अब 2 से 18 वर्ष के बच्चों को दी जा सकेगी कोरोना वैक्सीन, DCGI ने दी मंजूरी

अब भारत में भी 2 से 18 वर्ष के बच्चों को कोरोना वैक्सीन दी जा सकती है। स्वदेसी वैक्सीन कोवैक्सीन को  DCGI ने मंजूदी दे दी है। 

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Oct 12, 2021
अब 2 से 18 वर्ष के बच्चों को दी जा सकेगी कोरोना वैक्सीन, DCGI ने दी मंजूरी

कोरोना से बचाव के लिए अबतक 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन दी जाती थी। लेकिन अब जल्द ही कोरोना से निपटने के लिए छोटे बच्चों (2 से 18 वर्ष) को भी वैक्सीन लगाई जाएगी। जी हां, केंद्र सरकार ने 2 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए स्वदेसी (Bharat Biotech) कोवैक्सीन को मंजूरी दे दी है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (Drugs Controller General of India) के मुताबिक, कोवैक्सिन की 2 डोज बच्चों को दी जाएंगी। हालांकि, फिलहाल बच्चों को वैक्सीन देने की पूरी गाइडलाइन जारी नहीं की गई है। जल्द ही इसकी पूरी डिटेल जारी कर दी जाएगी।

कोवैक्सिन के ट्रायल में काफी पॉजिटिव रिजल्ट आए हैं, जिसकी वजह से डीजीसीआई ने बच्चो को वैक्सीनेशन की अनुमति दे दी है। कोवैक्सिन के ट्रायल में बच्चों पर  इसके साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिले हैं। फिलहाल इस वैक्सीन को लेकर जल्द ही गाइड-लाइन जारी किया जाएगा। 

मालूम हो कि अब तक वयस्कों को 3 वैक्सीन लगाई जा रही हैं, जिसमें कोवीशील्ड और स्पूतनिक वी, कोवैक्सिन शामिल हैं। भारत बायोटेक द्वारा कोवैक्सिन को तैयार किया गया है। इसके साथ ही कोवीशील्ड बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट भी बच्चों के लिए वैक्सीन बनाने की तैयारी कर रही है। इसके अलावा जायडस कैडिला की वैक्सीन जायकोव-डी का भी क्लिनिकल ट्रायल पूरा हो चुका है। फिलहास इसे मंजूरी नहीं मिली है। यह वैक्सीन वयस्कों के साथ-साथ बच्चों को भी लगाई (Covid-19 Vaccine for Child) जा सकेगी।

अब तक बच्चों को किन देशों में जी रही है वैक्सीन?

कनाडा

बच्चों को कोरोना वैक्सीन देने की होड़ में सबसे आगे कनाडा है। इस देश में सबसे पहले बच्चों को वैक्सीन देने की शुरुआत की गई थी। दिसंबर 2020 में 16 साल तक के बच्चों को फाइजर वैक्सीन (Pfizer) देने का अप्रूवल मिल गया था। मई 2021 में यह दायरा बढ़ाकर 12 साल तक कर दिया गया। 

इसे भी पढ़ें - दुनिया की पहली मलेरिया वैक्सीन को WHO ने दी मंजूरी, जानें इस वैक्सीन के बारे में सभी जरूरी बातें

यूरोप

बच्चों के लिए 23 जुलाई को यूरोपियन यूनियन ने मॉडर्ना की वैक्सीन (Moderna's Vaccine) को अप्रूव किया गया था। यह वैक्सीन 12 से 17 साल तक के बच्चों को लगाई जाएगी। 

अमेरिका

वहीं, अमेरिका में मई महीने से फाइजर (Pfizer) वैक्सीन को 12 से अधिक उम्र के सभी बच्चों को लगाना शुरू कर दिया गया है। वहीं, दावा किया जा रहा है कि अगले साल तक अमेरिका में 12 से कम उम्र के बच्चों को भी वैक्सीन देने की शुरुआत हो सकती है। 

इजराइल

इजराइल की बात करें, तो यहां पर जून से 12 साल तक के लगभग सभी बच्चों को वैक्सीनेट करना शुरू कर दिया है। वहीं, 16 वर्ष तक के बच्चों को जनवरी से ही वैक्सीन दिया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें - अमेरिका में मिला कोरोना का नया संक्रामक वैरिएंट R.1, एक्सपर्ट्स ने दी चेतावनी, जानें इसके लक्षण

यूके

यूके में 12 साल के बच्चों को फाइजर वैक्सीन दी जा रही है। इसकी शुरुआत 19 जुलाई से की गई है। हालांकि, अभी सिर्फ मोर्बिडिटी वाले बच्चों को ही वैक्सीन दी जा रहा है। वहीं, मॉडर्ना की वैक्सीन को  सितंबर तक अप्रूवल मिलने की संभावना जताई जा रही है।

इसके अलावा चिली, माल्टा जैसे कई देशों में भी बच्चों को वैक्सीन लगाया जा रहा है। इन देशों के एक बड़ा हिस्सा वैक्सीनेट हो चुका है। देश की पूरी आबादी को वैक्सीनेट करने के लिए बच्चों को भी वैक्सीन दी जा रही है। 

 
Disclaimer