कोरोना का सबसे खतरनाक वैरिएंट है Kraken, भारत में भी हुई पुष्टि, WHO ने किया अलर्ट

Covid 19 The Kraken Variant: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोरोना का नया क्रैकेन वैरिएंट दुनिया का सबसे खतरनाक वैरिएंट है, जानें इसके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Jan 11, 2023 16:41 IST
कोरोना का सबसे खतरनाक वैरिएंट है Kraken, भारत में भी हुई पुष्टि, WHO ने किया अलर्ट

Covid 19 The Kraken Variant: कोरोना वायरस के नए-नए वैरिएंट दुनियाभर के कई देशों में पिछले 2 सालों से सामने आ रहे हैं। हाल ही में सामने आए कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट का सब वैरिएंट BF.7 सबसे खतरनाक और तेजी से फैलने वाला वैरिएंट बताया जा रहा था। लेकिन अब विश्व स्वास्थ्य संगठन एक नए वैरिएंट को कोरोना वायरस का सबसे खतरनाक वैरिएंट मान रहा है। डब्ल्यूएचओ ने चेतवानी देते हुए कहा है कि The Kraken Variant दुनिया भर में अब तक सामने आए कोरोना के वैरिएंट में से सबसे खतरनाक वैरिएंट है। इस नए वैरिएंट के मामले भारत में भी सामने आ चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि सोमवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी पुष्टि की है। कोरोना की नया और सबसे खतरनाक वैरिएंट The Kraken Variant दुनियाभर के लगभग 28 देशों में मिल चुका है और WHO की चेतावनी के मुताबिक यह वैरिएंट तेजी से अन्य देशों में भी फैल सकता है।

द क्रैकेन वैरिएंट क्या है?- What is The Kraken Variant?

कोरोना वायरस का नया वैरिएंट क्रैकेन दुनिया में अब तक सामने आया सबसे खतरनाक वैरिएंट माना जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि इस वैरिएंट के दुनियाभर में तेजी से फैलने के चांस हैं। द क्रैकेन वैरिएंट (The Kraken Variant) ओमिक्रोन वैरिएंट का नया सब वैरिएंट है, इसे XBB.1.5 के नाम से भी जाना जाता है। चीन, जापान, कोरिया और यूरोपीय देशों सामने अमेरिका और भारत में इस नए और खतरनाक वैरिएंट की पुष्टि हुई है। यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज प्रीवेंशन एंड कंट्रोल की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोनावायरस के ओमिक्रोन वैरिएंट का सब वैरिएंट XBB अन्य वैरिएंट की तुलना में ज्यादा संक्रामक है। इस वैरिएंट के ही नए सब वैरिएंट XBB.1.5 को विश्व स्वास्थ्य संगठन सबसे खतरनाक वैरिएंट बताते हुए क्रैकेन नाम दिया है। पूरी दुनिया में इस वैरिएंट को लेकर शोध और अध्ययन किये जा रहे हैं।

Covid 19 The Kraken Variant

इसे भी पढ़ें: क्या सच में कोरोना का नया वैरिएंट है दिमाग के लिए घातक? जानें सच्चाई

कई गुण ज्यादा संक्रामक है नया वैरिएंट- Kraken Variant Transmission Rate 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक अमेरिका में इस समय मची तबाही के पीछे भी क्रैकेन वैरिएंट का ही हाथ बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि ओमिक्रोन के सब वैरिएंट XBB.1.5 के तेजी से फैलने के कारण अमेरिका में कोरोना संक्रमण की स्थिति बेहद गंभीर रूप में बदल गयी है। इसके अलावा दुनियाभर के कई वैज्ञानिक इस नए वैरिएंट को दूसरे सभी वैरिएंट की तुलना में ज्यादा संक्रामक मान रहे हैं। इस नए वैरिएंट के लक्षणों और बाकी वैरिएंट के लक्षणों में अंतर कर पाना भी बड़ा मुश्किल है। कोरोना के सबसे खतरनाक वैरिएंट पर वैक्सीन के प्रभाव को लेकर भी शोध लगातार जारी है।

क्रैकेन वैरिएंट क्यों है सबसे ज्यादा खतरनाक?- Why The Kraken Variant Is More Dangerous?

विश्व स्वास्थ्य संगठन की विशेषज्ञों की एक समिति ने कोरोना के नए Kraken वैरिएंट को सबसे ज्यादा खतरनाक वैरिएंट बताया है। जानकारी के मुताबिक यह वैरिएंट दुनिया के लगभग 29 देशों में फैल चुका है। डब्ल्यूएचओ की कोविड-19 टेक्निकल कमिटी की प्रमुख वैज्ञानिक मारिया वैन केरखोव के मुताबिक इस नए वैरिएंट में मौजूद रिसेप्टर ACE2 ज्यादा स्ट्रांग पोजीशन में है और यह वैरिएंट इम्यून सिस्टम से बचकर शरीर को संक्रमित कर रहा है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इसकी वजह से यह वैरिएंट कोरोना वैक्सीन के प्रभाव को भी बेअसर कर लोगों को संक्रमित कर सकता है।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer