खाना बनाने वाले तेल का आपके दिल की सेहत पर कैसे पड़ता है असर? डायटीशियन से जानें हार्ट के लिए बेस्ट कुकिंग ऑयल

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। खासतौर पर कुकिंग ऑयल से जुड़ी बातों को लेकर हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है। 

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Sep 28, 2021
खाना बनाने वाले तेल का आपके दिल की सेहत पर कैसे पड़ता है असर? डायटीशियन से जानें हार्ट के लिए बेस्ट कुकिंग ऑयल

तेल हमारे खाने का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। जब भी हम किचन में खाना तैयार करने के लिए जाते हैं, तो सबसे पहले हमारा ध्यान तेल कि ओर जाता है। कुछ लोगों को अधिक तेल से तैयार चीजों का सेवन करना बहुत ही अच्छा लगता है। लेकिन कभी-कभी शरीर को स्वस्थ रखने  के लिए स्वाद से कॉम्प्रोमाइज करना पड़ता है। खासतौर पर अगर आप हार्ट के मरीज हैं, तो कुकिंग ऑयल का आपको खास ध्यान देने की जरूरत होती है। कई हेल्थ एक्सपर्ट हार्ट के मरीजों को अधिक मात्रा में कुकिंग ऑयल का सेवन करने के लिए मना करते हैं। डायट मंत्रा क्लीनिक की डायटीशियन कामिनी कुमारी बताती हैं कि तेल हमारे किचन का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। जब भी हम खाना बनाते हैं, तो तेल का होना बहुत ही जरूरी होता है। लेकिन तेल का सही मात्रा में इस्तेमाल करना बेहद जरूरी होता है। अगर आप ज्यादा तेल का सेवन करते हैं, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए घातक भी हो सकता है। वहीं, संतुलित मात्रा में तेल का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद भी हो सकता है। 

कुकिंग ऑयल का हार्ट हेल्थ पर क्या होता है असर?

डायट मंत्रा डायटीशियन कामिनी का कहना है कि तेल में मोनोसैचुरेड ओलिक एसिड पाया जाता है, जो स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है। यह हमारी बॉडी में कोलेस्ट्रॉल को संतुलित करने में मददगार हो सकता है। साथ ही हार्ट के डिजीज को कम करने में मददगार हो सकता है। इसके अलावा कुछ तेलों में फॉलिक सैचुरेटेड फैटी एसिड मौजूद होता है, तो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसके आपके शरीर को ओमेगा-3 फैटी एसिड प्राप्त होता है। ऐसे में अगर आप कुकिंग तेल का इस्तेमाल सही तरीके से और सही मात्रा में करते हैं, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। लेकिन अगर आप तेल को ज्यादा गर्म करके खाते हैं, या डिप फ्राइड चीजें खाते हैं, तो इससे तेल में मौजूद पोषक तत्व नष्ट हो सकते हैं। तेल को ज्यादा गर्म करके खाने से आपके शरीर को नुकसान हो सकता है। इसलिए हमेशा तेल को ज्यादा गर्म न करें। सही मात्रा में तेल का सेवन करेँ। वहीं, कुछ ऐसे तेल है, जो हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। चलिए जानते हैं उसके बारे में-

इसे भी पढ़ें - मिनी हार्ट अटैक क्या है? डॉक्टर से जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज के तरीके

ऑलिव ऑयल 

ऑलिव ऑयल एक्स्ट्रा वर्जिन ऑयल होता है, जिसमें रिफाइंड नहीं होता है। यह आपके शरीर को म्यूफा और क्यूफा प्रदान करता है, जो आपके हार्ट हेल्थ के लिए अच्छा माना जाता है। इसका इस्तेमाल आप सलाद और कुकिंग में कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि इसे ज्यादा गर्म न करें। 

सन फ्लावर ऑयल

डायटीशियन कामिनी बताती हैं कि सनफ्लावर ऑयल हमारे देश में काफी कॉमन ऑयल है। इसका अधिकतर लोग इस्तेमाल करते हैं। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड भरपूर रूप से मौजूद होता है, जो हमारे बॉडी में कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में मददगार होता है। साथ ही यह गुड कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ाता है और शरीर में विषाक्ताता को नहीं होने देती है। इसके अलावा सनफ्लावर ऑयल शरीर के आंतरिक और बाहरी सूजन को भी कम करने में मददगार होता है। इसके अलावा यह हड्डियों में दर्द और स्किन के लिए भी काफी असरदार है। 

कैनेला ऑयल 

कैनेला ऑयल कोलेस्ट्रॉल लेवल को सुधारने में आपकी मदद कर सकता है। साथ ही यह स्किन के लिए भी काफी अच्छा माना जाता है। इसमें विटामिन ई और के की अधिकता होती है, जो स्किन की खूबसूरती को बढ़ाने में मददगार है।

इसे भी पढ़ें - वजन कम करने में मददगार है खीरे का डाइट प्लान (Cucumber Diet Plan), डायटीशियन से जानें इसके फायदे-नुकसान

एवोकाडो ऑयल

हार्ट हेल्थ के लिए एवोकाडो ऑयल भी अच्छा तेल माना जा सकता है। इसमें विटामिन के भरपूर रूप से मौजूद होता है, जो आपके बालों और स्किन के लिए अच्छे माने जाते हैं। साथ ही इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड और म्यूफा और क्यूफा की मौजूदगी होती है, जो हार्ट से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में आपकी मदद कर सकता है। 

अखरोट का तेल

डायटीशियन का कहना है कि अखरोट ऑयल की स्मोकिंग प्वाइंड काफी कम होती है। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जो दिल के लिए अच्छा माना जाता है। इसके अलावा इसमें ओमेगा-6 फैटी एसिड भी पाया जाता है। यह इंफ्लामेशन को कम करने में आपकी मदद करता है। साथ ही यह हमारी बॉडी से गंदगी को साफ करने में मददगार होता है।

अलसी का तेल

कामिनी कुमारी बताती हैं कि फ्लैक्स सीड्स ऑयल हार्ट हेल्थ के लिए काफी अच्छा माना जाता है। यह एंटी-इंफ्लेमेटरी के गुणों से भरपूर होता है। साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में आपकी मदद करता है। इसमें भी ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जो दिल की बीमारियों को दूर रखने में आपकी मदद करता है। साथ ही इससे आपके मेमोरी क्षमता बढ़ती है।  

शीशम ऑयल

इसमें  मोनोसैचुरेड ओलिक एसिड और फॉलिक सैचुरेटेड फैटी एसिड की मौजूदगी होती है। यह तेल आपको कई सारे फ्लेवर्ड में मिल सकते हैं। डायटीशियन बताती हैं कि इसका स्मोकिंग प्वाइंट काफी कम होता है। इसलिए इसका इस्तेमाल खाना पकाने के लिए कम ही होता है। 

इसे भी पढ़ें - पेशाब में जलन होने पर क्या खाएं और किन चीजों से करें परहेज? जानें डाइट टिप्स

कोकोनट ऑयल

डायटीशियन का कहना है कि कोकोनट ऑयल स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। लेकिन अगर आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल काफी ज्यादा हाई है, तो इसका सेवन न करें। दरअसल, इसमें फैटी एसिड की मात्रा ज्यादा होती है, जिससे कारण आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ सकता है। इसलिए हाई कोलेस्ट्रॉल से ग्रसित लोगों को इसके सेवन से बचना चाहिए। 

कौन सा तेल है हार्ट के लिए बेस्ट? (Best cooking oil for heart patients)

डायटीशियन कामिनी का कहना है कि अगर आप हार्ट हेल्थ की बात करें, तो सबसे अच्छा कुकिंग ऑयल सनफ्लावर ऑयल (Best Sunflower oil for Heart Health) होता है। क्योंकि इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड और ओमेगा-6 फैटी एसिड की मौजूदगी होगी है। साथ ही अपने तेल को बीच-बीच में बदलते रहें। हमेशा एक जैसे तेल का सेवन न करें। ताकि आपके शरीर को सभी तरह का तत्व मिल सकें। इसके अलावा आप अपने डेली रुटीन में तेल को बदल सकते हैं। जैसे अगर आप मॉर्निक में अलसी का तेल ले रहे हैं, तो इवनिंग में सनफ्लावर ऑयल ले सकते हैं। 

इसके अलावा हाई स्मोकिंग तेल का इस्तेमाल न करें। तेल को ज्यादा जलाकर खाना न पकाएं।  ताकि तेल के पोषक तत्व खाने में  मौजूद रहें। ऐसा करने से आपका हार्ट स्वस्थ रहेगा। इसके अलावा इस्तेमाल किए गए तेल का बार-बार इस्तेमाल न करें। अगर आप ऐसा करते हैं, तो इससे आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है। इससे हार्ट से जुड़ी बीमारियों के साथ-साथ कई अन्य परेशानी हो सकती है।

 

 

Disclaimer