Expert

थायराइड रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होती है दालचीनी, जानें कैसे करें सेवन

Cinnamon For Thyroid In Hindi: थायराइड में दालचीनी का सेवन करने से थायराइड के लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है। जानें कैसे करें सेवन।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: May 07, 2022Updated at: May 07, 2022
थायराइड रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होती है दालचीनी, जानें कैसे करें सेवन

हम में से ज्यादातर लोग दालचीनी का सेवन करते हैं। दालचीनी एक अद्भुत मसाला है जो सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। दालचीनी को इसके औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है, जो कई गंभीर रोगों के जोखिम को कम करने में मदद करती है। यहां तक कि आयुर्वेद की मानें तो पारंपरिक चिकित्सा में कई रोगों के इलाज के लिए दालचीनी को प्रयोग किया जाता है। वजन कम करने, ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने, साथ ही दिल को स्वस्थ रखने के लिए दालचीनी का सेवन बहुत फायदेमंद है।

लेकिन क्या आप जानते हैं थायराइड के रोगियों के लिए भी दालचीना बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है? जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा! थायराइड के लिए दालीचीनी के फायदे के बारे में अधिक जानने के लिए हमने क्लीनिकल न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन गरिमा गोयल (एमएस. आरडी, सीडीई) से बात की। इस लेख में हम आपको इसके बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

थायराइड रोगियों के लिए कैसे फायदेमंद है दालचीनी (Cinnamon Benefits For Thyroid Patient In Hindi)

डायटीशियन गरिमा की माने तो थायराइड या हाइपरथायरायडिज्म ऑटोइम्यून रोगों और सूजन संबंधी स्थितियों के कारण होता है। साथ ही हार्मोन्स में उतार-चढ़ाव भी इसका एक बड़ा कारण है। "अध्ययन में पाया गया है कि दालचीनी का अर्क ट्राइटेट्रापोलिन एमआरएनए (tritetrapolin mRNA) को प्रेरित करके एंटी-इन्फ्लेमेट्री लाभ प्रदान करता है, जिससे सूजन को कम करने में मदद मिलती है। इसके अलावा दालचीनी थायराइड रोगियों के लिए दालचीनी कई तरह से फायदेमंद हो सकती है जैसे:

इसे भी पढें: आम के फूल भी सेहत के लिए होते हैं बहुत फायदेमंद, जानें इसके 5 फायदे और उपयोग का तरीका

हार्मोन्स को संतुलित करने में मददगार है

थायराइड रोगियों के लिए हार्मोन्स का संतुलन बनाए रखना बहुत जरूरी है। दालचीनी में सिनामाल्डिहाइड नामक कैमिकल मौजूद होता है, शरीर में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन को बढ़ाने में मदद करता है। साथ ही यह महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन के उत्पादन को कम करने में मदद करती है। जिससे शरीर में हार्मोन्स के संतुलन को बनाए रखने में मदद मिलती है। को संतुलित करने में मदद मिलती है।

ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखती है

ब्लड शुगर में स्पाइक हाइपरथायरायडिज्म के जोखिम कारकों में से एक है। ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखने से थायरायड के लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है, खासकर ग्रेव्स रोग में। इस स्थिति में ब्लड शुगर लेवल तेजी से बढ़ता है, जिससे हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ता है। दालचीनी के सेवन से ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद मिलती है और थायराइड के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है।

शरीर में स्वस्थ वजन को बनाए रखने में मदद करती है

शरीर का वजन बढ़ना या मोटापा थायराइड के लक्षणों को बढ़ाने में योगदान दे सकता है। दालचीनी वजन को नियंत्रित रखने में मदद करती है। यह मेटाबॉलिज्म को तेज करने में मदद करती है,आपकी भूख को नियंत्रित करती है। साथ ही वजन घटाने में मददगार है।

दालचीनी का सेवन कैसे करें

डायटीशियन गरिमा के अनुसार दालचीनी का सेवन कई तरह से किया जा सकता है। आप सब्जी में मसाले के तौर पर दालचीनी डाल सकते हैं। दाल चीनी के पाउडर को दूध या गुनगुने पानी में डालकर इसका सेवन कर सकते हैं। साथ ही आप दालचीनी को अपनी चाय और काढ़े में डालकर सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढें: लो ब्लड प्रेशर से परेशान हैं तो पिएं ये 5 हेल्दी ड्रिंक्स, कंट्रोल रहेगा ब्लड प्रेशर

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं

डायटीशियन गरिमा के अनुसार आप दिन में 1-4 ग्राम दालचीनी का सेवन कर सकते हैं। अगर आप थायराइड से परेशान हैं तो दालचीनी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है, लेकिन बेहतर है कि इसका सेवन शुरू करने से पहले आप अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर करें। जिससे कि आपको किसी तरह का कोई नुकसान न हो।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer