Expert

डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है दालचीनी का पानी, ब्लड शुगर कंट्रोल करने में है मददगार

Cinnamon Water For Diabetes: ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए दालचीनी का पानी बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है, जानें घर पर कैसे बनाएं।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 11, 2022Updated at: Apr 11, 2022
डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है दालचीनी का पानी, ब्लड शुगर कंट्रोल करने में है मददगार

दालचीनी का सेवन तो हम सभी करते हैं। यह अद्भुत मसाला हम से ज्यादातर लोगों की रसोई का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। अक्सर जब हम इसका सेवन करते हैं तो दालचीनी के फायदों (Cinnamon Benefits In Hindi) के बारे में शायद ही कभी सोचते हैं। क्योंकि ज्यादातर लोग यह नहीं जानते हैं कि हमारी रसोई में मौजूद यह अद्भुत मसाला सिर्फ हमारे भोजन को स्वाद ही प्रदान नहीं करता है, बल्कि यह हमारे स्वास्थ्य के लिए भी चमत्कार कर सकता है। वजन कम करने से लेकर मानसिक स्वास्थ्य तक दालचीनी के अनेक फायदे हैं। लेकिन क्या जानते हैं सिर्फ दालचीनी ही नहीं, दालचीनी का पानी भी आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है, खासकर डायबिटीज के रोगियों के लिए। इस लेख में हम फिटनेस एक्सपर्ट और डायटीशियन गरिमा गोयल (एमएस, आरडी, सीडीई) से जानेंगे डायबिटीज के रोगियों के लिए दालचीनी के पानी के फायदे (Cinnamon Water For Diabetes In Hindi) और ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए दालचीनी का पानी (Cinnamon Water For Control Blood Sugar In Hindi) कैसे फायदेमंद है।

डायबिटीज रोगियों के लिए दालचीनी का पानी कैसे फायदेमंद है? (Cinnamon Water For Diabetes In Hindi)

दालचीनी को इसके औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। प्राचीन काल से ही कई बीमारियों के उपचार के लिए दालचीनी को एक दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। तो ऐसे में जब पानी में दालचीनी (Cinnamon Water In Hindi) का एक टुकड़ा या छड़ी को डाला जाता है, तो दालचीनी के गुण पानी में स्थानांतरित हो जाते हैं। पानी और दालचीनी का यह संयोजन यह एक बेहतरीन डिटॉक्स ड्रिंक (Best Detox Drink in Hindi) के रूप में काम करता है। यह आपके शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने के साथ ही शरीर से अतिरिक्त ग्लूकोज को बाहर निकालने में मदद करता है। इसके अलावा यह वजन कम करने के साथ ही शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी को तेजी से जलाने (Cinnamon Water For Weight And Fat Loss In Hindi) में मदद करती है। सिर्फ इतनी ही नहीं इससे हृदय रोग और अल्जाइमर जैसे रोगों का जोखिम भी कम होता है। अध्ययनों में इन सभी कारकों का डायबिटीज के जोखिम (Diabetes Risk Factor In Hindi) के साथ संबंध दिखाया गया है।

 

दालचीनी कैसे करती है ब्लड शुगर कंट्रोल (Cinnamon Water For Control Blood Sugar In Hindi)

1. दालचीनी में मौजूद होते हैं औषधीय गुण

दालचीनी ब्लड शुगर को कंट्रोल (Cinnamon Water For Control Blood Sugar In Hindi) करने के लिए बेहद कारगर औषधि है। दालचीनी में एंटीबायोटिक, एंटी-इन्फ्लेमेटरी के साथ ही एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जो ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। यहां तक कि एग्रीकल्चर रिसर्च मैगजीन में प्रकाशित एक शोध की मानें तो अगर आप रोजाना सिर्फ 1 ग्राम दालचीनी का सेवन करते हैं तो इससे इंसुलिन संवेदनशीलता में वृद्धि हो सकती है, इससे टाइप -2 डायबिटीज वाले रोगियों को ब्लड शुगर के प्रबंधन मदद मिल सकती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो लौंग के बाद दालचीनी में 26 जड़ी-बूटियों और मसालों की की तुलना में एंटीऑक्सीडेंट अधिक होते हैं। एंटीऑक्सीडेंट ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं, अध्ययनों में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कई टाइप 2 डायबिटीज (Oxidative Stress And Diabetes In Hindi) के साथ ही कई गंभीर बीमारियों के जोखिम को बढ़ाने के लिए दिखाया गया है।

इसे भी पढें: कच्चा प्याज खाने के बाद मुंह की बदबू दूर करने के लिए अपनाएं ये 8 घरेलू उपाय

2. इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाने में मदद कर सकती है

जिन लोगों को डायबिटीज होता है उनका अग्न्याशय इंसुलिन का उत्पादन पर्याप्त मात्रा में नहीं करता है। इस स्थिति में उनका ब्लड शुगर बढ़ जाता है। ऐसे में दालचीनी का सेवन करने से ब्लड शुगर (Cinnamon For Blood Suagar Control In Hindi) को कम करने में मदद मिल सकती है। साथ ही दालचीनी इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाने में मदद करती है। इस तरह इंसुलिन का ग्लूकोज को कोशिकाओं में ले जाने का काम आसान हो जाता है। अध्ययन में यह भी पाया गया है कि दालचीनी के सेवन से इंसुलिन संवेदनशीलता में तेजी से वृद्धि होती है और इसका असर करीब 12 घंटों तक रह सकता है।

3. भोजन के बाद ब्लड शुगर में स्पाइक को कम करती है

भोजन के बाद ब्लड शुगर में तेजी से वृद्धि होती है। भोजन के बाद दालचीनी का सेवन करने से ब्लड शुगर में वृद्धि को कंट्रोल में मदद मिल सकती है। एक अध्ययन में दिखाया गया है खाना खाने के बाद जब दालचीनी का सेवन किया जाता है तो इससे आपका पेट धीरे-धीरे खाली होता है, इससे ब्लड शुगर में स्पाइक नहीं होती है। इसके साथ ही दालचीनी छोटी आंत में कार्ब्स को तोड़ने वाले पाचन एंजाइमों को ब्लॉक कर देती है, इसे खाने के बाद ब्लड शुगर को कम करने में मदद मिलती है।

4. डायबिटीज से जुड़ी अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को कम करती है

डायबिटीज में दालचीनी का सेवन करने से डायबिटीज से जुड़ी बीमारियों के जोखिम को कम करने में भी मदद मिलती है जैसे हृदय रोग और अल्जाइमर रोग। डायबिटीज से पीड़ित लोगों को हृदय रोग का जोखिम (Heart Related Disease Risk) अधिक होता है, लेकिन दालचीनी हृदय रोग के जोखिम (Cinnomon Benfits For Heart In Hindi) कारकों में सुधार करती है और आपके दिल को स्वस्थ (Cinnamon For Heart Health) रखने में मदद करती है। कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि दालचीनी अल्जाइमर रोग के विकास के जोखिम को कम करने में मदद करता है।

दालचीनी का पानी कैसे बनाएं (Cinnamon Water Recipe in Hindi)

दालचीनी का पानी (Cinnamon Water) बनाने के लिए आपको सिर्फ एक कंटेनर में एक लीटर पानी और उसमें 1 इंच तक दालचीनी का टुकड़ा डालना है। अब इसे रात भर के लिए छोड़ दें, आप इसमें कुछ नींबू के टुकड़े भी डाल सकते हैं। फिर अगले दिन जब भी आपको प्यास लगे इस पानी का सेवन करें। इसके अलावा आप दालचीनी को पानी में उबालकर भी इसके पानी का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए बस आपको 2 कप पानी लेना है और उबालना है। उसके बाद आपको इस पानी में दालचीनी का पाउडर डालना है और इसे अच्छी तरह मिक्स करना है। आप इसे अपने रूटीन के अनुसार पी सकते हैं।

इसे भी पढें: जायफल और मिश्री साथ में खाने से दूर होती हैं शरीर की ये 6 समस्याएं, जानें खाने का सही तरीका

नोट- अगर आप डायबिटीज पीड़ित हैं और दालचीनी को अपनी डाइट में शामिल करने की योजना बना रहे हैं, तो ऐसे में बेहतर है कि आप पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करें। क्योंकि वह आपकी कंडीशन के अनुसार यह बेहतर तरीके से बता सकते हैं कि आपको दालचीनी का सेवन कितनी मात्रा में करना चाहिए।

(With Inputs: Dietitian And Diabetes Educator Garima Goyal, MS, RD, CDE- Dt. Garima Diet Clinic Ludhiana, Punjab)

Disclaimer