क्रॉनिक किडनी डिजीज डायबिटीज के रोगियों के लिए है खतरनाक, जानें किस तरह करें अपना बचाव

अगर आप भी डायबिटीज का शिकार है तो आपके लिए खतरा हो सकता है क्रॉनिक किडनी डिजीज, जानें इसके कारण और बचाव के तरीके। 

 

Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: Mar 12, 2020Updated at: Mar 12, 2020
क्रॉनिक किडनी डिजीज डायबिटीज के रोगियों के लिए है खतरनाक, जानें किस तरह करें अपना बचाव

आजकल सही तरीके से खानपान न होने के कारण डायबिटीज और किडनी से जुड़ी कई समस्याएं पैदा हो रही है। डायबिटीज (Diabetic) के मरीजों को अपने सेहत के साथ ही कई चीजों का ध्यान रखना काफी जरूरी हो जाता है, क्योंकि इससे किडनी संबंधित कई बीमारियां हो सकती है। ऐसी ही एक समस्या है क्रॉनिक किडनी डिजीज (Chronic kidney disease) जो किडनी को पूरी तरह से खराब करने का काम करती है। जिसकी वजह से कई मामलों में ये किडनी को पूरी तरह से फेल कर देती है। जिसके बाद मरीज के पास एक ही विकल्प बचता है जो किडनी ट्रांसप्लांट का होता है। 

किडनी का रोग इसलिए डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए ज्यादा खतरनाक हो जाता है। डायबिटीज से पीड़ित लोगों को क्रॉनिक किडनी डिजीज से बचने के लिए अपने खानपान और जीवनशैली पर नजर रखना बहुत जरूरी होता है। 

kidney disease

साल 2015 में इंडियन जर्नल ऑफ नेफ्रोलॉजी में प्रकाशित हुए एक अध्ययन में बताया गया है कि भारत में किडनी की बीमारी के करीब 40 से 60 मामलों में डायबिटीज (Diabetic) से पीड़ित लोग शामिल हैं। जीवनशैली किडनी रोग को बढ़ाने के पीछे एक मुख्य कारण बनती है। जिसकी वजह से डायबिटीज के रोगियों को क्रॉनिक किडनी डिजीज (Chronic kidney disease) का खतरा ज्यादा रहता है। 

जैसा कि हमने आपको बताया क्रॉनिक किडनी डिजीज आपकी किडनी को पूरी तरह से खराब करने या उसे फेल करने का काम करता है। जिसके बाद पीड़ित को या तो किडनी ट्रांसप्लांट करानी पड़ती है या फिर अगर मामला ज्यादा नहीं बढ़ा होता तो उसे डायलिसिस पर रखा जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि ये डिजीज आपके ह्दय रोग को भी बढ़ाने का काम करता है जिससे बचना बहुत जरूरी हो जाता है। 

kidney disease

क्रॉनिक किडनी डिजीज के कारण क्या है? 

क्रॉनिक किडनी डिजीज (Chronic kidney disease) बढ़ने का सबसे ज्यादा खतरा डायबिटीज (Diabetic) में ही होता है। शोध के अनुसार, साल 2030 तक भारत में दुनिया के सबसे ज्यादा डायबिटीज के मरीज पाए जाएंगे। इसके साथ ही क्रॉनिक किडनी डिजीज के और भी कई कारण हो सकते हैं जैसे किडनी स्टोन. यूरिनरी इंफेक्शन। 

इसे भी पढ़ें: हाथ-पैरों में सूजन, उल्‍टी और ज्‍यादा ठंड लगना हैंं किडनी फेल्‍योर का इशारा, जानें इसके 8 शुरूआती संकेत

क्रॉनिक किडनी डिजीज(CKD) एक ऐसी बीमारी भी है जो आपके परिवार के इतिहास पर भी निर्भर करती है। परिवार के इतिहास में अगर किसी को किडनी डिजीज की समस्या होती है तो ऐसे में ये खतरा आपके लिए और भी ज्यादा बढ़ जाता है। साल 2018 में क्लीनिकल जर्नल ऑफ अमेरिकन सोसाइटी ऑफ नेफ्रोलॉजी के अध्ययन के मुताबिक, जेनेटिक इनब्रिडिंग के कारण भी किडनी से संबंधित रोग हो सकते हैं। इसके साथ ही अध्ययन में बताया गया कि गरीबी, प्रदूषण, जल प्रदूषण, भीड़भाड़ और नेफ्रोटॉक्सिन भी किडनी की बीमारियों का एक कारण बन सकती है। 

क्रॉनिक किडनी डिजीज के लक्षण 

नेशनल हेल्थ सर्विस यूके के मुताबिक, क्रॉनिक किडनी डिजीज(CKD) के लक्षण बहुत समय के बाद सामने आते हैं। जब बीमारी काफी फैल चुकी होती है। इसके साथ ही इसमें वजन कम होने लगता है, भूख कम लगना, सांस लेने में परेशानी होना, पेशाब में खून निकलना, इंसोमेनिया, त्वचा में समस्या पैदा होना, लगातार सिर दर्द रहना जैसी चीजें इसके लक्षण के रूप में दिखाई देते हैं। 

इसे भी पढ़ें: किडनी स्टोन के खतरे से रहना चाहते हैं दूर? तो आज से ही अपनी इन आदतों में करें बदलाव

बचाव के तरीके 

    • अगर आपको डायबिटीज (Diabetic) की शिकायत है तो आप समय-समय पर अपना ब्लड शुगर लेवल की जांच करवाएं। इसके साथ ही आपको रोजाना अपनी डाइट पर खास ध्यान देने की जरूरत है और एक्सरसाइज करें। 
    • दर्द की दवाईयों का ज्यादा सेवन करने से बचे और बिना किसी बात के दवाई भी न लें। किसी भी दवाई को लेने से पहले आपको उसके बारे में डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। 
    • अगर आपको किडनी स्टोन है या फिर आपको पेशाब करने में काफी परेशानी हो रही है तो इसके लिए आपको बिना वक्त गवाएं डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत है। 

Read More Article On Other Disease In Hindi

Disclaimer