Doctor Verified

प्रेगनेंसी में बार-बार आ रहे हैं चक्‍कर, तो न करें ये 5 काम

Dizziness During Pregnancy: प्रेगनेंसी में की गई कुछ गलत आदतों के कारण चक्‍कर आने की समस्‍या हो सकती है।जानते हैं इनके बारे में।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Jan 15, 2023 07:30 IST
प्रेगनेंसी में बार-बार आ रहे हैं चक्‍कर, तो न करें ये 5 काम

Dizziness During Pregnancy: प्रेगनेंसी का समय नाजुक होता है। इस दौरान कई शारीर‍िक और मानस‍िक समस्‍याएं होती हैं ज‍िनमें से एक है चक्‍कर आना। प्रेगनेंसी की पहली त‍िमाही में हार्मोनल बदलाव के कारण चक्‍कर आता है। प्रेगनेंसी में मॉर्न‍िंग स‍िकनेस की समस्‍या के कारण भी चक्‍कर आने की समस्‍या होती है। दूसरी और तीसरी त‍िमाही में शरीर का बीपी बढ़ने के कारण चक्‍कर आते हैं। इसके अलावा प्रेगनेंसी में की जाने वाली कुछ गलत‍ियों के कारण चक्‍कर आ सकते हैं। ये गलत‍ियां या लापरवाही का असर होने वाले श‍िशु पर भी पड़ सकता है इसल‍िए सेहत का खास ख्‍याल रखें। आगे आपको बताएंगे प्रेगनेंसी में चक्‍कर आने के पीछे छुपी 5 गलत‍ियों के बारे में। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की। 

dizziness in pregnancy

1. प्रेगनेंसी में ज्‍यादा शारीर‍िक काम करना 

प्रेगनेंसी में ज्‍यादा शारीर‍िक काम करने के कारण चक्‍कर आ सकता है। इस गलती से बचना चाह‍िए। शारीर‍िक काम करने के दौरान अगर आप झटके से उठ जाती हैं, तो मस्‍त‍िष्‍क तक खून पहुंचने का समन नहीं म‍िलता और अचानक से चक्‍कर आ जाता है। ज्‍यादा काम करने के कारण ब्लड प्रेशर भी प्रभाव‍ित होता है। इस कारण से बार-बार चक्‍कर आ सकता है।

इसे भी पढ़ें- क्यों आते हैं प्रेगनेंसी के दौरान चक्कर और इन्हें कैसे कंट्रोल करें?

2. लंबे समय तक खाली पेट रहना  

प्रेगनेंसी में भूखा रहने की गलती न करें। लंबे समय तक भूखा रहने के कारण ब्‍लड शुगर लेवल प्रभाव‍ित हो जाता है। ज‍िन मह‍िलाओं के शरीर में आयरन की कमी होती है यानी एनीम‍िया का श‍िकार होती हैं, उन्‍हें समय-समय पर कुछ न कुछ खाना चाह‍िए। फाइबर और होल ग्रेन फूड्स का सेवन करें।        

3. प्रेगनेंसी में आराम न करना 

शरीर में ऊर्जा की कमी के कारण चक्‍कर आ सकता है। अगर आप आराम नहीं करेंगी, तो शरीर में उल्‍टी, मतली या चक्‍कर आने जैसे लक्षण नजर आएंगे। चक्‍कर आने पर करवट लेकर लेटना या इससे ठीक होने का इंतजार करना एकमात्र व‍िकल्‍प बचता है। कोश‍िश करें क‍ि हर द‍िन 7 से 8 घंटे की नींद पूरी करें। इसके अलावा द‍िन में थकान महसूस हो, तो थोड़ी देर लेट जाएं। 

4. प्रेगनेंसी में पर्याप्‍त पानी न पीना 

शरीर में पानी की कमी के कारण भी चक्‍कर आने की समस्‍या हो सकती है। हर द‍ि‍न 7 से 8 घंटे की नींद पूरी करें। प्रेगनेंसी में हर्बल टी का सेवन भी कर सकते हैं। प्रेगनेंसी में ढीले कपड़े पहनने से बचें। इससे शरीर का रक्‍त प्रवाह बना रहेगा। प्रेगनेंसी में ठंडा पानी पीने से बचें। गुनगुने पानी का सेवन कर सकती हैं। 

5. शुगर लेवल कंट्रोल न करना 

प्रेगनेंसी के दौरान ब्‍लड शुगर लेवल कंट्रोल न करने के कारण चक्‍कर आने की समस्‍या हो सकती है। प्रेगनेंसी में मीठी चीजों का सेवन ज्‍यादा न करें। अगर आप ब्‍लड शुगर स्‍तर कंट्रोल नहीं करेंगी, तो घबराहट, चक्‍कर आने की समस्‍या नहीं होगी। वहीं प्रेगनेंसी में शुगर लेवल कम होने के कारण भी चक्‍कर आ सकता है इसल‍िए नींबू पानी या ताजे फलों का सेवन कर सकती हैं।

ऊपर बताई 5 गलत‍ियों के कारण प्रेगनेंसी में चक्‍कर आने की समस्‍या हो सकती है। लेख पसंद आया हो, तो शेयर करना न भूलें।      

Disclaimer