कश्मीरी लाल मिर्च, सामान्‍य लाल म‍िर्च से कैसे है अलग? जानें इस म‍िर्च के फायदे और खास बातें

कश्‍मीरी लाल म‍िर्च कम तीखी होती है, इसके अन्‍य गुण जानने के ल‍िए पढ़ें पूरा लेख 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Oct 11, 2021
कश्मीरी लाल मिर्च, सामान्‍य लाल म‍िर्च से कैसे है अलग? जानें इस म‍िर्च के फायदे और खास बातें

भारतीय मसालों में कई नाम शाम‍िल है ज‍िनमें से एक है कश्‍मीरी लाल म‍िर्च। आप सोच रहे होंगे क‍ि कई अन्‍य म‍िर्चो में से कश्‍मीरी लाल म‍िर्च क्‍यों अलग है। कश्मीरी लाल मिर्च क्या है? कश्‍मीरी लाल म‍िर्च कम तीखी होती है और इसे सब्‍जी या ड‍िशेज में अच्‍छा रंग देने के ल‍िए इस्‍तेमला क‍िया जाता है। कश्‍मीरी लाल म‍िर्च का रंग लाल होता है। इसका इस्‍तेमाल ज्‍यादातर लोग तब करते हैं जब खाने को आकर्षक द‍िखाना हो। कश्‍मीरी लाल म‍िर्च का इस्‍तेमाल दक्ष‍िण भारत के खाने में ज्‍यादातर होता है या उन ड‍िशेज में जो तंदूर में बन रहीं हों। अगर आपके घर में छोटे बच्‍चे हैं तो आपको सब्‍जी बनाने के ल‍िए कश्‍मीरी लाल म‍िर्च का ही इस्‍तेमाल क‍रना चाह‍िए। इस लेख में हम सामान्‍य म‍िर्च और कश्‍मीरी लाल म‍िर्च के बीच का फर्क जानेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के वेलनेस डाइट क्‍लीन‍िक की डाइटीश‍ियन डॉ स्‍म‍िता सिंह से बात की।

lal mirch

(image source:spicesindia)

कश्‍मीरी लाल म‍िर्च के फायदे (Benefits of Kashmiri lal mirch)

कश्‍मीरी लाल म‍िर्च में व‍िटाम‍िन सी पाया जाता है जो आपकी इम्‍यून‍िटी बढ़ाने और पाचन तंत्र को मजबूत रखने में मदद करता है। ज्‍यादातर लोग कश्‍मीरी म‍िर्च को ज्‍यादा हेल्‍दी मानते हैं क्‍योंक‍ि इसमें तीखापन कम होता है जबकि सामान्‍य म‍िर्च या देगी म‍िर्च तीखी ज्‍यादा होती है। कश्‍मीरी लाल म‍िर्च में एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स मौजूद होते हैं वहीं इसे खाने से मेटाबॉलि‍ज्‍म भी बढ़ता है। कश्‍मीरी लाल म‍िर्च में पोटैश‍ियम की भी अच्‍छी मात्रा पाई जाती है। कश्‍मीरी लाल म‍िर्च ज्‍यादातर रसोई में पाया जाता है, इसे खाने से पेट में कब्‍ज की श‍िकायत नहीं होती।

इसे भी पढ़ें- हरी मिर्च या लाल मिर्च, कौन सी है सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद? जानें इनके फायदे और नुकसान

तीखा खाने वालों को पसंद है कश्‍मीरी लाल म‍िर्च (Kashmiri lal mirch is less spicy)

कश्‍मीरी लाल म‍िर्च कश्‍मीर और ह‍िमाचल प्रदेश के ह‍िस्‍से में उगती है। कश्‍मीरी लाल म‍िर्च छोटी होने के साथ-साथ देगी म‍िर्च या सामान्‍य म‍िर्च के मुकाबले कम तीखी होती है। दक्ष‍िण भारत में सांभर या दक्ष‍िण की थाली में कश्‍मीरी लाल म‍िर्च ही डाली जाती है क्‍योंक‍ि वहां के लोग कम तीखा खाना पसंद करते हैं जबकि देगी म‍िर्च ज्‍यादा तीखी होती है ज‍िसे शौकीन ही खा सकते हैं। देगी म‍िर्च का साइज बड़ा होता है जबक‍ि कश्‍मीरी म‍िर्च का साइज छोटा होता है।

ड‍िश को तीखा दिखाने के ल‍िए डालें कश्‍मीरी लाल म‍िर्च (Kashmiri lal mirch is more red)

lal mirch benefits

(image source:google)

कश्‍मीरी लाल म‍िर्च में व‍िटाम‍िन ए भी होता है ये हमारी आंखों के ल‍िए फायदेमंद फूड्स में से एक है। अगर आप कम तीखा खाने के शौकीन हैं पर खाने में अच्‍छा रंग चाहते हैं तो आप कश्‍मीरी लाल म‍िर्च का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। कश्‍मीरी लाल म‍िर्च में चटख लाल रंग होता है ज‍िसे सब्‍जी या मसाले में डालने से ड‍िश की रंगत ही बदल जाती है। होटल स्‍टाइल खाना कुक कर रहे हैं तो खाने की बेहतर रंगत के ल‍िए आप कश्‍मीरी लाल म‍िर्च का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। वहीं बात करें देगी म‍िर्च की तो उसे एड करने से इतना अच्‍छा रंग नहीं आता है ड‍िश में।

इसे भी पढ़ें- काली मिर्च का ऐसा प्रयोग बढ़ाएगा आंखों की रोशनी, कब्‍ज और एसिडिटी में भी है फायदेमंद

अचार और चटनी बनाने के काम आती है कश्‍मीरी लाल म‍िर्च (Add kashmiri lal mirch in pickle and chutney)

कश्‍मीरी लाल म‍िर्च को खाने से बॉडी को एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स म‍िलते हैं। अगर आपको अचार और चटनी बनाने का शौक है तो आप उसमें कश्‍मीरी लाल म‍िर्च एड कर सकते हैं। इससे चटनी और अचार को गहरा लाल रंग म‍िलेगा। अचार और चटनी के अलावा आप पनीर के म‍िश्रण में भी कश्‍मीरी लाल म‍िर्च का पेस्‍ट डाल सकते हैं इससे सब्‍जी में अच्‍छा रंग आएगा।

आप कश्‍मीरी लाल म‍िर्च को एयर टाइट कंटेनर में रखकर हवा और नमी से बचाकर कई द‍िनों तक सुरक्ष‍ित रख सकते हैं।

(main image source:healthyfood)

Read more on Healthy Diet in Hindi 

Disclaimer