शुगर कंट्रोल ही नहीं बल्कि मीठे के क्रेविंग को भी कम करता है खजूर, जानें खजूर खाने का सही समय

खजूर फाइबर, कार्ब्स और प्रोटीन के अच्छे स्रोत, जो कि आपके मेटाबोलिज्म को तेज बना सकते हैं। वहीं इसके कई और फायदे भी हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Aug 13, 2021 14:23 IST
शुगर कंट्रोल ही नहीं बल्कि मीठे के क्रेविंग को भी कम करता है खजूर, जानें खजूर खाने का सही समय

खजूर एक ऐसा फल है जो आपकी सेहत के लिए बहुत ही अच्‍छा है। इसमें ढेरों पोषक तत्‍व पाए जाते हैं और माना जाता है कि ये कई बीमार‍ियों को दूर कर सकता है। ये न सिर्फ डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद है, बल्कि खजूर में मौजूद फाइबर आपके दिल को भी मजबूत और सेहतमंद बनाने का काम करते हैं। वहीं इसमें मौजूद पोटैश‍ियम हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है। खजूर का फाइबर, आपके पाचन तंत्र की सफाई करने के लिए भी काम आता है। पर क्या आपको पता है कि खजूर को खाने का सही समय क्या है और किस समय खजूर खाने से बचना चाहिए? आइए हम आपको बताते हैं इसके बारे में विस्तार से।

insidedatesforhealth

खजूर खाने का सबसे अच्छा समय

खजूर मीठे का पर्याय है। कई लोगों के लिए ये बहुत सेहतकारी है। जैसे कि डायबिटीज के मरीजों के लिए बनाई जाने वाली मिठाई में खजूर का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं खजूर मीठे के क्रेविंग को भी कम करता है। हालांकि जब आपको भूख लगे तब आप खजूर खा सकते हैं, पर कुछ तय समय समय पर खजूर खाने से आपको इसके कई स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : Eye Health: ये 5 खाद्य पदार्थ बढ़ती उम्र के साथ कम नहीं होने देंगे आंखों की रोशनी , बीमारियों से भी रखेंगे दूर

1.नाश्ते के समय

सुबह-सुबह अपने आहार में प्राकृतिक मिठास और फाइबर को जोड़ने के लिए खजूर एक उत्कृष्ट उपाय हो सकता है। इसकी उच्च फाइबर सामग्री आपको सुबह से शाम तक भरा हुआ महसूस करवा सकती है। वास्तव में, ये आपके शरीर भोजन के मैक्रोन्यूट्रिएंट अनुपात को भी बैलेंस करता है। इसकी कार्ब, प्रोटीन, और वसा संरचना आपके पेट के लिए फायदेमंद है।

2.दोपहर के स्नैक्स के रूप में

खजूर फाइबर का एक अच्छा स्रोत है और प्राकृतिक शर्करा में उच्च है। फाइबर और चीनी की यह जोड़ी ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करता है। जब आप भूखे होते हैं इन्हें खाने से आपके शरीर में कैलोरी का बैलेंस हो जाता है। वहीं दिन लोगों को बीच-बीच में कुछ खाने का मन होता है खजूर उनके लिए भी फायदेमंद है।

3.वर्कआउट से पहले

हालांकि खजूर में शुगर स्वाभाविक रूप से अधिक होते हैं पर ये हेल्दी होते हैं। ये एक प्रकार की धीमी गति से रिलीज़ होने वाली कार्ब प्रदान करते हैं, जो आपके वर्कआउच को तेज करने में मदद करता है। कोशिश करें कि वर्कआउट से 30-60 मिनट पहले 2-4 खजूर खाएं।

इसे भी पढ़ें : प्याज, उड़द की दाल जैसे इन 6 फूड्स के साथ दही का सेवन बना सकता है आपको इन समस्या का शिकार, खाने से करें परहेज

4.नाइट स्नैक्स के रूप में

खजूर उच्च फाइबर सामग्री के कारण एक उत्कृष्ट नाइट स्नैक्स है। फाइबर को पचने में अधिक समय लगता है, जो आपको भरा महसूस करने में मदद कर सकता है और आधी रात को भूख को दबा सकता है। तो रात में अगर मीठे की क्रेविंग हो, तो खजूर खाएं।

insidedatesweets

कब आपको खजूर नहीं खाना चाहिए?

  • -आपको आंत्र सिंड्रोम (IBS) है तो आपको इसे खाने से बचना चाहिए। IBS वाले लोग FODMAPs वाले खाद्य पदार्थों के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं, जो कि छोटे-चेन वाले कार्ब्स जैसे कि खजूर को  को पचा नहीं पाते हैं।
  • -कमजोर लिवर वाले लोगों को भी ज्यादा खजूर नहीं खाना चाहिए क्योंकि ये फ्रुक्टोज के एक महत्वपूर्ण स्रोत है, जो पेट को खराब कर सकता है।
  • -भोजन के बाद खजूर न खाएं। इसमें फाइबर अधिक होता है, जिसे पचने में अधिक समय लगता है। परिणामस्वरूप, ज्यादा खाने के बाद बड़ी संख्या में खजूर खाने से आप बेहद भरा और असहज महसूस कर सकते हैं।

खजूर यूं, तो शरीर के लिए हर मायने में फायदेमंह है पर अगर आपको एलर्जी है, तो आपको खजूर खाने से बचना चाहिए। अगर आपको लगता है कि खजूर खाने के बाद आपको खुजली या रैशेज होते हैं, तो पहले ड़क्टर से दिखाएं और फिर खजूर न खाएं।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer