महिलाओं में चक्कर आने के हो सकते हैं ये 5 कारण

महिलाओं को कई बार अचानक ही चक्कर आने की समस्या होती हैं। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। आइए जानते हैं उन कारणों के बारें में। 

Deepshikha Singh
Written by: Deepshikha SinghPublished at: Jul 06, 2022Updated at: Aug 16, 2022
महिलाओं में चक्कर आने के हो सकते हैं ये  5 कारण

सिर में अचानक तेज दर्द होना या सिर घूमने को चक्कर आना  कहते हैं। महिलाओं में चक्कर आने को केवल प्रेग्नेंसी से जोड़ कर देखा जाता है, लेकिन कई बार महिलाओं में चक्कर आना किसी विटामिन की कमी, थकावट, नींद पूरी न  होने या किसी गंभीर बीमारी का  संकेत भी हो सकता है। कई बार चक्कर आने को हम हल्के में लेते हैं, लेकिन जल्दी-जल्दी ऐसा होने पर ये किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। हम आपको महिलाओं में चक्कर आने के प्रमुख कारण बता रहे हैं।  

ब्लड-प्रेशर कम होना

कई बार अचानक से ब्लड प्रेशर कम होने पर चक्कर आते  हैं। चक्कर आने पर आंखों के सामने अंधेरा होना, कुछ पल के लिए बेहोशी और हाथ पैर ठंडे हो जाना आदि लक्ष्ण भी दिख सकते हैं। कई बार चक्कर अचानक खड़े होने पर ज्यादा महसूस होते  हैं। ऐसे में अगर आपको लंबे समय से लो-ब्लड प्रेशर की समस्या है और आपको चक्कर आता है, तो तुरंत आपको नमक का पानी पीना चाहिए और डॉक्टर की सलाह लेकर दवाई शुरू करनी चाहिए।

हीमोग्लोबिन की कमी होना

हीमोग्लोबिन में कमी होना चक्कर आने के प्रमुख कारणों में से एक है। महिलाओं में ये समस्या ज्यादा देखने को मिलती  है। हीमोग्लोबिन का काम रक्त को ऑक्सीजन देना है। रक्त में हीमोग्लोबिन की कमी से महिला एनिमिया का शिकार हो सकती है। डेली डाइट में आयरन की कमी, प्रेग्नेंसी और पीरियडस के दौरान अत्याधिक ब्लीडिंग होने की वजह से शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम हो सकती है। हीमोग्लोबिन कम होने पर महिलाओं को सिरदर्द, कमजोरी और थकान जैसी समस्याएं हो सकती हैं, इसलिए महिलाओं को अपनी डाइट में मछली, हरी पत्तेदार सब्जियां, गाजर, चुकंदर, अंडे और ड्राई-फ्रूट्स आदि शामिल करने चाहिए।

विटामिन-बी12 की कमी

 प्रेगनेंट और स्तनपात कराने वाली महिलाओं में विटामिन12 की कमी ज्यादा पाई जाती  है। शरीर में बी12 की कमी से शारीरिक कमजोरी, भूख में कमी, कब्ज और थकान जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। विटामिन बी12 की कमी से मुंह में छाले पड़ना, त्वचा में पीलापन होना और चलने में कमजोरी की समस्या भी हो सकती है, जिसकी वजह से चक्कर आ सकते हैं। ये विटामिन एनिमल प्रोड्क्टस और डेयरी उत्पादों में पाया जाता है। 

माइग्रेन के कारण

माइग्रेन में तेज सिरदर्द के कारण चक्कर आते  हैं। माइग्रेन में सिरदर्द के साथ मितली और उल्टी जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। महिलाओं में ये हार्मोन के असंतुलन के कारण होता है। माइग्रेन  से बचने के लिए महिलाओं को अपनी जीवनशैली और आहार में कुछ बदलाव करने चाहिए। गर्मी के मौसम में अधिक  ट्रैवल करने से बचें, दिनभर में 10 से 12 गिलास पानी जरूर पिएं, चाय-कॉफी का कम सेवन करें, ज्यादा मिर्ची वाला भोजन न खाएं, वॉक करने की आदत डालें और अपनी डाइट में छाछ, सूप और नारियल पानी का सेवन अधिक करें। 

इसे भी पढे़ें- लेटने पर चक्कर आने के क्या कारण हो सकते हैं? जानें घरेलू नुस्खे जो दिलाएं चक्कर से आराम

कान में संक्रमण की वजह से

जब कान का भीतरी हिस्सा किसी चोट,  इन्फेक्शन या किसी अन्य कारण से प्रभावित होता है, तब महिलाओं  को चक्कर आ सकते  हैं। इस समस्या को वर्टिगो भी कहते  हैं। ये थोड़ी देर के लिए भी रह सकता है और बहुत देर के लिए भी। इसमें चेहरे पर पसीना आना, कमजोरी का एहसास और तेज सिरदर्द जैसे  लक्षण महसूस हो सकते  हैं। वर्टिगो अटैक आने पर डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। 

All Image Credit- Freepik

Disclaimer