by: स्वाती बाथवालPublished at: Nov 05, 2020Updated at: Nov 06, 2020Written by: Vishal Singh
खून को पतला करने वाली दवाओं के साथ न लें इस तरह के भोजन, स्वाति बाथवाल से जानें कैसे करें डाइट में सुधार

आपने कई लोगों की शिकायत सुनी होगी कि उनके शरीर में खून के थक्के बनते हैं, ये एक स्थिति में आकर गंभीर समस्या बन जाती है। जिसका इलाज करना बहुत जरूरी होता है। खून के थक्के की समस्या को खत्म करने के लिए डॉक्टर दवा के साथ डाइट में कई तरह के बदलाव करने की सलाह देता है। जिसकी मदद से खून के थक्कों को खत्म किया जा सके और खून को पतला किया जा सके। लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ लोगों के शरीर में ये खून के थक्कों का कारण भी बन सकते हैं। जी हां, वो लोग जिनका खून को पतला करने के लिए इलाज चल रहा हो उन लोगों को कुछ सब्जियों और आहार को सीमित करना चाहिए। इस विषय पर डायटिशियन डॉ. स्वाति बाथवाल से हमने बातचीत की और उन्होंने इस पर जानकारी दी। 

healthy diet

डायटिशियन डॉ. स्वाति बाथवाल का कहना है कि जिन लोगों की दवाएं या इलाज खून को पतला करने के लिए चल रहा होता है, उन लोगों को ऐसे आहार से बचना चाहिए जो उनके शरीर में खून के थक्के बनाते हैं या खून को मोटा करते हैं। वहीं, जो लोग विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन ई के सप्लीमेंट का बहुत ज्यादा सेवन करते हैं उन लोगों को बिना डॉक्टर की सलाह के ये कदम नहीं उठाना चाहिए। ऐसे में चीनी जड़ी बूटी कोएंजाइम q10 और जिन्सेंग जैसे विकल्प भी आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं। अगर ये सब आप बिना डॉक्टर की सलाह के करते हैं तो इससे आपके आईएनआर के स्तर में हस्तक्षेप हो सकता है।

स्वाति बाथवाल बताती हैं कि, इन सभी के अलावा अगर आप बहुत ज्यादा विटामिन के (Vitamin K) का सेवन करते हैं तो इससे आपके द्वारा ली जाने वाली दवा वॉर्फरिन पर बुरा प्रभाव पड़ता है और इसका असर काफी हद तक कम हो सकता है। इससे बचाव के लिए आपको जरूरी है कि आप विटामिन के या अन्य दूसरी चीजें जो खून को मोटा करती हो उनका सेवन सीमित करें। 

पालक

हरी सब्जियां हमारे लिए बहुत फायदेमंद होती है, ऐसे ही पालक भी हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पालक का बहुत ज्यादा सेवन करने से हमारे शरीर में खून के थक्कों का खतरा रहता है। जिसका कारण हम अपने शरीर में गांठ और गांठ के दर्द को महसूस कर सकते हैं। पालक खून के थक्कों के लिए इसलिए जिम्मेदार है क्योंकि इस में विटामिन-के शामिल होता है, ऐसे जब हम बहुत ज्यादा साग या पालक का सेवन करते हैं तो इससे हमारे शरीर में खून मोटा होने लगता है जो एक स्थिति में जाकर खून के थक्के के रूप में नजर आता है। आप अगर पालक खाते हैं तो आपको एक सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए क्यों जरूरी है बदल-बदल कर अनाज खाना? एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे

ब्रोकली

ब्रोकोली भी हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी होती है लेकिन इसका बहुत ज्यादा सेवन करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। ब्रोकोली में कई पोषक तत्वों के साथ एक फायदेमंद सब्जी है लेकिन इसमें विटामिन के की भारी मात्रा होने के कारण खून के थक्कों को बनाता है। इसका सेवन आप एक दिन में आधा कप कर सकते हैं जो आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

एस्परैगस (शतावरी)

एस्परैगस (शतावरी) भी विटामिन के की मात्रा काफी होती है जो आपकी दवा के प्रभाव को कम करने के साथ आपके खून को मोटा कर खून के थक्कों का कारण बन सकती है। इसलिए अगर आप एस्परैगस का सेवन करते हैं तो आप एक दिन में आधा या एक कप ले सकते हैं। 

सोडियम और ज्यादा नमक वाले आहार

प्रोसेस्ड फूड और तैलीय आहार से आपको हमेशा दूर रहने की आदत रखनी चाहिए, ये आपके पूर्ण स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होते हैं। ऐसे ही ये खून के थक्कों को बनाने में भी अहम किरदार निभाते हैं। आप बाहर के खाने, तैलीय आहार और प्रोसेस्ड फूड्स से जितना दूर रहेंगे उतना ही आप खून के थक्कों और अन्य शारीरिक समस्याओं से दूर रह सकते हैं। आप पैक्ड जूस और सब्जियां, सी फूड और चीज जैसे भोजन को कम से कम सेवन करने की कोशिश करें। 

इसे भी पढ़ें: खून की खराबी से होती है थकान, पिंपल और वजन की समस्या, ये हैं खून की सफाई के 5 आसान उपाय

पत्ता गोभी

पत्ता गोभी कई स्वास्थ्य लाभों के साथ हमारी डाइट में शामिल होती है, लेकिन विटामिन के की भारी मात्रा के कारण इसका सेवन सीमित करना चाहिए। पत्ता गोभी का ज्यादा सेवन करने से आप शरीर में खून के थक्कों को बना सकते हैं। इसका सेवन भी आप एक दिन में आधा या एक कप सेवन करना चाहिए। 

डाइट में शामिल करें ये विकल्प

  • गाजर।
  • शिमला मिर्च।
  • गोभी।
  • फलियां।
  • आलू।
  • मशरूम।
  • चुकंदर।
  • टमाटर।

स्वाति बाथवाल का कहना है कि इस तरह के लोग जिनके खून पहले ही गाढ़ा या मोटा हो और उनका खून पतला करने वाली दवाएं चल रही हों तो ऐसे लोगों को अपनी डाइट का खास ख्याल रखना चाहिए। इसके साथ ही आपको ये भी ध्यान देना चाहिए कि आप एक बार में एक ही चीज का सेवन करें न कि विटामिन के से भरपूर चीजों का एक साथ सेवन करें। इसके अलावा अगर आपकी दवा चल रही है तो आप अपनी डाइट का चयन डॉक्टर की सलाह के साथ जरूर करें। 

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer