प्रतिरक्षा को बढ़ाने और कैंसर के विकास को रोकने में मददगार हो सकती है रोजाना एक्‍सरसाइज करना

नए अध्‍ययन में पाया गया है कि रोजाना व्‍यायाम करने से व्‍यक्ति की रोग प्रतिरक्षा मजबूत होती है और साथ ही कैंसर की वृद्धि को रोकने में मदद मिलती है।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Oct 29, 2020
प्रतिरक्षा को बढ़ाने और कैंसर के विकास को रोकने में मददगार हो सकती है रोजाना एक्‍सरसाइज करना

एक स्‍वस्‍थ शरीर और फिट बॉडी के लिए व्‍यायाम बेहद जरूरी है। रोजाना व्‍यायाम या एक्‍सरसाइज करने से आपको शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहने में मदद मिलती है। नियमित व्‍यायाम के कई फायदे हैं, लेकिन हाल में हुए एक अध्‍ययन में पाया गया कि रोजाना व्‍यायाम करन से कैंसर सेल्‍स की वृद्धि को बाधित किया जा सकता है। इतना ही नहीं, व्‍यायाम आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाने में भी मददगार है।

व्‍यायाम से कैसे कम हो सकता है कैंसर के विकास का जोखिम?

आपको सुनकर हैरानी हो सकती है कि कैसे नियमित व्‍यायाम से कैंसर के विकास को रोका या कम किया जा सकता है। लेकिन यह सच है, कि जिस कैंसर के नाम से ही हम सब घबरा जाते हैं, उसके खतरे को नियमित व्‍यायाम से कम किया जा सकता है। जी हां, ऐसा इसलिए संभव है कि व्‍यायाम व्‍यक्ति के मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ावा देता है और उसमें सुधार करता है, जो कि शरीर में कैंसर कोशिकाओं पर हमला करता है।

क्‍या कहती है रिसर्च?

जर्नल ई लाइफ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में पाया गया है कि व्‍यायाम से कैंसर के विकास को रोका जा सकता है। चूहों पर किए गए एक शोध में, स्वीडन में कारोलिंस्का इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं ने पाया कि शारीरिक गतिविधि से प्रतिरक्षा कोशिकाओं यानि साइटोटॉक्सिक टी सेल्‍स के मेटाबॉलिज्‍म को बदल दिया, जो कि कैंसर कोशिकाओं पर हमला कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- फेफड़े को बचाना हैं तो पेट्रोल भरवाते समय बरतें सावधानी, जाने क्या है वजह

अध्‍ययन के लेखक रान्‍डल जॉनसन कहते हैं, व्‍यायाम के सकारात्‍मक प्रभावों के पीछे का विज्ञान यह कहता है कि ये शरीर के स्‍वास्‍थ्‍य को बनाए रखने और कैंसर के खिलाफ उपचार को बेहतर बनाने में मददगार हो सकता है।

कैसे किया गया अध्‍ययन?

शोधकर्ताओं ने इस अध्‍ययन में साइटोटॉक्सिक टी कोशिकाओं के महत्व की भी जांच की और जानने की कोशिश की कि कैसे प्रतिरक्षा प्रणाली के साइटोटॉक्सिक टी कोशिकाएं यानि व्‍हाइट ब्‍लड सेल्‍स, कैंसर कोशिकाओं को मारने में विशेष हैं। इसके लिए शोधकर्ताओं ने चूहों को दो समूहों में बांटा। इनमें एक समूह में नियमित शारीरिक गतिविधि शामिल थी और दूसरे निष्‍क्रिय थे। जिसके बाद अध्‍ययन के परिणामों से पता चला कि निष्क्रिय समूह की तुलना में शारीरिक रूप से सक्रिय समूह में कैंसर की विकास दर धीमी थी और मृत्‍यु दर में कमी थी।

इसे भी पढ़ें- देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 80 लाख के पार, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी हुईं अब कोरोना की शिकार 

शोधकर्ताओं का कहना है कि हमारे अध्‍ययन से पता चलता है कि व्यायाम कई अणुओं और मेटाबॉलिज्‍म के उत्पादन को प्रभावित करता है, जो कैंसर से लड़ने वाली प्रतिरक्षा कोशिकाओं को सक्रिय करते हैं और जिससे कैंसर के विकास को रोकने में मदद मिलती है। शोधकर्ताओं का मानना है कि रोजाना कम से कम 30-40 मिनट तक व्यायाम करना आपके लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है।

Read More Article On Health News In Hindi

Disclaimer