क्या भारत में शुरू हो गई कोरोना की दूसरी लहर? इन पांच राज्यों में तेजी से बढ़ रहे हैं मामले

पांच राज्यों में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में कोरोना वायरस कि दूसरी लहर शुरू हो चुकी है।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Mar 17, 2021Updated at: Mar 17, 2021
क्या भारत में शुरू हो गई कोरोना की दूसरी लहर? इन पांच राज्यों में तेजी से बढ़ रहे हैं मामले

भारत में कोरोनोवायरस (COVID-19) का कहर एक बार फिर से शुरू हो गया है। देश में कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे बड़ा केंद्र महाराष्ट्र बन गया है। मुंबई से लेकर सूरत तक और पुणे से पंजाब तक कई शहर एक बार फिर से कोरोना वायरस के चपेट में आते दिख रहे हैं। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Second Wave of Coronavirus) शुरू हो गयी है। देश में कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सभी राज्यों के साथ समीक्षा बैठक कर स्थिति का जायजा लेंगे। पिछले साल सितम्बर के बाद से देश में कोरोना के मामलों में कुछ कमी आयी थी लेकिन एक बार फिर से अब महाराष्‍ट्र, पंजाब, गुजरात, दिल्‍ली, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश जैसे राज्‍यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों ने सरकार और लोगों की चिंता बढ़ा दी है।

महाराष्ट्र समेत इन पांच राज्यों की स्थिति गंभीर (COVID-19 In Maharashtra)

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक कुल सक्रिय मामलों की संख्या 2,34,406 हो गयी है। पिछले 24 घंटे में देश में कुल 28,903 नए मामले सामने आये हैं। वहीं पिछले 24 घंटे में कुल 17,741 लोग कोरोना से ठीक हुए हैं और कुल 188 लोगों की मौत दर्ज की गयी है। भारत में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 1,14,38,734 हो गयी है, वहीं कोरोना से ठीक हुए लोगों की कुल संख्या 1,10,45,284  पहुँच गयी है।

Coronavirus latest news

कोरोना वायरस के खिलाफ चल रहे टीकाकरण अभियान में अब तक कुल 3,50,64,536  लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। देश के पांच राज्यों की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है, राज्य, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, और तमिलनाडु में देश के कुल 53 प्रतिशत से अधिक मामले हैं। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले लगतार तेजी से बढ़ रहे हैं, मार्च के महीने में रोजाना 15 हज़ार से अधिक मामले महाराष्ट्र में देखे गए हैं। राज्य की राजधानी मुंबई में भी स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है। मुंबई में भी रोजाना 1 हज़ार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। नागपुर में कोरोना के खतरे को देखते हुए सम्पूर्ण लॉक डाउन लगा दिया गया है, साल 2021 में लॉकडाउन लगाने वाला यह पहला शहर है। लगातार पिछले कुछ दिनों से देश में कोरोना के सक्रिय मामलों में बढ़ोत्तरी हो रही है। देश की राजधानी दिल्ली में भी मामले बढ़ने से स्थिति चिंताजनक हो गयी है।

इसे भी पढ़ें: क‍िस कंडीशन में न लगवाएं कोरोना का टीका? ICMR एक्सपर्ट से जानें कोरोना वैक्सीन से जुड़े ऐसे 14 सवालों के जवाब

मध्य प्रदेश में रोको-टोको अभियान शुरू

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए 'रोको-टोको अभियान' शुरू किया गया है, इस अभियान के जरिए कोरोना से बचने के लिए लोगों से मास्क जरूर पहनने की अपील की जा रही है।

पंजाब में, कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान को तेज करने की बात कही गई है। प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों को भी टीके लगाए जायेंगे।
राजस्थान में कोरोना से बचने के लिए स्कूलों, धार्मिक स्थलों, बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनों पर कोरोना की जांच को बढ़ाने के आदेश दिए गए हैं।

दुनियाभर में कोरोना की स्थिति (World Coronavirus Update)

भारत में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से होने वाली कुल मौत की संख्या 158,836 हो गई है। दुनियाभर में कोरोना के कुल सक्रिय मामलों की ख़राब स्थिति वाले देशों में भारत 11वें नंबर पर है। पूरी दुनिया की बात करें तो विश्वभर में कोरोना वायरस की वजह से कुल 120,539,415 संक्रमित हो चुके हैं। विश्वभर में कुल 97,069,725 कोरोना संक्रमण से ठीक हुए हैं और अब तक इस खतरनाक वायरस से कुल 2,667,169 लोगों की मौत हो चुकी है। पूरी दुनिया में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले अमेरिका में हैं, अमेरिका में कोरोना के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 30,083,791 हो गई है। अमेरिका के बाद कोरोना के सबसे अधिक मामलों में दूसरे स्थान पर ब्राजील है, भारत पूरी दुनिया में कोरोना के मामलों में तीसरे स्थान पर है। हालांकि कुल सक्रिय मामलों की बात करें तो अमेरिका के बाद फ्रांस, ब्राजील, बेल्जियम और ब्रिटेन का स्थान है, इस मामले में भारत 11वें नंबर पर है।

प्रधानमंत्री मोदी की राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक (PM Modi COVID Meet With CMs)

कोरोना वायरस के खिलाफ देश भर में चलाये जा रहे टीकाकरण अभियान और कोरोना के वर्तमान स्थिति की समीक्षा के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा की। गौरतलब हो कि पीएम मोदी ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए चलाये जा रहे अभियान को लेकर जनवरी में टीकाकरण से पहले सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में कोरोना वायरस की वर्तमान स्थिति से निपटने के लिए विस्तृत चर्चा की। मिली जानकारी के अनुसार सरकार ने टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका द्वारा निर्मित कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड की 10 करोड़ खुराक लेने का आदेश दिया है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से सरकार यह वैक्सीन जीएसटी सहित 157.5 रुपये प्रति खुराक के हिसाब से खरीदेगी। आपको बता दें कि भारत ने कोरोना वायरस के खिलाफ चलाये जा रहे टीकाकरण अभियान के लिए दो टीकों को मंजूरी दी है - जिसमें कोविशील्ड जिसे SII द्वारा बनाया गया है, और हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक कि कोवैक्सीन शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: क्या है कोरोनाफोबिया? एक्सपर्ट से जानें दुनियाभर में फैल रही इस नई समस्या के लक्षण, कारण और इलाज

Coronavirus in india

दिल्ली में मिला दक्षिण अफ्रीकी स्ट्रेन का पहला मरीज (Delhi Reports First Case of South African Variant of COVID-19)

देश की राजधानी दिल्ली में पहली बार दक्षिण अफ्रीका के कोरोना स्ट्रेन के मरीज की पुष्टि हुई है। दक्षिण अफ्रीकी स्ट्रेन की पुष्टि होने के बाद दिल्ली में सतर्कता बढ़ा दी गई है। मंगलवार को केरल के रहने वाले एक व्यक्ति में कोरोना वायरस के दक्षिण अफ्रीका के स्ट्रेन की पुष्टि हुई थी, यह व्यक्ति दक्षिण अफ्रीका से दिल्ली आया था। एयरपोर्ट पर कोरोना की जांच के दौरान यह मामला पाया गया है, इस व्यक्ति को दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में भर्ती कराने के आड़ इसके सैंपल को आगे जांच के लिए भेजा गया है। दुनियाभर में कोरोना वायरस के कई अलग-अलग तरह के स्ट्रेन पाए गए हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक तापमान और परिस्थितियों के अनुसार ये स्ट्रेन अपनी संरचना में बदलाव लाते हैं। भारत में अब तक 250 से अधिक मरीजों में अलग-अलग प्रकार के स्ट्रेन की पुष्टि की गई है।

Read More Articles on Health News in Hindi

Disclaimer