योग एक्सपर्ट से जानें चंद्रभेदी प्राणायाम करने के 4 फायदे, सावधानियां और सही तरीका

चंद्रभेदी प्राणायाम करने से सेहत को कई फायदे होते हैं। यहां जानें इसके फायदे और करने का सही तरीका। 

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Jul 07, 2021Updated at: Jul 07, 2021
योग एक्सपर्ट से जानें चंद्रभेदी प्राणायाम करने के 4 फायदे, सावधानियां और सही तरीका

स्वस्थ और उर्जावान शरीर पाने के लिए प्राणायाम करना काफी लाभदायक माना जाता है। दुनियाभर में कई तरह के प्राणायाम हैं, जिनके बारे में हमें शायद ही पता होगा। क्या आपने कभी चंद्रभेदी प्राणायाम के बारे में सुना है? अगर नहीं, तो इस लेख के माध्यम से हम आपको चंद्रभेदी प्राणायाम से होने वाले कुछ फायदे और सही तरीके के बारे में बताएंगे। दरअसल, चंद्रभेदी एक बहुत ही आसान और एक ऐसा असरदार प्राणायाम है, जिसके माध्यम से कुछ ही मिनटों में बॉडी को रिलैक्स और शांत किया जा सकता है। इसके अभ्यास से हमारे शरीर के अंदर नई ऊर्जा का संचार होता है जिसकी हमारे शरीर को रोजाना आवश्यकता होती है। यह आसन करने से आपकी पाचन संबंधी समस्याएं, मानसिक तनाव दूर होना और हाई ब्लड प्रेशर आदि की समस्याएं भी दूर होती हैं। चंद्रभेदी प्राणायाम गर्मियों के मौसम में करना अधिक फायदेमंद है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह शरीर को ठंडा करने का काम करता है। पेट की गर्मी से लेकर पैरों की जलन तक को शांत करने में ये प्राणायाम बहुत लाभदायक है। वहीं IBS प्रॉब्लम होने पर चंद्रभेदी प्राणायाम बहुत ज्यादा लाभकारी है। इसी विषय पर अधिक जानकारी लेने के लिए हमने दिल्ली की योग एक्सपर्ट प्रियांका सिंह (Priyanka Singh, Yoga Expert, Delhi) से बातचीत की। चलिए जानते हैं चंद्रभेदी प्राणायाम के कुछ फायदों के बारे में। 

stress

1. तनाव दूर करे (Reduces Stress)

तनाव आज के समय में जीवन का हिस्सा बनता जा रहा है। जो कई बीमारियों की जड़ माना जाता है। योग एक्सपर्ट प्रियांका सिंह के मुताबिक चंद्रभेदी प्राणायाम सीधे आपको दिमाग को हील करता है। इसे करने से आपका मन शांत और दिमाग तनाव मुक्त रहता है। यह प्राणायाम आपके दिमाग से बुरे विचारों को निकालकर आपको एकाग्र होने के लिए प्रेरित करता है। तनाव मुक्त रहने और सुकूनभरी नींद पाने के लिए इसका अभ्यास प्रतिदिन करें। 

इसे भी पढ़ें - अभ्यंतर कुंभक प्राणायाम का नियमित अभ्यास कर बनाएं फेफड़ों को मजबूत, जानें तरीका

2. शरीर को ठंडा रखने में मददगार (Cools Body)

चंद्रभेदी प्राणायाम खासकर गर्मियों के मौसम में करना आपको कई फायदे देता है, जिसमें से एक है पेट की गर्मी से राहत। इस आसन का अभ्यास करने से आपके पेट की गर्मी कम होती है और आपका शरीर भी अंदरूनी ठंडक का एहसास करता है। इसे करने से आपका शरीर पूरा दिन गर्मी से राहत पाता है। इसे करने से आपके पेट में जलन आदि की समस्या भी नहीं होती है। यह पेट को साफ रखने में भी काफी सहायक माना जाता है। साथ ही बॉडी से हीट भी कम करता है। 

metre

3. हाई ब्लड प्रेशर में फायदेमंद (Beneficial In High  Blood Pressure)

योग एक्सपर्ट प्रियांका सिंह ने बताया कि चंद्रभेदी प्राणायाम हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए बहुत लाभदायक है। उक्त रक्तचाप से पीड़ित लोगों को तो अपने योग एक्सपर्ट या चिकित्सक द्वारा बताए गए समय तक नियमित तौर पर इसका अभ्यास करना चाहिए। यह आपके बढ़े हुए रक्तचाप को नियंत्रित करता है। 5 से 10 मिनट का भी नियमित अभ्यास आपका ब्लड प्रेशर संतुलित रखने में मदद करता है। वहीं लो ब्लड प्रेशर वाले लोगों को इस अभ्यास को नहीं करना चाहिए। इससे उन्हें समस्या हो सकती है। 

4. हार्ट के लिए फायदेमंद (Beneficial for Heart)

योग एक्सपर्ट प्रियांका सिंह ने बताया कि प्राणायाम करने से आपका दिल हमेशा स्वस्थ रहता है। चंद्रभेदी प्राणायाम आपके हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के साथ ही आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी नियंत्रित करता है। इस प्राणायाम से आपके दिल की धड़कन सामान्य गति से धड़कती है। चंद्रभेदी का नियमित अभ्यास करने से ही आपको हार्ट डिजीज होने की आशंका कम हो जाती हैं। हाइपरटेंसिव पेशंट्स को तो डॉक्टर की सलाह के बाद खासतौर पर इसे करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें - 45 साल से बड़ी उम्र के लोगों के लिए 3 हल्के-फुल्के और आसान योगासन, जो रखेंगे बॉडी को फिट और एक्टिव

चंद्रभेदी प्राणायाम करते समय बरतें सावधानियां (Precautions while doing Chandra Bhedi Pranayama)

  • इस आसन को हमेशा खाली पेट करना चाहिए।
  • चंद्रभेदी प्राणायाम करने से पहले अपने आस-पास स्वच्छ वातावरण बनाएं। ऐसा करना अधिक फायदेमंद होता है।
  • अस्थमा के मरीज इस प्राणायाम का अभ्यास न करें। 
  • लो ब्लड प्रेशर वाले मरीज इस आसन को न करें।
  • सर्दियों में और कफ प्रकृति वाले व्यक्ति भी इस आसन को करना अवॉयड करें। 
yoga

चंद्रभेदी प्राणायाम करने का तरीका (Right way to do Chandra bhedi Pranayama)

  • इसे करने से पहले सुखासन या फिर पद्मासन की अवस्था में आना जरूरी है। 
  • इस दौरान अपनी रीढ़ की हड्डी और गर्दन व कमर को सीधा रखें। 
  • अब अंगूठे से अपनी नाक को दाईं ओर दबाकर एक लंबी सांस भरें। कुछ सेकेंड तक इसे रोककर रखें और नाक के दाएं छेद से सांस छोड़ें। 
  • कई बार इस मुद्रा अभ्यास करें। 
  • इस दौरान आपको ज्ञान मुद्रा में बैठकर अपना ध्यान केंद्रित करना है। 

चंद्रभेदी प्राणायाम करने के कई फायदे हैं। लेकिन इसे सावधानी से करना चाहिए। इसलिए अपने योग एक्सपर्ट से पूरी जानकारी लेने के बाद ही इस आसन को करें। 

Read more Articles on Yoga in Hindi

Disclaimer