क्या आपकी भी है बिन मांगे सलाह देने की आदत? अगर हां तो समय रहते सुधार लें ये आदत

सबकी मदद करना अच्छी बात है। लेकिन क्या आप की आदत है हर बात पर सलाह देना। पहले ये सोचें कि क्या सामने वाले को आपकी सलाह की जरूरत है?

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Nov 10, 2020Updated at: Nov 10, 2020
क्या आपकी भी है बिन मांगे सलाह देने की आदत? अगर हां तो समय रहते सुधार लें ये आदत

हमारे आसपास कुछ ऐसे भी लोग मौजूद हैं जो सामने वाले की पूरी बात भी नहीं सुनते और पहले ही अपनी सलाह देनी शुरू कर देते हैं। यही कारण होता है कि वे लोगों के बीच हंसी का पात्र बन जाते हैं। उनकी इस आदत के चलते उनके आस-पास मौजूद लोग उनके व्यवहार के चलते उनके आसपास के लोगों से कतराने लगते हैं। क्या आप भी इन व्यक्तियों में से एक हैं? क्या आपकी भी आदत के दूसरों को बिन बात के सलाह देना? अगर हां, तो समय रहते बदलाव जरूरी है। आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि आप अपने व्यवहार पर थोड़ा सा नियंत्रण करके कैसे अपनी आदत को सुधार सकते हैं पढ़ते हैं आगे...  

healthy tips

बिना सोचे कुछ भी बोलना है बुरा

जिन लोगों को सलाह देने की आदत होती है उनके मन में कभी ना कभी एक सवाल जरूर उठता है कि लोग उनकी बातों का जल्दी बुरा क्यों मान जाते हैं? अगर आपके मन में भी ये सवाल उठे तो सबसे पहले खुद को आईने के सामने खड़ा करें और सोचें कि ऐसी कौन-सी आदतें हैं जिनका लोग बुरा मान जाते हैं। इसका जवाब आपको स्वयं ही मिल जाएगा। जो लोग बिना सोचें अपनी बात दूसरों के सामने रखते हैं उनके साथ ऐसा ही होता है इसलिए जब भी बोलें तो थोड़ा सोचकर बोलें। चल रहे टॉपिक पर दूसरों की प्रक्रिया भी देखें। इसके अलावा जब आप किसी समूह में खड़ें हो तो केवल तब बोले जब आपका नंबर आए। अगर आप जीवन में ये नियम अपना लेंगे तो आपकी खुद से ये शिकायत खत्म हो जाएगी कि लोग आपकी बातों का बुरा क्यों मानते हैं।

समझें मौके की नज़ाकत

कुछ लोग ऐसे होते हैं जो परिस्थितियां और मौके की नजाकत को ना समझ कर अपनी बात बोलनी शुरू कर देते हैं। अपनी सलाह देनी शुरू कर देते हैं। ऐसे लोगों से भी लोग दूरी बनाना शुरू कर देते हैं। सलाह देना बुरी बात नहीं है लेकिन अगर मौका या परिस्थिति इस चीज की इजाजत नहीं दे रही है तो खुद को सलाह देने से रोकें और ऐसे समय में चुप्पी बना लेना ही सही है।

इसे भी पढ़ें- खत्म होने वाली हैं मैटरनिटी लीव? ऐसे मैनेज करें बच्चे की जिम्मेदारी और काम का स्ट्रेस

क्यों होती है आदत

  • जो लोग हर टॉपिक पर अपनी राय रखते हैं या सलाह देते हैं वे चाहते हैं कि लोगों का ध्यान उन तरफ आकर्षित हो
  • ऐसे लोग खुद को असुरक्षित और अकेला महसूस करते हैं।
  • ऐसे लोग दूसरे की भावनाओं को संतुष्ट करने की कोशिश करते हैं।
  • ऐसे लोग जल्दी बुरा मानते हैं और लोगों की प्रतिक्रिया पर उन्हें ठेस पहुंचती है। 

इसे भी पढ़ें- प्रोफेशनल लाइफ में जब आए मुश्किल तो अपने व्यवहार को ऐसे बनाएं संतुलित

कुछ बातों का रखें ख्याल

  • औपचारिक संबंध अगर किसी व्यक्ति के साथ हैं तो उसे सलाह देने से बचें। उसके सामने अपनी बातों को तोल कर रखें।
  • पर्सनल कमेंट जैसे कि फूड हैबिट, ड्रेसिंग सेंस आदि पर किसी भी टिप्पणी देने से पहले थोड़ा सोचें। ध्यान रखें कि हर किसी का टेस्ट अलग होता है।
  • जब आपको लगे कि सामने वाले का मूड खराब है तो उस वक्त चुप रहना ही सबसे अच्छा विकल्प होता है।
  • अगर सामने वाला आपकी बात नहीं मान रहा है तो उससे नाराज न हों बल्कि यह सोचे कि हो सकता है आपकी सलाह उस व्यक्ति के अनुपयोगी रही होगी।
  • ऐसे व्यक्तियों को करियर में अनेक उतार-चढ़ाव देखने पड़ते हैं। ऑफिस में जब बॉस आपकी राय मांगी तभी अपने विचार व्यक्त करें वरना रहने दें।
  • रात को सोने से पहले सोचें कि आज आपके कारण किसी को ठेस तो नहीं पहुंची। और अगर ऐसा हुआ हा तो उसके पीछे के कारण को खत्म करने की कोशिश करें।

Read More Article On Skin Care In Hindi

Disclaimer