कहीं आप स्कैल्प के रूखेपन को डैंड्रफ तो नहीं समझ रहे? ऐसे पहचानें दोनों में अंतर

बालों की समस्या का उपाय करने से पहले आपको उस समस्या के सही कारण को समझना बेहद आवश्यक है। डैंड्रफ व डाई स्कैल्प बालों की समस्या की वजह हो सकते हैं।

Vikas Arya
Written by: Vikas AryaUpdated at: Jan 20, 2023 10:00 IST
कहीं आप स्कैल्प के रूखेपन को डैंड्रफ तो नहीं समझ रहे? ऐसे पहचानें दोनों में अंतर

प्रदूषित वातावरण व पोषण की कमी की वजह से बालों में कई तरह की समस्या होने लगती है। आपने महसूस ही किया होगा कि आपके बाल समय से पहले ही टूटने व झड़ने लगे हैं। बालों की ड्रैंडफ, ड्राई स्कैल्प व पोषण की कमी की वजह से कई तरह की परेशानियां शुरू हो जाती है। बालों के झड़ने व टूटने की वजह से आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि हमने पहले आपको ऐसे कई उपाय बताएं हैं जिनकी मदद से आप घर पर रहते हुए भी बालों को समस्याओं को कम कर सकते हैं। आपको बता दें कि बालों की किसी भी समस्या का समाधान या उपाय करने से पहले आपको उसके सही कारणों का पता होना चाहिए। डैंड्रफ और ड्राई स्कैल्प भी ऐसा ही एक कारण है, इन दोनों ही समस्याओं में लोगों को अक्सर कंफ्यूजन रहती है। लेकिन आज हम आपको डैंड्रफ और ड्राई स्कैल्प के बीच के अंतर को बताने जा रहे हैं।  

डैंड्रफ के क्या कारण होते हैं? Causes of Dandruff in Hindi  

डैंड्रफ और ड्राई स्कैल्प के बीच के अंतर के समझने से पहले आपको इसके कारणों पर गौर करना होगा। सिर की त्वचा पर कोशिकाएं होती है ये तब बढ़ती है जब इनकी आवश्यकता होती है। कोशिकाएं कुछ समय के बाद मृत हो जाती है। ये प्रक्रिया नियमित रूप से चलती है। लेकिन जब त्वचा पर ज्यादा मृत कोशिकाएं इकट्ठा होने लगती है तो इससे बालों में डैंड्रफ की समस्या होने लगती है। डैंड्रफ का मुख्य कारण सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस होता है, इसमें त्वचा तैलीय, लाल व पपड़ीदार हो जाती है।  

इसे भी  पढ़ें : सर्दियों में बिना नहाये भी बालों को चमकाएं ड्राई शैंपू से, जानें इस्तेमाल का तरीका 

dandruff in hindi

इसके बाद सिर से सफेद या पीले रंग की पपड़ी निकलने लगती है। इससे ही रूसी या डैंड्रफ कहा जाता है। शरीर में अक्सर मालेसिजिया (Malassezia) नामक फंगस भी रूसी के होने की संभावना को बढ़ा देता है। ये फंगस सिर की स्कैल्प पर जमा होता है। ये मृत कोशिकाओं की संख्या को तेजी से बढ़ाता है जिससे डैंड्रफ भी बढ़ने लगती है। आयु, चिंता व हार्मोन आदि कई वजह से ये फंगस त्वचा पर हो सकता है।  

ड्राई स्कैल्प के कारण - Causes of Dry Scalp in hindi 

सिर की त्वचा पर जब नमी का स्तर कम हो जाता है तो इससे स्कैल्प में रूखापना आने लगता है। इसे ही ड्राई स्कैल्प कहते हैं। ऐसे में स्कैल्प की त्वचा पपड़ीदार हो जाती है, साथ ही इसमें जलन भी होने लगती है। सर्दियों में जिस तरह से हाथ व पैरों की त्वचा में रूखापन आता है ठीक ऐसे ही सिर की त्वचा पर भी ड्राईनेस आने लगता है। सर्दियों की शुष्क हवा, स्कैल्प में किसी प्रोडक्ट से रिएक्शन, आयु का बढ़ना व नैचुरल ऑयल को कम करने वाले प्रोडक्ट को इस्तेमाल करने से ये समस्या होती है।  

डैंड्रफ और ड्राई स्कैल्प के बीच अंतर को जानें 

डैंड्रफ और ड्राई स्कैल्प के बीच के अंतर को आप उनकी स्थिति के आधार पर समझ सकते हैं। डैंड्रफ होने पर आपको सिर की त्वचा पर पपड़ी दिखाई देती है। साथ ही ये बालों से झड़ती भी है। ये पपड़ी के गुच्छे बड़े और तैलीय होते हैं। वहीं ड्राई स्कैल्प में त्वचा में तेल की कमी की वजह से रूखापन आ जाता है। इन दोनों ही स्थितियों में सिर पर खुजली होने लगती है।  

इसे भी पढ़ें : चिपचिपे और ऑयली बालों से छुटकारा पाने के आसान उपाय 

डैंड्रफ व ड्राई स्कैल्प का घरेलू उपाय  

  • डैंड्रफ होने पर आपको बालों को सप्ताह में कम से कम दो बार अवश्य धोना चाहिए।  
  • बालों में नहाने के बाद तेल अवश्य लगाएं।  
  • हल्के गुनगुने पानी से बालों को धोना।  
  • बालों में जोर लगाकर कंघी न करें।  
  • नारियल के तेल में कुछ बूंदे नींबू मिलाकर उसे नहाने से करीब दो घंटा पहले लगा लें। इसके बाद हल्के  गुनगुने पानी से बाल धो लें।  
  • ड्राई स्कैल्प में आपको अपने सिर की त्वचा पर मॉइस्चर बनाए रखना होता है, इसके लिए आप रात को ऑयलिंग करने का उपाय अपना सकते हैं।  
Disclaimer