लिवर कैंसर के मरीजों के लिए कैसी होनी चाहिए डाइट, डॉक्टर से जानें क्या खाएं और क्या नहीं

लिवर कैंसर के मरीजों को डाइट पर विशेष ध्यान देना चाहिए। ताकि बीमारी से काफी हद तक लड़ सकें। डाइट में क्या खाएं और क्या नहीं डॉक्टर से जानें।

Satish Singh
Written by: Satish SinghUpdated at: Sep 15, 2021 16:44 IST
लिवर कैंसर के मरीजों के लिए कैसी होनी चाहिए डाइट, डॉक्टर से जानें क्या खाएं और क्या नहीं

लिवर कैंसर के मरीजों को काफी सावधानी बरतनी चाहिए। ताकि बीमारी को मात दिया जा सके। इसके लिए उन्हें लाइफस्टाइल में परिवर्तन के साथ खानपान में कुछ बातों का ख्याल रख बीमारी से काफी हद तक बचाव किया जा सकता है। इस आर्टिकल में हम जमशेदपुर (डिमना) के ऑर्गन ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. एन सिंह से बात कर इस बीामरी से किस प्रकार बचाव किया जा सके व लंबे समय तक फिट रहा जा सके इसपर जानकारी हासिल करते हैं। 

जाने इस बीमारी से ये वेल बैलेंस डाइट क्यों खाते हैं

डॉक्टर बताते हैं कि अक्सर मरीज जब डाइटीशियन और डॉक्टर के पास जाते हैं और इस बीमारी को लेकर सलाह मांगते हैं। तो कई डॉक्टर क्या खाना है ये तो जानकारी दे देते हैं लेकिन उसे क्यों खाना है इसकी जानकारी नहीं देते हैं। जब भी कोई डाइट के बारे में जबरन आपको फॉलो करने को कहते हैं तो ऐसे में मरीज उसे फॉलो तो करते हैं लेकिन लंबे समय तक पालन नहीं कर पाते। इसलिए मरीज को डाइट के महत्व को बताना काफी जरूरी होता है। यदि मरीज डाइट के महत्व को समझेंगे तब उसे नहीं छोड़ेंगे। 

Diet For Liver

कमजोरी, इम्युनिटी और मेंटल हेल्थ को बढ़ाने के लिए डाइट जरूरी

डॉक्टर बताते हैं कि जब भी किसी को लिवर कैंसर होता है तो उसे फैलने के लिए अच्छे कैलोरीज की जरूरत होती है। यही वजह है कि इस बीमारी का पहला लक्षण कमजोरी होता है। ऐसे में इस कमजोरी से बाहर आने के लिए अच्छी डाइट की जरूत होती है। वहीं कैंसर की बीमारी से पीड़ित मरीजों की इम्युनिटी काफी कमजोर होती है। उसे बढ़ाने के लिए अच्छी डाइट जरूरी है। इस बीमारी से ग्रसित मरीज मेंटल स्ट्रेस से जूझ रहे होते हैं, ऐसे में उन्हें अच्छी डाइट की आवश्यकता होती है। क्योंकि कैंसर के इलाज में सर्जरी, लिवर ट्रांसप्लांट, इम्यूनोथेरेपी कीमोथेरेपी आदि के लिए काफी शक्ति की जरूरत होती है। इसलिए डाइट का काफी महत्तव होता है।

कीमोथेरेपी-इम्यूनोथेरेपी लेने पर यह होती है परेशानी

  • जी मचलाना
  • उल्टी
  • कब्जियत
  • लूज मोशन्स

1. शाकाहारी लोग पनीर, दाल का सेवन करें

डॉक्टर बताते हैं कि शाकाहारी लोगों को यदि ये बीमारी है तो वो डाइट में दाल, पनीर, स्प्राउट्स, सोयाबीन शामिल करें। कोशिश करें कि फैट युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन मॉडरेट अमाउंट में ही सेवन करें। 

2. सब्जी में घी व ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल

डॉक्टर बताते हैं कि हेल्दी फैट के लिए इस बीमारी से ग्रसित लोग नियमित मात्रा में घी का इस्तेमाल सब्जी बनाने के वक्त कर सकते हैं। वहीं ऑलिव ऑयल का सेवन भी कर सकते हैं। पारंपरिक तौर पर कब्जियत से बचाव के लिए घी का सेवन किया जाता रहा है। 

3. ड्राई फ्रूट्स और नट्स को करें डाइट में शामिल

एक्सपर्ट बताते हैं लिवर कैंसर की बीमारी से ग्रसित लोग हेल्दी डाइट के लिए खानपान में ड्राई फ्रूट्स और नट्स को शामिल कर सकते हैं। इसमें बादाम, अखरोज, किशमिश, पिस्ता आदि सेवन कर सकते हैं। इससे फाइबर व एनर्जी मिलती है। इसे शाम के समय में स्नैक्स के तौर पर खा सकते हैं। 

4. ज्यादा मात्रा में फाइबर युक्त भोजन करें

डॉक्टर बताते हैं कि इस बीमारी को लेकर बैलेंस डाइट में मरीज को फाइबर युक्त भोजन खाने की सलाह दी जाती है। फाइबर इसलिए खाना जरूरी है क्योंकि इंटेस्टाइन में जितने भी टॉक्सिन होते हैं व इसके साथ में कार्सिनोजेंस होते हैं वो कैंसर को बढ़ावा देते हैं। फाइबर डाइट इसको कम करने में मदद करता है। आप चाहें तो इसके लिए डाइटीशियन के साथ डॉक्टर की सलाह लेकर अपनी बीमारी के हिसाब से डाइट प्लान कर सकते हैं। 

5. फलों व सब्जियों का करें ज्यादा से ज्यादा सेवन

डॉक्टर बताते हैं कि लिवर कैंसर की बीमारी से ग्रसित मरीजों को डाइट में ज्यादा से ज्यादा फलों व सब्जियों का सेवन करना चाहिए। इसका सेवन करने से मरीज को ज्यादा से ज्यादा फाइबर मिलेगा, लो कार्ब मिलेगा, प्रोटीन मिलेगा। 

6. हाई प्रोटीन लेना है जरूरी

डॉक्टर बताते हैं कि इस बीमारी से ग्रसित मरीजों को हाई प्रोटीन डाइट लेने को कहा जाता है। इसमें मछली, अंडा, चिकन आदि सेवन करना चाहिए। कई एक्सपर्ट इसे न खाने की सलाह देते हैं। लेकिन इसमें सबसे अधिक प्रोटीन होता है। इसलिए इसका सेवन करें। 

Water intake

7. भरपूर पानी का सेवन करें

डॉक्टर बताते हैं कि लिवर कैंसर के मरीजों का ट्रीटमेंट चलने की वजह से उन्हें दिक्कत होती है। बीच-बीच में उल्टी, कब्जियत, लूज मोशन्स आदि होने से शरीर में पानी की कमी हो सकती है। ऐसे में उन्हें दिनभर में भरपूर पानी का सेवन करना चाहिए। मरीजों को बैलेंस डाइट के साथ शरीर को हाई़ड्रेट रखने की सलाह दी जाती है। मरीज को रोजाना 3 से चार लीटर पानी पीने की सलाह दी जाती है। 

इस केस में कम कर सकते हैं पानी 

डॉक्टर बताते हैं कि यदि मरीज को एडवांस लिवर सिरोसिस है और उसकी ट्रीटमेंट चालू है तो ऐसे में डॉक्टर मरीज को कम पानी पीने की सलाह दे सकते हैं, नमक का सेवन कम करने की सलाह दे सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें : खुद से कैसे करें कैंसर की जांच? डॉक्टर से जानें शरीर में दिखने वाले संकेत जिनसे चल सकता है कैंसर का पता

8. लो कार्बोहाइड्रेट का सेवन करें

डॉक्टर बताते हैं कि इस बीमारी के केस में मरीज को बैलेंस डाइट लेने की सलाह दी जाती है। इसमें लो कार्बोहाइड्रेट लेने की सलाह दी जाती है, जिसमें शुगर की मात्रा कम होती है। हेल्दी फैट खाने की सलाह दी जाती है। डाइट में ज्यादा से ज्यादा प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। 

Ginger for Liver

9. अदरक और लहसुन का करें सेवन

कैंसर के फ्री रेडिकल्स को खत्म करने में अदरक और लहसुन काफी कारगर है। ऐसे में डॉक्टर इस बीमारी से ग्रसित मरीजों को डाइट में अदरक और लहसुन का सेवन करने की सलाह देते हैं। 

10. बेड टाइम में एक कप हल्दी का दूध

लिवर कैंसर के मरीजों को बेड टाइम की डाइट में एक कप हल्दी के दूध का सेवन करना चाहिए। डॉक्टर बताते हैं कि इससे एनर्जी बढ़ती है। इसमें लो कैलोरी होता है। ऐसे में आप इसका सेवन कर सकते हैं। आप चाहें तो डाइटीशियन की सलाह ले सकते हैं। ताकि वो आपकी बीमारी के अनुसार आपके लिए अच्छा डाइट चार्ट तैयार करके दें। जिसे डेली रूटीन में शामिल कर इस बीमारी से आप लड़ सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें : कैंसर के दौरान शरीर में क्यों होती है सूजन? जानें कारण और सूजन दूर करने के उपाय

इन चीजों का न सेवन करें

  • ऑयली फूड, जंक फूड का सेवन न करें
  • कार्बोलेनेटेड ड्रिंक न पीएं
  • शराब का सेवन न करें, क्योंकि इससे लिवर ज्यादा काम करती है, बीमारी फैलने की संभावना ज्यादा होती है
  • सैचुरेटेड फैट-ट्रांस फैट का सेवन नहीं करें
  • रेड मीट आदि का सेवन न करें
  • >फ्रोजन फूड का कम से कम करें सेवन
  • वैसे खाद्य पदार्थ जिसमें  एडेड शुगर होता है उसका सेवन न करें, इससे ट्यूमर फैल सकता है
  • बिना पका हुआ खाना न खाएं

डाइट फॉलो करने के लिए एक्सपर्ट की लें सलाह

लिवर के मरीजों को इस बात का खास ख्याल रखना है कि बिना अपने डॉक्टर की सलाह लिए और डाइटीशियन के सलाह के डाइट फॉलो न करें। क्योंकि हर व्यक्ति का शरीर अलग होता है ऐसे में वो अपने शरीर के हिसाब से एक्सपर्ट की राय लेकर खानपान जारी रखें। 

Read More Articles On Cancer

Disclaimer