बीते 24 घंटे में 3,207 नए कोरोना के मामले, क्या आने वाली है कोरोना की चौथी लहर? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

कुछ हफ्तों से देश में कोरोना के मामलों में उतार-चढ़ाव जारी है, बीते 24 घंटे में 3,207 नए मामले आये हैं, जानें क्या देश में चौथी लहर आने वाली है?

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 09, 2022Updated at: May 09, 2022
बीते 24 घंटे में 3,207 नए कोरोना के मामले, क्या आने वाली है कोरोना की चौथी लहर? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

देश में पिछले कुछ हफ्तों से कोरोना वायरस के मामलों में उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। पिछले कुछ दिनों से सामने आ रहे नए मामले चिंता का विषय भी बने हुए हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि दुनियाभर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों का खतरा भारत में भी मंडरा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,207 नए मामले सामने आये हैं। आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में सामने आये नए मामले रविवार को दर्ज हुए मामलों की तुलना में 7 फीसदी कम हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान देश में कोरोना संक्रमण के चलते 29 मरीजों की मौत भी दर्ज हुई है। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण होने वाली कुल मौतों का आंकड़ा 524,093 हो गया है हालांकि विश्व स्वस्थ्य संगठन ने देश में कोरोना के चलते 47 लाख मौतों का आकलन किया है जिसको लेकर केंद्र सरकार और डब्ल्यूएचओ के बीच बहस छिड़ गयी है। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटे में कोरोना से 3,410 लोग रिकवर हुए हैं और अब तक कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़कर 42,560,905 हो गयी है। नए मामलों के दर्ज होने के बाद देश में कोरोना वायरस के अब तक के कुल मामले बढ़कर 4,31,02,535 हो गए हैं।

राजधानी दिल्ली में कोरोना का हाल (Coronavirus Cases in Delhi in Hindi)

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के नए मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। बीते कुछ सप्ताह से दिल्ली में कोरोना संक्रमण की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक राजधानी में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1,422 नए मामले दर्ज किये गए हैं। गौरतलब हो कि कोरोना संक्रमण के मामले में दिल्ली देश में सबसे प्रथम राज्य बना हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में कोरोना वायरस के चलते बीते 24 घंटे में कोई भी मौत दर्ज नहीं की गयी है। राजधानी दिल्ली में सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना की संक्रमण दर 5.34 फीसदी है। बीते 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 1,438 लोग ठीक भी हुए हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने अपने हेल्थ बुलेटिन में बताया है कि दिल्ली में बीते 24 घंटे में कुल 26,647सैंपल की जांच हुई है जिसके बाद 1,422 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। राजधानी दिल्ली में बीते कई सप्ताह से रोजाना 1 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं लेकिन बीते कुछ दिनों से कोरोना की वजह से एक भी मौत दर्ज नहीं की गयी है।

इसे भी पढ़ें : ये हैं कोरोना वायरस के ओमिक्रोन वैरिएंट के लक्षण, दिखते ही डॉक्टर से करें संपर्क

राजधानी दिल्ली के अलावा देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमण की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक कई राज्यों में कोरोना वायरस के नए मामलों की संख्या लगातार जस की तस बनी हुई है। जानकारी के मुताबिक ओड़िसा के रायगढ़ जिले में 64 छात्रों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के नोएडा और गाजियाबाद जिले में स्कूली छात्रों में कोरोना संक्रमण पाया गया था। इस समय देश के सभी राज्यों में स्कूल और कॉलेज खुले हुए हैं और कम उम्र के बच्चों का वैक्सीनेशन न होने के कारण उनमें कोरोना का खतरा ज्यादा है। इसी को देखते हुए सरकार ने 5 साल की उम्र से अधिक आयु वाले सभी बच्चों का टीकाकरण करने की अनुमति दी है।

क्या देश में आने वाली है कोरोना की चौथी लहर? (Coronavirus Fourth Wave in India in Hindi)

बीते कुछ दिनों से दुनियाभर के कई देशों में कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। तीसरी लहर के खत्म होने के बाद ये कयास लगाये जा रहे थे कि अब कोरोना संक्रमण की अगली लहर नहीं आएगी। लेकिन एक बार फिर से दुनियाभर के देशों में बढ़ रहे कोरोना के मामले इस बात की पुष्टि कर रहे हैं कि कोरोना की चौथी लहर का खतरा अभी टला नहीं है। दुनिया के कई देशों में कोरोना की चौथी लहर की पुष्टि भी की गयी है जिसमें चीन भी शामिल है। भारत में कोरोना के बढ़ते मामले और ओमिक्रोन के नए वैरिएंट के सामने आने के बाद स्थिति बदल गयी है। देश के कुछ हिस्सों में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले चौथी लहर का खतरा माने जा रहे हैं। हालांकि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के अतिरिक्त महानिदेशक समीरन पांडा ने कहा है कि देश में बढ़ते मामलों को चौथी लहर नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने कहा है कि देश के कुछ जिलों में ही कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं जिसे चौथी लहर का खतरा कहना अभी गलत होगा। वहीं एक समाचार एजेंसी से बातचीत करते हुए मशहूर डॉक्टर आर गंगाखेड़कर ने कहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों से यह नहीं कहा जा सकता है कि ये चौथी लहर है। हालांकि इन सभी एक्सपर्ट्स ने लोगों से मास्क के इस्तेमाल और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है। 

इसे भी पढ़ें : क्या गर्भवती महिलाएं लगवा सकती हैं कोविड वैक्सीन का बूस्टर डोज? जानें डॉक्टर की राय

देश में बीते कुछ दिनों से लगातार कोरोना के नए मामलों में उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। कोरोना संक्रमण के खिलाफ देश में राष्ट्रव्यापी वैक्सीनेशन प्रोग्राम तेजी से चलाया जा रहा है। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक नेशनल वैक्सीनेशन प्रग्राम के तहत देश में अब तक 1,90,34,90,396 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा चुकी है। बीते 24 घंटे में देश में कोरोना वैक्सीन की 13,50,622 डोज लोगों को लगाई गयी है।

(All Image Source - Jagran.com)

Disclaimer